न्यूजीलैंड को 'टेस्ट क्रिकेट का पहला वर्ल्ड चैंपियन' बनाने के बाद क्या बोले विलियमसन

New Zealand First ICC World Test Champion: भारत को मात देकर न्यूजीलैंड को पहला आईसीसी वर्ल्ड टेस्ट चैंपियन बनाने के बाद क्या बोले कीवी कप्तान केन विलियमसन?

Written by - Navin Chauhan | Last Updated : Jun 24, 2021, 07:35 AM IST
  • टीम ने जीत की दहलीज पार करने के लिए बड़ी दिलेरी दिखाई: विलियमसन
  • अच्छी तरह वाकिफ हैं कि भारतीय टीम हर परिस्थिति में कितनी मजबूत है
न्यूजीलैंड को 'टेस्ट क्रिकेट का पहला वर्ल्ड चैंपियन' बनाने के बाद क्या बोले विलियमसन

नई दिल्लीः न्यूजीलैंड क्रिकेट टीम ने बुधवार को भारत को 8 विकेट से मात देकर 144 साल के टेस्ट क्रिकेट इंतिहास में पहला वर्ल्ड चैंपियन होने का गौरव हासिल कर लिया. इस जीत के साथ ही कीवी टीम का वनडे क्रिकेट में लगातार दो वर्ल्ड कप फाइनल में खिताबी नहीं हासिल कर पाने का दुख भी कुछ देर के लिए खत्म हो गया.

कीवी टीम 21 साल बाद आईसीसी का कोई खिताब जीतने में सफल हुई है. संयोगवश साल 2000 में नौरोबी में सौरव गांगुली की कप्तानी वाली भारतीय टीम को मात देकर ही जीता था. ऐसे में पहली बार टेस्ट क्रिकेट में वर्ल्ड चैंपियन बनना केन विलियमसम की कप्तानी वाली टीम के लिए बड़ी उपलब्धि है.

क्रिकेट जगत के नए कैप्टन कूल कहे जाने वाले केन विलियमसन ने अपनी शानदार बल्लेबाजी के दम पर अपनी टीम को जीत दिला दी. पहली पारी में उन्होंने पांच घंटे तक बल्लेबाजी करके 49 रन बनाए थे और टीम को मुश्किल से उबारा था. वहीं दूसरी पारी में उन्होंने नाबाद 52* रन की पारी खेलकर अपनी टीम को जीत दिला दी.

भारत को मात देना था चुनौतीपूर्ण

जीत के बाद विलियमसमन ने खुशी जताते हुए कहा, 'आईसीसी फाइनल में कई करीबी हार के बाद इस बार जीत हासिल करके बहुत स्पेशल फीलिंग हो रही है. शुक्र है कि हम अपने खाते में एक खिताब दर्ज करने में सफल हुए.' विलियमसन ने भारतीय टीम का शुक्रिया अदा करते हुए कहा, मैं विराट कोहली और उनकी टीम का शुक्रिया अदा करना चाहता हूं. आपकी टीम बेहद शानदार है, हमें मालूम था कि खिताब जीतना कितना चुनौती पूर्ण होगा.'

अलग है विश्व चैंपियन बनने की खुशी
विलियमसन ने अपनी टीम की तारीफ करते हुए कहा, टीम ने जीत की दहलीज पार करने के लिए बड़ी दिलेरी दिखाई है, ये शानदार मैच था. मैं पिछले कुछ सालों से कीवी टीम का हिस्सा हूं लेकिन विश्व चैंपियन बनने की खुशी अलग है. अपने क्रिकेट इतिहास में हम पहली बार विश्व चैंपियन बने हैं.'

22 खिलाड़ियों ने दिया है इस जीत में अपना योगदान
उन्होंने आगे कहा, हमारे पास 22 खिलाड़ियों का एक दल पिछले दो साल से है. सभी ने इस जीत में अपनी-अपनी भूमिका निभाई है. जिन खिलाड़ियों ने ये मैच खेला है उनके साथ-साथ सपोर्ट स्टाफ के लिए भी यह यादगार उपलब्धि बन गया है. हम ये अच्छी तरह जानते हैं कि हमारे पास हमेशा स्टार खिलाड़ी नहीं होंगे. हम मैच में बने रहने और प्रतिस्पर्धी होने के लिए कई छोटे-छोटे और अलग प्रदर्शन पर निर्भर होते हैं.

टीम ने दिखाई दिलेरी और समर्पण
कीवी कप्ताने आगे कहा, हमें  इस मैच में अपनी तरीके की क्रिकेट के साथ-साथ दिलेरी और समर्पण देखने को मिला. हम इस बात से अच्छी तरह वाकिफ हैं कि भारतीय टीम हर परिस्थिति में कितनी मजबूत है. ऐसे भी फाइनल मैच में कभी भी आसानी नहीं होती है. ऐसे में एक टेस्ट मैच में हमने छह दिन तक इस बात का ध्यान रखा. मैच में किसी भी टीम का दबदबा नहीं दिखाई दिया. मैच का नतीजा आखिरी दिन आया जो कि दर्शकों और प्रशंसकों के लिहाज से अच्छी बात है.  

यह भी पढ़िएः WTC Final: फाइनल में हार के बाद कैप्टन कोहली ने बताया, कब और कैसे हाथ से फिसला खिताब

मुश्किल था पहली पारी में बल्लेबाजी करना
पहली पारी में अपनी पांच से ज्यादा घंटे में खेली 49 रन की पारी के बारे में विलियमसन ने कहा, पहली पारी में बल्लेबाजी करना मुश्किल था. भारत का मजबूत गेंदबाजी आक्रमण आपको शॉट खेलने के ज्यादा मौके नहीं देता है. निचले क्रम के बल्लेबाजों ने दिलेरी दिखाई और छोटी लेकिन अहम बढ़त हासिल करने में हमारे लिए मददगार साबित हुए. पिच बेहद अच्छी थी. चार दिन के खेल में रिजल्ट निकलने की पूरी संभावना होती है.

टेलर के साथ बल्लेबाजी करना है शानदार अनुभव
रॉस टेलर के साथ तीसरे विकेट के लिए हुई मैच जिताऊ साझेदारी के बारे में केन ने कहा, रॉस टेलर बेहद अनुभवी हैं और ऐसी स्थिति में बेहद शांत रहते हैं. उनके साथ साझेदारी करना और अंत तक मैदान में बने रहना बेहद अच्छा होता है. जीत का बाद जो महसूस हो रहा है मुझे ऐसा पहले कभी नहीं हुआ.

बहादुर खिलाड़ी हैं वॉटलिंग
आईसीसी वर्ल्ड टेस्ट चैंपियनशिप फाइनल के साथ अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट को अलविदा करने वाले कीवी विकेटकीपर बल्लेबाज बीजे वॉटलिंग के बारे में उन्होंने मजाक में कहा, मुझे नहीं मालूम है कि क्या अब वो संन्यास ले रहे हैं या नहीं. वो टीम के एक स्पेशल सदस्य और लीडर थे. वो एक तरह से हमारी टीम का सार थे. टीम के लिए खेलते हुए उन्होंने कई बार शानदार प्रदर्शन किया. वो एक बहादुर खिलाड़ी हैं. ये क्रिकेट का जश्न मनाने और उनके करियर का सेलिब्रेट करने का मौका है.

Zee Hindustan News App: देश-दुनिया, बॉलीवुड, बिज़नेस, ज्योतिष, धर्म-कर्म, खेल और गैजेट्स की दुनिया की सभी खबरें अपने मोबाइल पर पढ़ने के लिए डाउनलोड करें ज़ी हिंदुस्तान न्यूज़ ऐप.  

ज़्यादा कहानियां

ट्रेंडिंग न्यूज़