एमएस धोनी की इस सलाह ने युवा रुतुराज को दिला दी टीम इंडिया में जगह, जानिए दी थी क्या एडवाइस

धोनी ने श्रीलंका दौरे के लिए टीम इंडिया में हासिल करने वाले एक खिलाड़ी को जो सलाह दी थी उसने उनके बचपन का सपना पूरा कर दिया. 

Written by - Navin Chauhan | Last Updated : Jun 13, 2021, 04:46 AM IST
  • धोनी की सलाह पर चले रुतुराज गायकवाड़.
    जल्दी ही मिला उस सलाह पर अमल करने का फल.

ट्रेंडिंग तस्वीरें

एमएस धोनी की इस सलाह ने युवा रुतुराज  को दिला दी टीम इंडिया में जगह, जानिए दी थी क्या एडवाइस

नई दिल्ली: श्रीलंका दौरे के लिए भारतीय क्रिकेट टीम में आईपीएल में चेन्नई सुपर किंग्स की ओर से खेलने वाले बल्लेबाज रुतुराज गायकवाड़ को शामिल किया गया है. 24 वर्षीय रुतुराज ने जब से बल्ला उठाया है तब से आज तक उन्हें बेहतरीन मार्गदर्शक और प्रशिक्षक मिले हैं. 

बचपन में वेंसरकर क्रिकेट अकादमी में दाखिला लेने से अबतक रुतुराज गायकवाड़ के इर्दगिर्द अच्छे लोग रहे हैं जिन्होंने उन्हें सही समय पर सही सलाह देते रहे हैं. जिसका फायदा उन्हें मिला और जल्दी ही टीम इंडिया में एंट्री करने में सफल रहे हैं. 

भारत के मौजूदा दौर के अधिकांश युवा खिलाड़ियों के लिए राहुल द्रविड़ मेंटोर की भूमिका निभाते रहे हैं. वहीं कुछ खिलाड़ियों के करियर में एमएस धोनी की कप्तानी में खेलना रास आया. ये मौका जिन खिलाड़ियों को मिला उनमें से एक भाग्यशाली खिलाड़ी रुतुराज गायकवाड़ भी हैं. रुतुराज ऐसे खिलाड़ी हैं जिन्हें द्रविड़ और धोनी दोनों के साथ ड्रेसिंग रूम साझा करने का मौका मिल चुका है. 

रुतुराज को इस बात की आशा नहीं थी कि उन्हें 24 साल की उम्र में टीम इंडिया में शामिल होने का मौका मिलेगा. लेकिन अब उन्हें इस बात का यकीन है कि वो हाथ आए इस मौके का फायदा उठाने को पूरी तरह तैयार हैं. 

इंडिया ए के लिए दो साल पहले डेब्यू करने वाले गायकवाड़ को जल्दी ही भारतीय टीम में शामिल होने का मौका मिल गया है. महाराष्ट्र का ये खिलाड़ी उन 6 अनकैप्ड खिलाड़ियों में शामिल है जिन्हें श्रीलंका दौरे पर खेली जाने वाली सीमित ओवरों की सीरीज के लिए भारतीय टीम में शामिल किया गया है.

इतनी जल्दी मौका मिलने का नहीं था यकीन
गायकवाड़ ने टीम इंडिया में एंट्री होने के बारे में कहा, ईमानदारी से कहूं तो मुझे यकीन नहीं था कि टीम इंडिया में शामिल होने का मुझे इतनी जल्दी मौका मिलेगा. लेकिन अब मैं टीम में जगह हासिल करने के बाद बहुत खुश हूं और खुद पर गर्व हो रहा है. मैं जल्दी वहां जाने और टीम इंडिया की जर्सी पहनने की बेताब हूं. 

घरेलू क्रिकेट में महाराष्ट्र और आईपीएल में चेन्नई सुपर किंग्स की ओर से खेलते हुए रुतुराज गायकवाड़ ने ढेरों रन बनाए हैं. घरेलू क्रिकेट में शानदार प्रदर्शन का ईनाम उन्हें आईपीएल 2020 में एंट्री के रूप में मिला था. इससे पहले उन्होंने इंडिया ए के खिलाए खेलते हुए 112.83 की औसत से 677 रन बनाए थे. इंडिया ए के लिए रन बनाने का ये सिलसिला साल 2019 में शुरू हुआ था.

आईपीएल 2020 ने बदली किस्मत
घरेलू क्रिकेट में रुतुराज लगातार रन बना रहे थे लेकिन आईपीएल ने उनकी किस्मत बदल दी. उन्होंने इस बारे में कहा, आईपीएल आपको खेल के बेहद अलग रुख से परिचित कराता है कि किस तरह हाई प्रेशर गेम्स खेले जाते हैं. घरेलू क्रिकेट में आपको एक से दो खिलाड़ी ऐसे मिल जाते हैं जिनके खिलाफ आप रन बना सकते हैं लेकिन आईपीएल में गेंदबाजी का स्तर बहुत ऊंचा है. आपके पास हमेशा गेंदबाजी के पांच सर्वश्रेष्ठ विकल्प होते हैं यहां तक की छठा गेंदबाज भी अच्छा विकल्प होता है. ऐसे में उनका सामना करने के लिए आपके पास अच्छी तकनीक, प्लान और योजना होनी चाहिए. इसलिए वहां खेलना फायदेमंद होता है. 

झारखंड के खिलाफ किया था घरेलू क्रिकेट में डेब्यू
गायकवाड़ ने सीएसके के लिए खेलते हुए एमएस धोनी के साथ हुई चर्चा को याद करता हुए कहा, मैं माही भाई को चेन्नई सुपर किंग्स के लिए खेलने से पहले जानता था. साल 2016 में जब माही भाई झारखंड की टीम के साथ मेंटोर की भूमिका में थे जब झारखंड के खिलाफ रुतुराज ने डेब्यू किया था. लेकिन दुर्भाग्यवश रुतुराज की उंगली में इस मैच के दौरान फ्रैक्चर हो गया था. और तब माही ने युवा रुतुराज के प्लास्टर पर अपना ऑटोग्राफ भी दिया था. 

आईपीएल 2020 के आगाज से पहले रुतुराज कोरोना से पीड़ित हो गए थे. इसके बाद जब वो मैदान पर उतरे तो खराब शुरुआत के बाद उन्होंने लगातार तीन अर्धशतक भी जड़े. ऐसा करके उन्होंने दिखा दिया कि वो सीएसके के लिए खेलते हुए बड़े सुपर स्टार बन सकते हैं. आईपीएल 2021 में रुतुराज ने अपना शानदार प्रदर्शन का सिलसिला जारी रखा और टीम इंडिया के दरवाजे खोलने में सफल रहे. 

धोनी ने दी थी ये बड़ी सलाह
रुतुराज ने बताया कि आईपीएल 2020 में खराब शुरुआत के बाद एमएस धोनी की सलाह ने शानदार वापसी करने में उनकी मदद की. रुतुराज ने बताया, धोनी ने उनसे कहा कि तुम कोरोना के कारण पहले ही परेशान हो. बतौर कप्तान मुझे तुमसे ज्यादा अपेक्षा नहीं कर रहा हैं. इस समय हमने तुम्हें सीएसके के लिए खेलने का मौका इसलिए नहीं दिया है कि तुम ये बता सको कि कौन हो. ये एक अच्छी टीम है जो मौका तुम्हें मिला है उसका लुत्फ उठाओ क्योंकि तुम्हें ये कभी पता नहीं चलता है कि आगे क्या होगा. 

धोनी ने रुतुराज से आगे कहा, हाथ आए इस मौके का लुत्फ उठाओ. अगर तुम अपने ऊपर दबाव डाल रहे हो तो तुम खुद ऐसा करोगे. बतौर मैनेजमेंट हमारी तुमसे कोई अपेक्षा नहीं है. हम चाहते हैं कि तुम मैदान पर जाओ और खेल का लुत्फ उठाकर अनुभव हासिल करो. 

रुतुराज का मानना है कि धोनी की इस सलाह का मुझे फायदा हुआ. इसने मुझे ज्यादा सहज और शात महसूस करने में मदद की. उन्होंने ये भी कहा कि धोनी ने कई बार मुझे कहा कि टीम इंडिया की जर्सी पहनकर खेलने के सपने देखो. उन्होंने मुझसे कहा था कि तुम्हारे अंदर भारत के लिए खेलने की क्षमता और प्रतिभा है. तुम किसी एक सीजन या टूर्नामेंट के बारे में मत सोचो. तुम भारत के लिए खेलने के बारे में सोचो यही तुम्हारा लक्ष्य होना चाहिए और तुम्हें लगातार इस बारे में सोचते रहना चाहिए कि उस लक्ष्य तक कैसे पहुंचोगे वहां कैसे अपनी जगह बरकरार रखोगे. 

Zee Hindustan News App: देश-दुनिया, बॉलीवुड, बिज़नेस, ज्योतिष, धर्म-कर्म, खेल और गैजेट्स की दुनिया की सभी खबरें अपने मोबाइल पर पढ़ने के लिए डाउनलोड करें ज़ी हिंदुस्तान न्यूज़ ऐप.  

ज़्यादा कहानियां

ट्रेंडिंग न्यूज़