Tokyo Olympic: भारत की उम्मीदों को बड़ा झटका, मनु भाकर के बाद सानिया मिर्जा भी बाहर

टोक्यो ओलंपिक टेनिस के महिला डबल्स मुकाबले में भारत की सानिया मिर्जा और अंकिता रैना की जोड़ी का सफर पहले ही मैच के बाद खत्म हो गया. 

Written by - Zee Hindustan Web Team | Last Updated : Jul 25, 2021, 11:41 AM IST
  • मनु भाकर को मिली निराशजनक हार
  • हार के साथ ओलंपिक से विदाई लेंगी सानिया मिर्जा
Tokyo Olympic: भारत की उम्मीदों को बड़ा झटका, मनु भाकर के बाद सानिया मिर्जा भी बाहर

नई दिल्ली: भारत को ओलंपिक खेलों के तीसरे दिन मनु भाकर, पीवी सिंधु और सानिया मिर्जा से बहुत आशाएं थी लेकिन पीवी सिंधु को छोड़कर सभी ने निराश किया. मनु भाकर निशानेबाजी में फाइनल के लिये क्वालीफाई नहीं कर सकीं और ओलंपिक में उनका सफर यहीं पर खत्म हो गया. 

हार के साथ ओलंपिक से विदाई लेंगी सानिया मिर्जा 

टोक्यो ओलंपिक टेनिस के महिला डबल्स मुकाबले में भारत की सानिया मिर्जा और अंकिता रैना की जोड़ी का सफर पहले ही मैच के बाद खत्म हो गया. सानिया मिर्जा और अंकिता रैना को यूक्रेन की लियूडमायला किचेनकोक और नाडिया किचेनकोक की जोड़ी ने 6-0, 6-7, 8-10 से मात दी. 

सानिया मिर्जा ने बीजिंग ओलंपिक में सुनीता राव, लंदन ओलंपिक में रश्मि चक्रवर्ती और रियो ओलंपिक में प्रार्थना थोंबार के साथ मिलकर वीमेंस डबल्स टेनिस में हिस्सा लिया था, लेकिन हर बार वो ओलंपिक मेडल जीतने नाकाम रहीं. अपने करियर के चौथे ओलंपिक में भी सानिया ने देशवासियों को निराश किया. 

मनु भाकर को मिली निराशजनक हार

टोक्यो ओलंपिक -2020 में भारत की स्टार शूटर मनु भाकर ने निराश किया है. उन्हें महिला 10 मीटर एयर पिस्टल क्वालिफिकेशन मुकाबले में हार का सामना करना पड़ा.

मनु भाकर से इस बार बहुत उम्मीदें थीं कि वे टोक्यो में भारत को कम से कम एक पदक तो जरूर दिलवाएंगी लेकिन वे अपने पुराने प्रदर्शन को बरकरार नहीं कर सकीं. मनु भाकर 575/600 अंक के साथ 12वें स्थान पर रहीं. फाइनल में पहुंचने के लिए टॉप 8 में आना था.  

ये भी पढ़ें- Tokyo Olympic: पीवी सिंधु की धमाकेदार शुरुआत, पहले मुकाबले में दर्ज की एकतरफा जीत

तकनीकी गड़बड़ी ने तोड़ा पदक का सपना

मनु भाकर ने पहली बार ओलंपिक में हिस्सा लिया था. इस अहम मुकाबले में मनु की पिस्टल ने भी उनका साथ नहीं दिया. दूसरी सीरीज के बीच में मनु की पिस्टल के इलेक्ट्रॉनिक ट्रिगर में सर्किट की खराबी थी.19 वर्षीय को तब कोच और जूरी के एक सदस्य के साथ टेस्ट टेंट में जाना पड़ा, जहां इसे बदला गया.

ये पूरी प्रक्रिया मनु भाकर को महंगी पड़ी और उन्हें 575 अंकों के साथ ही संतुष्ट होना पड़ा.हालांकि, मनु ने 5वीं सीरीज में वापसी की थी.उन्होंने इस सीरीज में 98 रन बटोरे थे. .मनु के लिए यह एक कठिन दिन था क्योंकि उन्हें तकनीकी गड़बड़ी का सामना करना पड़ा और तीसरी सीरीज में वह 5 मिनट तक शूटिंग नहीं कर पाईं. 

Zee Hindustan News App: देश-दुनिया, बॉलीवुड, बिज़नेस, ज्योतिष, धर्म-कर्म, खेल और गैजेट्स की दुनिया की सभी खबरें अपने मोबाइल पर पढ़ने के लिए डाउनलोड करें ज़ी हिंदुस्तान न्यूज़ ऐप.

ज़्यादा कहानियां

ट्रेंडिंग न्यूज़