पहली जीत को तरसती हैदराबाद के सामने पंजाब की चुनौती, जानिए कौन मार सकता है बाजी?

प्रीति जिंटा की पंजाब और डेविड वॉर्नर की ऑरेंज आर्मी का 16 बार आमना-सामना हुआ है जिसमें पंजाब को 11 बार हार का मुंह देखना पड़ा और केवल 5 मैच में वो जीत हासिल कर सकी है.

Written by - Adarsh Dixit | Last Updated : Apr 21, 2021, 09:04 AM IST
  • बल्लेबाजों के खराब प्रदर्शन से जूझ रही सनराइजर्स
  • दो लगातार हार के बाद जीत की तलाश में उतरेगी पंजाब
पहली जीत को तरसती हैदराबाद के सामने पंजाब की चुनौती, जानिए कौन मार सकता है बाजी?

नई दिल्ली: दुनिया की सबसे बड़ी क्रिकेट लीग का रोमांच दिन ब दिन बढ़ता ही जा रहा है. सीजन की शुरुआत से ही सभी टीमों के बीच प्लेऑफ में पहुंचने की जंग तेज हो गई है. ऐसे में आज अंक तालिका में सबसे नीचे काबिज दो टीमों के बीच लड़ाई होने जा रही है. 

पॉइंट्स टेबल में 8वें पायदान पर काबिज सनराइजर्स हैदराबाद सीजन में पहली बार जीत का सूरज देखने को बेकरार है. वहीं 7वें नंबर पर काबिज पंजाब के किंग्स हैं जिसकी गाड़ी पहले मैच में जीत हासिल करने के बाद पटरी से उतर चुकी है.

डेविड वॉर्नर और के एल राहुल की कप्तानी वाली टीमों के बीच जब भी मुकाबला होता है तब गेंद और बल्ले के बीच जबरदस्त टक्कर देखने को मिलती है. धुरंधर बल्लेबाजों से सजी पंजाब के किंग्स की ताकत उसका मजबूत बैटिंग ऑर्डर है. वहीं हैदराबाद की मजबूती उसकी धारदार गेंदबाजी है.

आईपीएल का इतिहास बताता है कि हैदराबाद के आगे अक्सर पंजाब के हांथ-पांव फूल जाते हैं. प्रीति जिंटा की पंजाब और डेविड वॉर्नर की ऑरेंज आर्मी का 16 बार आमना-सामना हुआ है जिसमें पंजाब को 11 बार हार का मुंह देखना पड़ा और केवल 5 मैच में वो जीत हासिल कर सकी है.

यह भी पढ़िए: क्या कोरोना के कारण वर्ल्ड टेस्ट चैंपियनशिप का फाइनल नहीं खेल पायेगा भारत?

राशिद खान, भुवनेश्वर कुमार और टी नटराजन जैसे गेंदबाजों के दम पर हैदराबाद हारी बाजी को पलटने की ताकत रखती है. हैदराबाद और पंजाब दोनों के लिए पिछले 6 मैचों संतोषजनक रहे हैं क्योंकि इस दौरान दोनों ने एक दूसरे को तीन-तीन बार धूल चटाई है.

ऐसे तो वॉर्नर हैदराबाद की बल्लेबाजी का केंद्र हैं लेकिन उनका बल्ला पंजाब के खिलाफ जमकर बोलता है. पंजाब के खिलाफ वॉर्नर अबतक कुल 661 रन बना चुके हैं जो कि दोनों टीमों के किसी भी बल्लेबाज की तुलना में बहुत ज्यादा हैं.

मौजूदा सीजन में सनराइजर्स हैदराबाद की बल्लेबाजी ही उसकी सबसे बड़ी कमजोरी बन रही है. वॉर्नर और बेयरस्टो को छोड़कर और कोई बल्लेबाज टीम की नैय्या पार नहीं लगा पा रहा है. मनीष पांडे, विजय शंकर और अब्दुल समद का खराब फॉर्म टीम के लिए परेशानी का सबब बन रहा है. हालांकि हैदराबाद को इस बात का संतोष हो सकता है कि धाकड़ बल्लेबाज केन विलियमसन अब फिट हो चुके हैं और उनकी पंजाब के खिलाफ वापसी की पूरी संभावना है.

दूसरी तरफ जीत के साथ टूर्नामेंट की शुरुआत करने वाला पंजाब को लगातार दो मैच में हार का सामना करना पड़ा है. केएल राहुल और मयंक अग्रवाल के फॉर्म में होने के बावजूद टीम पिछले सीजन की तरह संघर्ष करती दिख रही है. कुंबले एंड कंपनी को भी इस समस्या का हल नहीं मिल पा रहा है.

हैदराबाद और पजांब के लिए ये मैच बहुत महत्वपूर्ण है क्योंकि आईपीएल उस दौर में पहुंच चुका है जहां एक-एक हार-जीत मायने रखने लगी है. एक बड़ी चूक लीग दौर में ही टीम का सफर खत्म होने का कारण बन सकती है.

यह भी पढ़िए: DC vs MI: करीबी मुकाबले में दिल्ली ने मुंबई को हराया, 6 विकेट से रौंदा

Zee Hindustan News App: देश-दुनिया, बॉलीवुड, बिज़नेस, ज्योतिष, धर्म-कर्म, खेल और गैजेट्स की दुनिया की सभी खबरें अपने मोबाइल पर पढ़ने के लिए डाउनलोड करें ज़ी हिंदुस्तान न्यूज़ ऐप.

 

ज़्यादा कहानियां

ट्रेंडिंग न्यूज़