फ्रेंचाइजी को चैंपियन बनाते ही खतरे में पड़ गया करियर, आज हैं गेंदबाजों के शहंशाह

चैंपियन्स लीग टी20 के दौरान 2014 में संदिग्ध गेंदबाजी एक्शन की शिकायत से इस गेंदबाज का पूरा करियर दांव पर लग गया था, जबकि आईपीएल 2020 में भी उन्हें इसी तरह की घटना का सामना करना पड़ा. 

Written by - Zee Hindustan Web Team | Last Updated : Dec 3, 2021, 07:53 AM IST
  • KKR को सुनील नारायण ने दो बार चैंपियन बनाया
  • वेस्टइंडीज को भी उन्होंने दो बार बादशाह बनाया

ट्रेंडिंग तस्वीरें

फ्रेंचाइजी को चैंपियन बनाते ही खतरे में पड़ गया करियर, आज हैं गेंदबाजों के शहंशाह

कोलकाता: दुनियाभर में कई ऐसे खिलाड़ी हैं जिन्होंने अपने करिश्माई प्रदर्शन से टीमों को तो चैंपियन बनाया लेकिन उनकी मेहनत की इज्जत खुद उनके देश ने नहीं की. आज दुनियाभर की अलग अलग लीग में जलवा बिखेर रहे तमाम खिलाड़ी इंटरनेशनल मैच के लिए तरस रहे हैं.

हम बात कर रहे हैं कोलकाता नाइटराइडर्स के जादुी स्पिनर सुनील नारायण की. सुनील नारायण ने न केवल कोलकाता को दो बार आईपीएल चैंपियन नबाया बल्कि वेस्टइंडीज को भी उन्होंने 2 बार टी20 का बादशाह बनाया. इसके बाद भी उन्हें वेस्टइंडीज टीम से बाहर कर दिया गया था.

सुनील नारायण की शानदार गेंदबाजी के दम पर वेस्टइंडीज ने 2012 और 2016 में टी20 विश्वकप में जीत हासिल की. कोलकाता ने 2012 और 2014 में आईपीएल ट्रॉफी पर कब्जा जमाया था. इसमें भी नारायण ने ऐतिहासिक योगदान दिया था. सुनील नारायण ने ओवरऑल 383 टी20 मैच खेले हैं और 425 विकेट झटके हैं जो अपने आप में अनूठा रिकॉर्ड है.  

सुनील नारायण ने KKR को बताया अपना घर
कोलकाता नाइट राइडर्स (KKR) की 2012 और 2014 में खिताबी जीत में अहम भूमिका निभाने वाले स्पिनर सुनील नारायण ने कहा है कि इंडियन प्रीमियर लीग की यह फ्रेंचाइजी उनके लिए दूसरे घर की तरह है और इसने हर हालात में उनका समर्थन किया है.

2014 में खतरे में पड़ गया था करियर
चैंपियन्स लीग टी20 के दौरान 2014 में संदिग्ध गेंदबाजी एक्शन की शिकायत से नारायण का पूरा करियर दांव पर लग गया था जबकि आईपीएल 2020 में भी उन्हें इसी तरह की घटना का सामना करना पड़ा. क्रिकेट में इस स्पिनर का सफर उतार-चढ़ाव से भरा रहा है. सुनील नारायण लंबे समय से वेस्टइंडीज की टीम से बाहर हैं.

कोलकाता ने किया सुनील को रिटेन
गुरुवार को जारी शॉर्ट फिल्म ‘द कमबैक किंग’ में नारायण ने कहा, ‘‘मैं केकेआर के अलावा किसी अन्य जगह जाना पसंद नहीं करूंगा क्योंकि मैंने अपना सारा क्रिकेट यहां खेला है.’’

केकेआर ने इस 33 वर्षीय क्रिकेट को छह करोड़ रुपये में रिटेन (अपने साथ बरकरार रखना) किया है. नारायण ने पिछले एक दशक में केकेआर की सफलता में अहम भूमिका निभाई है और फ्रेंचाइजी द्वारा तैयार इस शॉर्ट फिल्म में एक क्रिकेटर के रूप में सभी मुश्किलों से उबरते हुए इस स्पिनर के शानदार सफर को दिखाया गया है.

नारायण ने कहा कि यह (2020 में अवैध गेंदबाजी एक्शन की शिकायत होना) मुश्किल था. लेकिन क्रिकेट मेरे लिए कभी आसान नहीं रहा. मैं जो भी हासिल किया उसके लिए मुझे कड़ी मेहनत करनी पड़ी.

यह भी पढ़िएः मिताली राज ने इस वजह से नहीं की अबतक शादी, ये है क्रिकेटर का पहला प्यार

Zee Hindustan News App: देश-दुनिया, बॉलीवुड, बिज़नेस, ज्योतिष, धर्म-कर्म, खेल और गैजेट्स की दुनिया की सभी खबरें अपने मोबाइल पर पढ़ने के लिए डाउनलोड करें ज़ी हिंदुस्तान न्यूज़ ऐप.

ज़्यादा कहानियां

ट्रेंडिंग न्यूज़