Tokyo Olympics: मिश्रित युगल में निराशा के बाद पटरी पर लौटना चाहेंगे भारतीय तीरंदाज

टोक्यो ओलंपिक में तीरंदाजी के मिक्स्ड इवेंट्स में निराशाजनक प्रदर्शन के बाद भारतीय तीरंदाज धमाकेदार वापसी की फिराक में हैं. 

Written by - Zee Hindustan Web Team | Last Updated : Jul 26, 2021, 12:48 AM IST
  • मिक्स्ड डबल्स के क्वार्टर फाइनल में भारतीय जोड़ी को कोरियाई टीम से मिली थी हार.
  • भारतीय टीम में दीपिका कुमारी और प्रवीण जाधव ने किया था नेतृत्व.
Tokyo Olympics: मिश्रित युगल में निराशा के बाद पटरी पर लौटना चाहेंगे भारतीय तीरंदाज

टोक्यो: भारतीय तीरंदाज टोक्यो ओलंपिक के चौथे दिन एलिमिनेशन दौर के लिये जब मैदान पर उतरेंगे तो वे अपने ओलंपिक अभियान में निराशाजनक शुरूआत की भरपायी करना चाहेंगे. प्रवीण जाधव, अतनु दास और तरूणदीप रॉय की पुरुष टीम रैंकिंग दौर में शीर्ष 30 से बाहर रही थी जिससे उन्हें नौवीं वरीयता मिली. टीम कजाखस्तान के खिलाफ शुरूआत करेगी.

ओलंपिक पदार्पण में जाधव तीनों भारतीयों में सबसे आगे 31वें स्थान पर रहे थे. दास 34वें और राय 37वें स्थान पर रहे. जाधव और दीपिका कुमारी की जोड़ी मिश्रित युगल स्पर्धा के क्वार्टरफाइनल में बाहर हो गयी थी. भारतीय मुख्य कोच मिम बहादुर गुरूंग ने पीटीआई से कहा, 'वह (जाधव) शांत तीरंदाज हैं लेकिन अनुभव की कमी है. उम्मीद है मिश्रित टीम से उसे कुछ अंदाजा हो गया होगा.

अगर वे पहले दौर की बाधा पार कर लेते हैं तो पुरुष तिकड़ी शीर्ष वरीय कोरिया से भिड़ेगी जिन्हें बाई मिली है. व्यक्तिगत एलिमिनेशन दौर गुरूवार से शुरू होगा जिसमें शीर्ष तीरंदाज दीपिका कुमारी भरपायी करना चाहेंगी. दीपिका पहले दौर में भूटान की ध्वजवाहक कर्मा के सामने होंगी जो अपने देश से किसी भी खेल में ओलंपिक कोटा हासिल करने वाली पहली खिलाड़ी हैं. पहली बाधा पार करने के बाद उनके कोरिया की एन सान से भिड़ने की उम्मीद है जो रैंकिंग राउंड में 25 साल का रिकॉर्ड तोड़कर शीर्ष पर रही थीं.

Zee Hindustan News App: देश-दुनिया, बॉलीवुड, बिज़नेस, ज्योतिष, धर्म-कर्म, खेल और गैजेट्स की दुनिया की सभी खबरें अपने मोबाइल पर पढ़ने के लिए डाउनलोड करें ज़ी हिंदुस्तान न्यूज़ ऐप.

 

ज़्यादा कहानियां

ट्रेंडिंग न्यूज़