Tokyo Olympic: विनेश फोगाट ने आसान जीत के साथ क्वार्टर फाइनल में बनाई जगह, पदक की उम्मीद

भारत रियो में पहले ही पुरुष कुश्ती में एक रजत पक्का कर चुका है. रवि दहिया फाइनल में पहुंच चुके हैं.  

Written by - Zee Hindustan Web Team | Last Updated : Aug 5, 2021, 09:10 AM IST
  • जानिए कैसा रहा मुकाबला
  • भारत का 5वां पदक पक्का
Tokyo Olympic: विनेश फोगाट ने आसान जीत के साथ क्वार्टर फाइनल में बनाई जगह, पदक की उम्मीद

टोक्योः भारत की दिग्गज महिला पहलवान विनेश फोगाट आसान जीत के साथ गुरुवार को महिलाओं की फ्रीस्टाइल कुश्ती के 53 किग्रा भार वर्ग के क्वार्टर फाइनल में पहुंच गई हैं. माकुहारी मेसे हॉल एक के मैट-बी पर हुए राउंड ऑफ-8 मुकाबले में विनेश ने स्वीडन की सोफिया मैगडालेना मैटसन को 7-1 से हराया. विनेश को आज ही अपना क्वार्टर फाइनल मैच भी खेलना है.

रवि दहिया का मेडल पक्का
भारत रियो में पहले ही पुरुष कुश्ती में एक रजत पक्का कर चुका है. रवि दहिया फाइनल में पहुंच चुके हैं. महिला वर्ग में हालांकि अंशु गुरुवार को ही अपना रेपेचेज-1 मुकाबला हार गईं. इस तरह उनके हाथ से कांस्य जीतने का मौका निकल गया.

अंशु मलिक बाहर
 भारत की महिला पहलवान अंशु मलिक अब कांस्य पदक की दौड़ से बाहर हो गई हैं. 57 किलोग्राम वर्ग के रेपेचेज राउंड-1 में गुरुवार को अंशु को रूस की वेलेरिया कोब्लोवा से 1-5 से हार मिली. अंशु के पास अपने दोनों रेपेचेज मैच जीतकर कांस्य जीतने का मौका था. प्री-क्वार्टर फाइनल मुकाबले में अंशु, इरीना कुराचकिना से हार गई थीं. इरीना अब फाइनल में पहुंच गईं और इसीलिए अंशु को रेपेचेज खेलने का मौका मिला था.

ओलंपिक में कुश्ती प्रतियोगिता के नियमों के अनुसार, अंतिम फाइनलिस्ट के खिलाफ हारने वालों को कांस्य पदक के लिए हारने वाले सेमीफाइनलिस्ट के खिलाफ आपस में लड़ने का मौका मिलता है.

प्री-क्वार्टर फाइनल में बेलारूसी इरीना ने अंशु को हराया, जबकि क्वार्टर फाइनल में उन्होंने रूसी ओलंपिक समिति (आरओसी) की वेलेरिया कोब्लोवा को हराया. इसके बाद उन्होंने सेमीफाइनल में बुल्गारिया की एवेलिना निकोलोवा को हराया.

फाइनल में उनके प्रवेश से अंशु और वेलेरिया दोनों को कांस्य पदक के लिए सेमीफाइनलिस्ट एवेलिना को हराने का मौका मिला था.

Zee Hindustan News App: देश-दुनिया, बॉलीवुड, बिज़नेस, ज्योतिष, धर्म-कर्म, खेल और गैजेट्स की दुनिया की सभी खबरें अपने मोबाइल पर पढ़ने के लिए डाउनलोड करें ज़ी हिंदुस्तान न्यूज़ ऐप.  

ज़्यादा कहानियां

ट्रेंडिंग न्यूज़