कौन हैं पाकिस्तान के लिए 36 साल की उम्र में डेब्यू करने वाले ताबिश खान?

जिस उम्र में आम तौर पर तेज गेंदबाज संन्यास ले लेते हैं पाकिस्तानी टीम ने 36 साल के एक तेज गेंदबाज को टेस्ट डेब्यू का मौका दिया और उसने करियर के पहले ही ओवर में धमाल मचा दिया.  

Written by - Zee Hindustan Web Team | Last Updated : May 9, 2021, 06:41 AM IST
  • ताबिश खान ने टेस्ट डेब्यू से पहले 137 प्रथम श्रेणी मैच खेले
  • ताबिश ने पाकिस्तान के घरेलू क्रिकेट में 17 सीजन खेले हैं
कौन हैं पाकिस्तान के लिए 36 साल की उम्र में डेब्यू करने वाले ताबिश खान?

नई दिल्ली: पाकिस्तान और जिंबाब्वे के बीच शुक्रवार को शुरू हुए सीरीज के दूसरे और आखिरी टेस्ट मैच के लिए पाकिस्तान के कप्तान बाबर आजम ने फहीम अशरफ की जगह 36 साल के तेज गेंदबाज को एकादश में शामिल करने का ऐलान किया. ये खिलाड़ी थे तेज गेंदबाज ताबिश खान. वो पाकिस्तान के लिए टेस्ट क्रिकेट खेलने वाले 245वें खिलाड़ी बने. मैच से पहले कोच मिस्बाह उल हक ने उन्हें टेस्ट कैप पहनाई.

12 दिसंबर 1984 को कराची में जन्मे ताबिश ने घरेलू क्रिकेट में सिंध का प्रतिनिधित्व किया. उम्र के लिहाज से देखें तो उम्र के 36वें पड़ाव तक आते-आते तेज गेंदबाज क्रिकेट को अलविदा कह देते हैं. लेकिन ताबिश खान ने कभी हार नहीं मानी और देश के लिए खेलने का सपना पूरा कर दिखाया. साल 2003 में प्रथम श्रेणी डेब्यू करने वाले ताबिश खान को टेस्ट कैप हासिल करने के लिए तकरीबन 18 साल और 146 दिन इंतजार करना पड़ा.

घरेलू क्रिकेट में है शानदार रिकॉर्ड
ताबिश खान ने टेस्ट डेब्यू से पहले 137 प्रथम श्रेणी मैच खेले और उस दौरान 24.29 के शानदार औसत से  598 विकेट हासिल किए. इस दौरान उन्होंने 38 बार पारी में 5 या उससे अधिक विकेट चटकाए वहीं 7 बार मैच में 10 या उससे अधिक विकेट लिए. एक पारी में उनका सर्वश्रेष्ठ प्रदर्शन 32 रन देकर 8 विकेट रहा.  

ताबिश ने पाकिस्तान के घरेलू क्रिकेट में 17 सीजन खेले हैं. वो साल 2003-04 और 2006-07 में घरेलू क्रिकेट नहीं खेल सके थे.  जिस दौर में उनका खेल अपने चरम पर था तब चयनकर्ताओं ने उन्हें मौका नहीं दिया. लेकिन वो हार नहीं माने. आखिरकार उनकी मेहमत रंग लाई और करियर के आखिरी दौर में ही सही उन्हें टेस्ट क्रिकेटर बनने का मौका मिल गया. पिछले 2 सीजन में वो 40.92 की औसत से 25 और 30.96  की औसत से 30 विकेट ले सके.

यह भी पढ़िएः IPL में शानदार प्रदर्शन का मिला इनाम, ऐतिहासिक WTC फाइनल में टीम इंडिया के साथ रहेगा ये खिलाड़ी

पहले ओवर में ही रच दिया इतिहास
ताबिश खान को बाबर आजम ने पारी के दूसरे ओवर में गेंदबाजी का मौका दिया. पहली पांच गेंदों में तो ताबिश लाइन से भटकते नजर आए लेकिन कोई रन नहीं दिया लेकिन इसी ओवर की छठी गेंद पर उन्होंने जिंबाब्वे के सलामी बल्लेबाज तारीसाई मुसाकांदा (Tarisai Musakanda) को एलबीडब्लू कर पवेलियन वापस भेज दिया. यह पहला टेस्ट विकेट होने के साथ-साथ उनका 599वां फर्स्ट क्लास विकेट भी था.

इसी के साथ ही ताबिश खान के नाम एक रिकॉर्ड दर्ज हो गया. ताबिश पिछले 70 साल के टेस्ट इतिहास में करियर के पहले ओवर में विकेट हासिल करने वाले सबसे उम्रदराज टेस्ट क्रिकेटर बन गए. वो 66 साल में पाकिस्तान की ओर से टेस्ट डेब्यू करने वाले सबसे ज्यादा उम्र के खिलाड़ी भी हैं.

ताबिश का साल 2021 की शुरुआत में दक्षिण अफ्रीका के खिलाफ घरेलू टेस्ट सीरीज के लिए भी टीम में शामिल किया गया था लेकिन उन्हें घरेलू दर्शकों के सामने टेस्ट डेब्यू का मौका नहीं मिला. जिंबाब्वे के खिलाफ सीरीज के पहले टेस्ट में भी उन्हें बेंच पर बैठकर अपनी बारी का इंतजार करना पड़ा लेकिन दूसरे टेस्ट मैच में उनकी किस्मत ने साथ दिया और उन्हें देश के लिए खेलने का मौका मिल गया.

Zee Hindustan News App: देश-दुनिया, बॉलीवुड, बिज़नेस, ज्योतिष, धर्म-कर्म, खेल और गैजेट्स की दुनिया की सभी खबरें अपने मोबाइल पर पढ़ने के लिए डाउनलोड करें ज़ी हिंदुस्तान न्यूज़ ऐप.  

ज़्यादा कहानियां

ट्रेंडिंग न्यूज़