close

खास खबरें सिर्फ आपके लिए...हम खासतौर से आपके लिए कुछ चुनिंदा खबरें लाए हैं. इन्हें सीधे अपने मेलबाक्स में प्राप्त करें.

पाकिस्तान का 'दोहरा चरित्र' बेनकाब, हाफिज़ के लिए UN से अपील

यूएन के इस फैसले पर भारत में हैरानी जतायी जा रही है. जिसे खुद यूएन ने आतंकवदी घोषित किया हुआ है उसे इतनी रियायत कैसे दी जा सकती है.

पाकिस्तान का 'दोहरा चरित्र' बेनकाब, हाफिज़ के लिए UN से अपील

नई दिल्ली: आतंकवाद को लेकर पाकिस्तान का दोहरा चेहरा एक बार फिर बेनकाब हो गया है. एक तरफ पाकिस्तान के प्रधानमंत्री इमरान खान कश्मीर-कश्मीर चिल्ला रहे हैं और दुनिया को दिखा रहे हैं कि पाकिस्तान शांति चाहता है. वहीं दूसरी तरफ इमरान खान आतंकी हाफिज सईद के हमदर्द बन रहे हैं उसकी मदद कर रहे हैं. इमरान खान ने संयुक्त राष्ट्र से खूंखार आतंकी हाफिज सईद के खर्चे पानी के लिए बैंक से डेढ़ लाख रुपए निकालने की इजाजत मांगी है.

पाकिस्तान की सरकार ने संयुक्त राष्ट्र से गुज़ारिश की है कि परिवार के खर्च के लिए हाफिज को डेढ़ लाख रुपये बैंक से निकालने की इजाजत दी जाए. हैरानी की बात ये है कि संयुक्त राष्ट्र ने भी पाकिस्तान की गुजारिश पर हाफिज को अकाउंट से पैसे निकालने की आंशिक मंजूरी दे दी है. संयुक्त राष्ट्र के इस कदम के खिलाफ भारत में कड़ी प्रतिक्रिया आई है.

2008 में UN  ने ही लगाया था बैन

हाफिज आतंकवादी संगठन 'जमात-उद-दावा' का प्रमुख है. ये संगठन पूरी दुनिया में अपनी आतंकी गतिविधियों के लिए बदनाम है. हाफिज सईद लगातार कई मौकों पर भारत के खिलाफ जहर उगलता रहा है. दिसंबर 2008 में संयुक्त राष्ट्र सुरक्षा परिषद ने इस पर बैन लगा दिया था. 2009 में इंटरपोल ने इसके खिलाफ रेड कार्नर नोटिस भी जारी किया था. संयुक्त राष्ट्र ने आतंकी हाफिज के खाते सीज़ कर दिए थे. लेकिन इमरान खान की बात पर संयुक्त राष्ट्र ने कैसे भरोसा किया ये समझ से परे है.

UN के फैसले पर भारत हैरान

यूएन के इस फैसले पर भारत में हैरानी जतायी जा रही है. जिसे खुद यूएन ने आतंकवदी घोषित किया हुआ है उसे इतनी रियायत कैसे दी जा सकती है. इसकी क्या गारंटी है कि हाफिज इन पैसों का इस्तेमाल कश्मीर में आतंकवाद फैलाने के लिए नहीं करेगा.

वरिष्ठ वकील उज्ज्वल निकम का कहना है कि 'पाकिस्तान की दोहरी चाल सबके सामने आ गई है. ये कहां का न्याय है, यून कहती है कि हाफिज आतंकी है. तो किस आधार पर एकाउंट रिलीज़ किया जा रहा है. 370 के लिए बैंक का पैसा इस्तेमाल करेगा.'

हाफिज़ सईद पर अमेरिका ने 1 करोड़ डॉलर का इनाम रखा हुआ है. पाक सरकार सेना और आईएसआई के संरक्षण में हाफिज़ भारत के खिलाफ नापाक साज़िश रचता रहता है.

संसद भवन पर हमले का मास्टरमाइंड

आपको बता दें कि हाफिज 2001 में भारतीय संसद पर हुए हमले, 2006 मुंबई लोकल में हुए सिलसिलेवार धमाके और 2008 में मुंबई पर हुए हमले का मास्टरमाइंड है. भारत के दबाव के बाद पूरी दुनिया से डांट खाने के बाद हाफिज सईद को पाकिस्तान में जुलाई महीने में आतंकी फंडिंग के मामले गिरफ्तार किया गया था. अंतर्राष्ट्रीय आतंकी सईद को फिलहाल कड़ी सुरक्षा के बीच लाहौर के कोट लखपत जेल में रखा गया है.