close

खास खबरें सिर्फ आपके लिए...हम खासतौर से आपके लिए कुछ चुनिंदा खबरें लाए हैं. इन्हें सीधे अपने मेलबाक्स में प्राप्त करें.

FACE TO FACE: रामदास अठावले बोलें- 'आरक्षण के बारे में चर्चा करने की भी जरूरत नहीं'

अठावले बोलें- 'जो सलाना 8 लाख के अंदर वाले है ऐसी फैमिली है, चाहे वो किसी भी जाति की हो वो लोगों को 10 परसेंट आरक्षण देने का एक बहुत बड़ा क्रांतिकारी फैसला मोदी सरकार ने लिया'

FACE TO FACE: रामदास अठावले बोलें- 'आरक्षण के बारे में चर्चा करने की भी जरूरत नहीं'

नई दिल्ली: ज़ी हिंदुस्तान के खास कार्यक्रम 'फेस टू फेस' में बेबाक सवालों का सामना करने के लिए भारत सरकार के सामाजिक न्याय अधिकारिता न्याय राज्यमंत्री रामदास अठावले पहुंचे. इस दौरान  ZEE हिंदुस्तान की सीनियर एंकर- प्रोड्यूसर माधुरी कलाल ने मंत्री अठावले के सामने जनता के सवालों को रखा.

इस इंटरव्यू में माधुरी कलाल ने जनहित से जुड़े कई मुद्दों पर सीधा सवाल-जवाब किया. 

अपने पहले सवाल में माधुरी ने मंत्री अठावले से उसके मंत्रालय के काम और योजनाओं से जुड़ा सवाल किया. जिसपर मंत्री रामदास अठावले ने अपने जवाब की शुरुआत शायराना अंदाज में किया.

उन्होंने कहा, ''हर एक आदमी का अंदाज होता है अपना अपना.. हमें पूरा करना है मोदी जी का सपना'' अठावले बोलें- 'जो सलाना 8 लाख के अंदर वाले है ऐसी फैमिली है, चाहे वो किसी भी जाति की हो वो लोगों को 10 परसेंट आरक्षण देने का एक बहुत बड़ा क्रांतिकारी फैसला मोदी सरकार ने लिया और हम ये चाहते है कि अपने देश से गरीबी हट जाए. जैसे कांग्रेस पार्टी में इंदिरा गांधी जी याद रहेंगी की वो एक बहुत बड़ी पीएम रही है, अच्छी लीडर रहीं. उन्होंने गरीबी हटाओ का नारा तो दिया लेकिन कांग्रेस को गरीबी हटाओ के नारे के साथ साथ गरीबी हटाने में सफलता नहीं मिली. गरीबी बढ़ गई और अब कांग्रेस पार्टी के माध्यम से देखा है कि करप्शन के मामले बहुत सामने आए है.'

अपनी सरकार की बड़ाई करते हुए उन्होंने कहा कि नरेंद्र मोदी सरकार ने कि करप्शन मुक्त भारत, कांग्रेस मुक्त भारत इसी तरह की घोषणा शुरु में की थी. लेकिन कांग्रेस एकदम खत्म होने का विषय नहीं है. जिस कांग्रेस ने कॉमन वेल्थ घोटाला हो या 2जी घोटाला, कोयला घोटाला इसी तरह के बड़े-बड़े घोटाले के मामले लोगों के सामने आए है और लोग बहुत गंभीर हो गए और उसमें नरेंद्र मोदी जी की लीडरशीप काफी आगे आ गई.

आरक्षण के सवाल पर ये बोलें अठावले

माधुरी से आरक्षण से जुड़ सवाल किया और पूछा कि 'हाल फिलहाल मोहन भागवत जी का जो आरक्षण पर बयान आया उसके बाद विरोधी आपके खिलाफ बोलने लगे. विपक्ष ने कहा है कि ये बीजेपी और आरएसएस की जो दलित और पिछड़ा विरोधी विचारधारा है, उसको दर्शाता है आरक्षण पर फिर बहस छिड़ गई है.'

इसके जवाब में अठावले ने कहा कि 'मोहन भागवत जी ने बीच में बोला था कि आरक्षण पर चर्चा होनी चाहिए लेकिन वो ये बोलने के बाद आरएसएस का स्टेटमेंट आ गया है कि संवैधानिक आरक्षण एससी और एससी को जो दिया है. उसका विरोध करने की भूमिका आरएसएस की नहीं है. बीजेपी ने भी अनाउंस कर दिया है कि दलितों के आरक्षण को बिल्कुल धक्का नहीं लगेगा. नरेंद्र मोदी ने भी सदन में बोला है कि इस आरक्षण का हमारी सरकार पूरा समर्थन करती है इसलिए मुझे लगता है कि डरने की कोई बात नहीं है. आरक्षण के बारे में चर्चा करने की भी जरूरत नहीं है. मुझे लगता है सरकार दलितों के आरक्षण के साथ है, विरोध में नहीं है.'

महाराष्ट्र विधानसभा चुनाव में इतनी सीट की मांग

ज़ी हिंदुस्तान ने जब महाराष्ट्र विधानसभा चुनाव से जुड़ा सवाल पूछा और सीट शेयरिंग की बात छेड़ी तो कहा कि 'रिपब्लिकन पार्टी ऑफ इंडिया की भूमिका ये है कि बीजेपी और शिवसेना को एक साथ ही रहकर चुनाव लड़ना चाहिए. और अगर बीजेपी, शिवसेना और आरपीआई एक साथ लड़ेगी. तो आउट ऑफ 288 सीटों में से 242-245 सीटें हम जीत सकते हैं. इतनी हमारी ताकत हमारे तीनों पार्टियों की है. मुझे लगता है कि हमारी ताकत बहुत बढ़ रही है. और इसलिए दोनों पार्टियों ने पोलिसी तय की है कि मित्र पार्टियों को 18 जगह मिलनी चाहिए. इसमें से 10 जगह रिपब्लिकन पार्टी को मिलनी चाहिए, इसी तरह की मांग हमने की है.'

इसके अलावा ज़ी हिंदुस्तान की एंकर माधुरी कलाल ने कई सवाल दागें... नीचे देखें पूरा इंटरव्यू

इंटरव्यू प्रोग्राम 'फेस टू फेस' के जरिए माधुरी कलाल देश की दिग्गज राजनीतिक शख्सियतों के सामने जनता के सवालों को रखती हैं. ज़ी हिंदुस्तान पर हर रविवार रात 8 बजे देखिए 'फेस टू फेस'