7th Pay Commission: केंद्रीय कर्मचारियों की सैलरी में होगा भारी इजाफा! नए साल में मिलेगी बड़ी खुशखबरी

7th Pay Commission: साल 2021 में महंगाई भत्ता (Dearness Allowance), हाउस रेंट अलाउंस (HRA) और ट्रैवल अलाउंस (TA) में इजाफे का फायदा उठाने वाले कर्मचारियों को अगले साल भी वेतन बढ़ोतरी (Salary Hike) का तोहफा मिल सकता है.  

Written by - Zee Hindustan Web Team | Last Updated : Nov 30, 2021, 09:46 AM IST
  • जानिए कर्मचारियों के लिए क्या है सरकार का प्लान
  • केंद्रीय कर्मचारियों को मिल सकता है बड़ा तोहफा

ट्रेंडिंग तस्वीरें

7th Pay Commission: केंद्रीय कर्मचारियों की सैलरी में होगा भारी इजाफा! नए साल में मिलेगी बड़ी खुशखबरी

नई दिल्लीः 7th Pay Commission: केंद्रीय कर्मचारियों (Central Government Employees) के लिए नया साल खुशियों की सौगात लेकर आ रहा है. मोदी सरकार साल 2022 में केंद्रीय कर्मचारियों के वेतन में फिर बढ़ोतरी कर सकती है. 

साल 2021 में महंगाई भत्ता (Dearness Allowance), महंगाई राहत (Dearness Relief), हाउस रेंट अलाउंस (HRA) और ट्रैवल अलाउंस (TA) में इजाफे का फायदा उठाने वाले केंद्रीय कर्मचारियों को अगले साल भी वेतन बढ़ोतरी (Salary Hike) का तोहफा मिल सकता है.  

मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक, केंद्र और राज्य कर्मचारियों का फिटमेंट फैक्टर (Fitment Factor) बढ़ाया जा सकता है. इसके बढ़ने से कर्मचारियों के न्यूनतम वेतन (Minimum wages) में इजाफा होगा. 

केंद्रीय कैबिनेट से मंजूरी की उम्मीद
बताया जा रहा है कि कर्मचारियों के फिटमैंट फैक्टर को केंद्रीय कैबिनेट से स्वीकृति मिल सकती है. केंद्रीय बजट पेश होने से पहले अगर इसे कैबिनेट से स्वीकृति मिलती है तो इसे बजट के एक्सपेंडिचर में शामिल किया जा सकता है.

लंबे समय से मांग कर रहे कर्मचारी
बता दें कि केंद्र और राज्य सरकार के कर्मचारी लंबे वक्त से फिटमेंट फैक्टर बढ़ाने की मांग कर रहे हैं. उनकी मांग है कि फिटमेंट फैक्टर 2.57 प्रतिशत से बढ़ाकर 3.68 प्रतिशत किया जाए. 

बजट से पहले फैसला होने की आस
उम्मीद जताई जा रही है कि अगले साल 1 फरवरी को पेश होने वाले केंद्रीय बजट (Budget 2022) से पहले कर्मचारियों के फिटमेंट फैक्टर पर निर्णय हो सकता है. ऐसा होने पर कर्मचारियों की न्यूनतम सैलरी में बढ़ोतरी देखने को मिलेगी. 

...तो इतना बढ़ेगा वेतन
अभी कर्मचारियों को 2.57 प्रतिशत फिटमेंट फैक्टर के आधार पर वेतन दिया जा रहा है. यदि इसे बढ़ाकर 3.68 प्रतिशत किया जाता है तो कर्मचारियों की न्यूनतम सैलरी में 8 हजार रुपये का इजाफा होगा. इसका मतलब यह है कि अगर किसी कर्मचारी की अभी न्यूनतम सैलरी 18 हजार रुपये है तो वह बढ़कर 26 हजार हो जाएगी.

मीडिया रिपोर्ट्स के अनुसार, कर्मचारी यूनियनों का कहना है कि सरकार उनकी मांग को नजरअंदाज नहीं कर सकती है. वहीं, बताया जा रहा है कि सरकार भी अब फिटमेंट फैक्टर की ओर ध्यान दे रही है.

यह भी पढ़िएः Gold Price: फिर गिरे सोने के दाम, इस शहर में सबसे सस्ता मिल रहा गोल्ड

Zee Hindustan News App: देश-दुनिया, बॉलीवुड, बिज़नेस, ज्योतिष, धर्म-कर्म, खेल और गैजेट्स की दुनिया की सभी खबरें अपने मोबाइल पर पढ़ने के लिए डाउनलोड करें ज़ी हिंदुस्तान न्यूज़ ऐप.  

ज़्यादा कहानियां

ट्रेंडिंग न्यूज़