close

खास खबरें सिर्फ आपके लिए...हम खासतौर से आपके लिए कुछ चुनिंदा खबरें लाए हैं. इन्हें सीधे अपने मेलबाक्स में प्राप्त करें.

भारत में तेजी से बढ़ रहे कैंसर के मरीज, पहले नंबर पर गुजरात

इन दिनों लोग भारी संख्या में बिमारियों की चपेट में आ रहे हैं. इन बढ़ती हुई बीमारियों में कैंसर भयावह रूप ले चुका है. नेशनल हेल्थ प्रोफाइल(NHP) ने 2019 की रिपोर्ट जारी की है जिसके मुताबिक भारत में कॉमन कैंसर के साथ ही ब्रेस्ट कैंसर, ओरल कैंसर व लिवर कैंसर में बढ़ोतरी दर्ज की गई है.

भारत में तेजी से बढ़ रहे कैंसर के मरीज, पहले नंबर पर गुजरात

नई दिल्ली: नेशनल हेल्थ प्रोफाइल(NHP) की रिपोर्ट में 324 प्रतिशत की वृद्धि दर्ज की गई. साथ ही यह सामने आया है कि NCD क्लिनिक्स ने 2017 से लेकर 2018 के बीच कैंसर के मामलों में तेजी की पहचान की है. जिसके अनुसार 2017 में कैंसर के कुल 39,635 लोग कैंसर से पीड़ित मिले, जो 2018 में बढ़ कर 1.6 लाख हो गए थे. लगभग 6.5 करोड़ लोग 2018 में जांच के लिए अस्पताल पहुंचे जबकि 2017 में 3.5 करोड़ लोग जांच के लिए पहुंचे थे.

गुजरात में सर्वाधिक कैंसर पीड़ित
कैंसर के मामले में आई बढ़ोतरी सबसे ज्यादा गुजरात में दर्ज की गई. 2017 में गुजरात में 3,939 कैंसर पीड़ित लोगों की पहचान की गई थी वहीं 2018 में इनकी तादाद बढ़कर 72,169 हो गई. लगभग 68,230 केसों में बढ़त हुई है. गुजरात के अलावा भारत के अन्य राज्य भी है जहां कैंसर के मामलों में बड़ी बढ़ोतरी सामने आई है. इनमें कर्नाटक, महाराष्ट्र, तेलंगाना और पश्चिम बंगाल शामिल हैं. 

क्या है कैंसर की वजह
कैंसर में आ रही बढ़ोतरी की वजह लोगों का खान-पान और गलत लाइफस्टाइल बताई जा रही है. साथ ही स्ट्रेस और तंबाकू का अत्यधिक सेवन बताया जा रहा है.

कैंसर से बचने के उपाय 
1. पत्तेदार सब्जियां, चना और फलों का ज्यादा से ज्यादा सेवन करना चाहिए. क्योंकि सब्जियों और फलों में फाइबर मौजूद होता है जो रोगों से लड़ने की क्षमता को बढ़ाता है.

इसके अलावा यह कई प्रकार के कैंसर से लड़ने में मदद करता है. 
2. प्रदूषण व धूम्रपान-शराब के सेवन से भी बचें. 
3. नमक व शक्कर का सेवन संतुलित मात्रा में करना चाहिए. ज्यादा नमक खाने से पेट का कैंसर व शक्कर का सेवन ज्यादा करने से महिलाओं में कोलोरेक्टल कैंसर की सम्भावना काफी बढ़ जाती है.
4. सामान्यतः 8-10 घंटे की नींद जरूर लेनी चाहिए.

पर्याप्त नींद से हम कई प्रकार की बीमारियों को खुद से दूर रखते हैं.
5. इलेक्ट्रॉनिक चीजों का कम से कम उपयोग करना चाहिए. साथ ही सोते समय फोन को खुद से दूर रख कर सोना चाहिए. 
6. असुरक्षित शारीरिक संबंध बनाने से बचें क्योंकि अगर कोई व्यक्ति पैपिलॉमा वायरस से प्रभावित है तो आप भी इसकी चपेट में आ सकते हैं क्योंकि यह वायरस फैलने वाला होता है. इसके अलावा गर्भनिरोधक गोलियों का इस्तेमाल भी ज्यादा नहीं करना चाहिए. लम्बे समय तक इसके प्रयोग करने से औरतों में स्तन कैंसर या लिवर कैंसर होने का खतरा बढ़ जाता है.
7. अपने शरीर के वजन को संतुलित रखने का प्रयास करें. मोटापे से स्तन कैंसर और मलाशय कैंसर का खतरा ज्यादा रहता है. ज्यादा स्ट्रेस भी लेने से बचें क्योंकि स्ट्रेस भी कैंसर को न्यौता देता है.