close

खास खबरें सिर्फ आपके लिए...हम खासतौर से आपके लिए कुछ चुनिंदा खबरें लाए हैं. इन्हें सीधे अपने मेलबाक्स में प्राप्त करें.

सीएम योगी ने चेताया, दिवाली में खेला जुआ तो जाएंगे जेल

अगले हफ्ते दिवाली  के मद्देनजर उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने प्रशासन को सावधानी बरतने के आदेश दिए हैं. उन्होंने शनिवार रात अफसरों के साथ एक बैठक की और उन्हें माहौल न बिगड़े इसके  लिए व्यवस्था बनानेको कहा है. इस दौरान उन्होंने जुआ खिलाने वाले और जहरीली शराब बेचने वालों पर कड़ी कार्रवाई किए जाने की चेतावनी दी.

 सीएम योगी ने चेताया, दिवाली में खेला जुआ तो जाएंगे जेल

लखनऊः सीएम योगी आदित्यानाथ ने दिवाली के मद्देनजर प्रशासनिक अफसरों को तैयारी करने के आदेश दिए हैं. त्योहार के मौके पर माहौल न बिगड़े इसके लिए उन्होंने शांति भंग करने वालों पर कड़ी कार्रवाई की चेतावनी दी है. शनिवार देर रात लखनऊ में हुई बैठक में चेतावनी देते हुए उन्होंने कहा कि दिवाली के मौके पर जुआ खिलाने वाले लोगों पर रासुका लगाई जाए.और उन्हें जेल भेजा जाए. इसके अलावा उन्होंने मिलावटी खाद्य पदार्थों की बिक्री पर भी नियंत्रण रखने को कहा है.

सीएम ने अधिकारियों से कहा कि इस मौके पर जहरीली शराब बेचने की भी कोशिश होगी. ऐसे में इसे रोकने के लिए जिला प्रशासन, आबकारी विभाग और पुलिस  से मिलकर एक टीम बना लें. लेकिन इस सबके बीच ये भी ध्यान रखने को कहा कि किसी को प्रताड़ित न किया जाए.

‘पुलिस-प्रशासन के अधिकारी पटाखे वालों को परेशान न करें’

बैठक के दौरान सीएम योगी ने कहा कि बारूद और पटाखों के कारण कोई दुर्घटना न होने पाए. बारूद के स्टोर और पटाखों के गोदाम और पटाखे बेचने का काम आबादी वाले इलाके से दूर खुले में किया जाए. पटाखे की दुकानें भी आबादी वाले क्षेत्र से दूर लगाई जाएं. अग्निशमन की पूरी व्यवस्था की जाए. पटाखों के दुकानदारों को पुलिस और प्रशासन का अधिकारी किसी तरह से प्रताड़ित न करें. डीजे बजाने वालों पर कारवाई करने की बजाए उन्हें सुप्रीम कोर्ट की गाइड लाइन के प्रति जागरूक किया जाए.

दरअसल दिवाली के मौके पर उत्तर प्रदेश सरकार कई तरह की तैयारियों में जुटी है. इसमें अयोध्या में दीपोत्सव मनाने के साथ काशी में भी दिवाली से देव दिवाली तक लगातार दीए जलाए जाने की तैयारी है. इस मौके पर उन्होंने सफाई व्यवस्था बनाए रखने व प्लास्टिक के इस्तेमाल पर भी नियंत्रण लगाए रखने को कहा. उन्होंने कहा कि पराली जलाने से होने वाले नुकसान से भी किसानों को जागरूक किया जाए और इसमें जनप्रतिनिधि भी शामिल किए जाएं.