CTET का रिजल्ट घोषित, तय समय से पहले हुआ जारी

सीबीएसई के मुताबिक सीटेट 2019 परीक्षा का रिजल्ट परीक्षा आयोजित होने के 6 हफ्तों के भीतर जारी किया जाना था लेकिन इसे तय समय से पहले ही जारी कर दिया गया है. बता दें कि सीबीएसई इस परीक्षा का परीक्षा का आयोजन साल में दो बार करती है. सफल आवेदकों को एक सर्टिफिकेट दिया जाता है जिसकी अवधि अगले सात वर्षों तक होती है. 

CTET का रिजल्ट घोषित, तय समय से पहले हुआ जारी

नई दिल्लीः सीबीएसई ने केंद्रीय शिक्षक पात्रता परीक्षा 2019 का रिजल्ट घोषित कर दिया है. इस परीक्षा का आयोजन 8 दिसंबर 2019 को को किया गया था. वहीं परीक्षा की फाइनल आंसर की 22 दिसंबर 2019 को जारी की गई थी. इसपर आपत्ति दर्ज कराने की अंतिम तारीख 25 दिसंबर 2019 थी. आप अपना रिजल्ट सीटेट की ऑफिशल वेबसाइट ctet.nic.in पर देख सकते हैं. इस रिजल्ट को देखने के लिए आवेदकों को अपने रोल नंबर की जरूरत पड़ेगी. इसके बिना रिजल्ट नहीं देखा जा सकता है.

दो बार होती है परीक्षा
सीबीएसई के मुताबिक सीटेट 2019 परीक्षा का रिजल्ट परीक्षा आयोजित होने के 6 हफ्तों के भीतर जारी किया जाना था लेकिन इसे तय समय से पहले ही जारी कर दिया गया है. बता दें कि सीबीएसई इस परीक्षा का परीक्षा का आयोजन साल में दो बार करती है. सफल आवेदकों को एक सर्टिफिकेट दिया जाता है जिसकी अवधि अगले सात वर्षों तक होती है. इस सर्टिफिकेट को ऑनलाइन ही डाउनलोड किया जा सकता है. आवेदक अपने अंकों में इजाफे के लिए दोबारा इस परीक्षा में हिस्सा ले सकते हैं.

सरकारी बाबुओं को Air India ने कहा पहले बकाया राशि दें तब लें यात्रा का मजा

रिकॉर्ड समय में जारी किया रिजल्ट
सीबीएसई ने रिकॉर्ड समय में सीटीईटी रिजल्ट जारी कर दिया है. परीक्षा करवाने के महज 19 दिनों बाद केंद्रीय माध्यमिक शिक्षा बोर्ड (सीबीएसई) ने सीटीईटी ( केंद्रीय शिक्षक पात्रता परीक्षा दिसंबर 2019) का रिजल्ट घोषित कर दिया. सीटीईटी दिसंबर परीक्षा में 28,32,120 अभ्यर्थियों ने रजिस्ट्रेशन करवाया था. इसमें से 24,05,145 अभ्यर्थी (पेपर 1 - 16,46,620 और पेपर 2 -11,85,500) 8 दिसंबर को आयोजित हुई परीक्षा में बैठे थे. 

कुल उम्मीदवारों में 22.55 प्रतिशत अभ्यर्थी पास हुए हैं. परीक्षा देने वाले 24,05,145 अभ्यर्थियों में से 5,42,285 अभ्यर्थी पास हुए हैं. पेपर 1 में 2,47,386 और पेपर 2 में 2,94,899 अभ्यर्थी पास हुए हैं. परीक्षा 110 शहरों में आयोजित हुई थी. 2,935 परीक्षा केंद्र बनाए गए थे. यह परीक्षा 2,144 केंद्रों पर आयोजित की गई थी. सीटेट के पेपर -1 में भाग लेने वाले सफल उम्मीदवार कक्षा 1 से लेकर कक्षा 5 तक के लिए होने वाली शिक्षक भर्ती के लिए योग्य माने जाएंगे. जबकि पेपर -2 में बैठने वाले सफल अभ्यर्थी कक्षा 6 से 8वीं तक के लिए होने वाली शिक्षक भर्ती के लिए योग्य माने जाएंगे.

498 लोगों की संपत्ति जब्त करने की तैयारी में UP की योगी सरकार