फिर पटरी पर दौड़ेगी दिल्ली मेट्रो, जनता क्या चाहती है? जानिए यहां

क्या दिल्ली में जल्द ही मेट्रो सेवा शुरू करने की तैयारी हो रही है? ये सवाल इसलिए क्योंकि DMRC की तरफ से कहा गया है कि केंद्र सरकार जब भी निर्देश देगी हम संचालन के लिए तैयार हैं. दिल्ली के सीएम अरविंद केजरीवाल ने भी केंद्र सरकार को मेट्रो सेवाओं को ट्रायल बेसिस पर शुरू करने का सुझाव दिया है, हालांकि दिल्ली की जनता की राय इस पर बंटी हुई है..

Written by - Zee Hindustan Web Team | Last Updated : Aug 24, 2020, 11:21 AM IST
    • कब शुरू होगी दिल्ली मेट्रो की यात्रा?
    • मेट्रो के ट्रैक पर लौटने की सुगबुगाहट
    • ट्रायल बेसिस पर मेट्रो शुरू करने का सुझाव
फिर पटरी पर दौड़ेगी दिल्ली मेट्रो, जनता क्या चाहती है? जानिए यहां

नई दिल्ली: दिल्ली की लाइफलाइन कही जाने वाली मेट्रो के पहिए थमे हुए हैं. कोरोना के संकट को देखते हुए पीएम मोदी ने पूरे देश में लॉकडाउन लागू किया था, जिसके बाद से ही मेट्रो सेवा बंद कर दी गई थी. दिल्ली एनसीआर के लाखों लोग हर रोज मेट्रो से सफर करते थे लेकिन लॉकडाउन के बाद सब कुछ मानों थम सा गया लेकिन अब मेट्रो के ट्रैक पर लौटने की सुगबुगाहट जोर पकड़ने लगी है.

मेट्रो शुरू करने को लेकर लोगों की क्या राय?

मेट्रो सेवा की बहाली को लेकर अलग-अलग लोगों की अलग-अलग राय है. ज़ी हिन्दुस्तान की टीम ने इस विषय पर लोगों से बातचीत की तो किसी का मानना है कि अभी के हालात को देखते हुए मेट्रो सेवा की शुरुआत करना ठीक नहीं होगा, तो वहीं कुछ लोगों का ये भी मानना है कि यदि बेहतर ढंग और कोरोना के नियमों का ध्यान रखते हुए संचालन किया जाना चाहिए.

दिल्ली मेट्रो के कार्यकारी निदेशक ने कहा है कि उनको बस सरकार के आदेश का इंतजार है, जब भी आदेश आ जाएगा हम मेट्रो चलाने के लिए तैयार हैं. उन्होंने कहा जब भी सरकार हमको निर्देश देगी डीएमआरसी मेट्रो का परिचालन शुरू कर देगी. कोरोना वायरस से निपटने केलिए सभी दिशा निर्देशों को लागू किया जाएगा और सभी यात्रियों को यात्रा को सुरक्षित बनाने का प्रयास किया जाएगा.

सीएम केजरीवाल ने भी केंद्र से की अपील

वहीं सीएम अरविंद केजरीवाल ने भी केंद्र सरकार को मेट्रो सेवाओं को ट्रायल बेसिस पर शुरू करने का सुझाव दिया. उन्होंने ट्वीट कर कहा, "दिल्ली में अब कोरोना की स्थिति ठीक हो रही है. हम मेट्रो खोलना चाहते हैं, ट्रायल बेसिस पर दिल्ली में मेट्रो चलने की इजाजत मिलनी चाहिए. मुझे उम्मीद है कि केंद्र जल्द ही इस पर निर्णय लेगा."

किसी की हां, तो किसी की ना

मेट्रो के संचालन को लेकर केजरीवाल सरकार के सुझाव से दिल्ली की जनता सहमत नहीं है. उन्हें लगता है कि अगर अभी मेट्रो चली तो कोरोना का संकट गंभीर हो सकता है. हालांकि दिल्ली में ही एक वर्ग ऐसा भी है. जिसे लगता है कि मेट्रो को अब वापस ट्रैक पर लाना चाहिए. दिल्ली वाले मेट्रो की जरूरत को शिद्दत से महसूस कर रहे हैं.

दिल्ली-एनसीआर में ऑफिस, इंडस्ट्री, दुकान, मॉल, बाजार, होटल, रेस्टोरेंट, पटरी बाजार सब कुछ खुल चुके हैं. ऐसे में लोगों को यातायात के लिए सबसे ज्यादा परेशानी का सामना करना पड़ रहा है. डीटीसी बसें चल रही हैं, लेकिन कोरोना के लिए तय गाइडलाइंस के चलते सीमित लोग ही सफर कर पा रहे हैं. ऐसे में मेट्रो को लोग मिस कर रहे हैं, लेकिन जिस तरह से भारत में कोरोना मामलों की रफ्तार बढ़ रही है. उसे देखते हुए केंद्र सरकार मेट्रो चलाने का खतरा मोल लेगी ऐसा लगता नहीं है.

इसे भी पढ़ें: मेट्रो संचालन को लेकर सीएम केजरीवाल ने क्या कहा, जानिए यहां

इसे भी पढ़ें: अब बस से जाइये लंदन, मुफ्त में घूमिये अठारह देश

ज़्यादा कहानियां

ट्रेंडिंग न्यूज़