• पूरे देश में कोरोना वायरस के कुल सक्रिय मामले अभी तक 4312 हैं, अभी तक 124 लोगों की मृत्यु हुई, 353 लोग इलाज के बाद ठीक हुए
  • स्वास्थ्य मंत्रालय ने कोरोना मरीजों की देखभाल के लिए अस्पताल और अन्य सुविधाओं को तीन भागों में बांटा.
  • भारतीय रेलवे अपने डॉक्टरों और चिकित्साकर्मियों की सुरक्षा के लिए हर रोज एक हजार पीपीआई किट का निर्माण करेगी
  • कोरोना से निपटने के लिए राहत कार्यों में योगदान देने के लिए पूर्व सैनिकों ने स्वैच्छिक सेवाएं प्रदान की
  • लॉकडाउन के बीच जहाजों का आवागमन होगा, पोत परिवहन मंत्रालय ने सुनिश्चित किया
  • सरकार के दीक्षा ऐप पर कोरोना से जूझने वालों के लिए इंटीग्रेटेड ऑनलाइन गवर्नमेन्ट ट्रेनिंग यानी IGOT कोर्स लाया गया है
  • पूरी दुनिया में कोरोना वायरस की चपेट में 1,428,428, अब तक कुल 82,020 की मौत हो चुकी है. 3,00,198 मरीज ठीक भी हुए.
  • राज्यों में कुल कोरोना संक्रमण- महाराष्ट्र में 1161, तमिलनाडु में 690, दिल्ली में 606, तंलंगाना में 404, केरल में 336
  • उत्तर प्रदेश में 332 राजस्थान में 343, आंध्र में 324, मध्य प्रदेश में 280, कर्नाटक में 204, गुजरात में 168

लॉकडाउन से घबराएं नहीं, "घरों तक पहुंचाया जाएगा जरूरी सामान"

अगर आप देश में लॉकडाउन की खबर से घबरा रहे हैं कि आपके घर सामान नहीं है, राशन नहीं है और जरूरत की चीजें मौजूद नहीं हैं तो परेशान होने की जरूरत नहीं है. क्योंकि सरकार ने इसके लिए खास तैयारियां की है. साथ ही अगर आप यूपी में रहते हैं तो यहां सरकार घर-घर तक जरूरत के सामान पहुंचाएगी.

लॉकडाउन से घबराएं नहीं, "घरों तक पहुंचाया जाएगा जरूरी सामान"

नई दिल्ली: कोरोना महामारी से बचाव के लिए आज रात से देश पूरे 21 दिन के लिए पूरी तरह लॉकडाउन किया गया. 14 अप्रैल तक घर से बाहर निकलने की इजाज़त नहीं है. जरूरी चीजों के लिए छूट मिलेगी. इस बीच उत्तर प्रदेश सरकार ने पीएम मोदी की अपील को मुकम्मल बनाने के लिए बड़ा फैसला लिया है. जानकारी के अनुसार लॉकडाउन के दौरान यूपी में ज़रूरी सामान को लोगों के घरों तक पहुंचाया जाएगा.

यूपी में सामान लेकर 'सरकार आपके द्वार'

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने लॉकडाउन की घोषणा की तो यूपी के लोगों को परेशानियों का सामना ना करना पड़े, इसके लिए सीएम योगी आदित्यनाथ ने बड़ा फैसला किया है. दूध, दवा और सब्जियों को घर-घर यूपी सरकार पहुंचाएगी. जी हां, इसका ऐलान खुद सीएम योगी ने किया है. उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने कहा है कि कल से ही घरों तक ज़रूरी सामानों को पहुंचाया जाएगा. घरों तक सामान पहुंचाने के लिए 10 हज़ार से अधिक गाड़ियां लगाई जाएंगी.

लॉकडाउन को लेकर परेशान होने की जरूरत नहीं

- जरूरी सेवाओं को छोड़कर सभी सरकारी और प्राइवेट दफ़्तर बंद रहेंगे
- रक्षा, केंद्रीय पुलिस और ट्रेजरी के दफ़्तर पर लॉकडाउन का असर नहीं
- लॉकडाउन में भी आपदा प्रबंधन और इमरजेंसी सेवा से जुड़े लोग काम करते रहेंगे
- लॉकडाउन के दौरान लैब, मेडिकल स्टोर, अस्पताल और नर्सिंग होम खुले रहेंगे
- पेट्रोल पंप, CNG और PNG सेंटर खुले रहेंगे
- जल आपूर्ति, सफाई और बिजली विभाग के कर्मचारी काम करते रहेंगे
- राष्ट्रीय सूचना केंद्र और डाकघर लॉकडाउन के दौरान खुले रहेंगे
- पुलिस, होम गार्ड्स और सिविल डिफेंस से जुड़े लोगों पर लॉकडाउन लागू नहीं
- सब्जी, फल और ज़रूरी सामान की दुकानें भी लॉकडाउन में खुली रहेंगी
- लॉकडाउन का असर दूध और राशन की दुकानों पर नहीं होगा
- बैंक, बीमा दफ़्तर और एटीएम लॉकडाउन के दौरान खुले रहेंगे
- इलेक्ट्रॉनिक और प्रिंट मीडिया पर लॉकडाउन लागू नहीं
- ज़रूरी सामानों की ऑनलाइन ख़रीद पर लॉकडाउन का असर नहीं होगा
- देश के सभी धार्मिक स्थल लॉकडाउन के दौरान बंद रहेंगे
- अंतिम संस्कार में 20 से अधिक लोग शामिल नहीं हो सकेंगे

लेकिन कोरोना से युद्ध में भारत को विजय दिलाने में देशवासियों की अहम भूमिका है. यही वजह है कि खुद पीएम मोदी ने सामने आकर भारत के लोगों से घर में ही रहकर इस महामारी से लड़ने की अपील की है. प्रधानमंत्री मोदी ने ये भी साफ कर दिया है कि कोरोना से लड़ने के लिए इसके अलावा कोई दूसरा विकल्प नहीं है. इस विकल्प के लिए नवरात्रि के पावन अवसर पर 9 संकल्प करना बेहद जरूरी है.

नवरात्रि पर कोरोना को हराने के 9 संकल्प

1. सिर्फ घरों मे ही रहना है
2. बाहर नहीं निकलना है
3. बहुत जरूरी हो तभी बाहर जाएंगे 
4. दूसरे व्यक्ति से 2 मीटर की दूरी रखेंगे
5. लॉकडाउन का पालन करना है
6. हाथ हर बीस मिनट पर धोते रहेंगे
7. आंख, नाक, मुंह को नहीं छुएंगे
8. अफवाहों पर ध्यान नहीं देंगे 
9. कोरोना फाइटर्स का हौसला बढ़ाते रहेंगे

इन 9 संकल्प का पालन करके हम कोरोना को जरूर हरा सकते हैं. लेकिन, लापरवाही बरतने वाले ना सिर्फ खुद के लिए बल्कि और लोगों के लिए भी गड्ढा खोदने का काम कर रहे हैं. ऐसे में आपको भारत सरकार के 10 बड़े ऐतिहासिक फैसलों से रूबरू करवाते है.

कोरोना के खिलाफ हिंदुस्तान के ऐतिहासिक कदम

1. पहली स्‍वदेशी टेस्टिंग किट का उत्पादन शुरू
2. विदेश से आने वाले लोगों पर पूरी तरह से पाबंदी
3. 2000 से ज़्यादा हिंदुस्तानियों को दूसरे देशों से भारत लाया गया
4. भारत ने सभी देशों के साथ अपनी सीमाएं सील कर दी
5. देश के सभी राज्यों में स्कूल, कॉलेज, बाज़ार और सिनेमाहॉल बंद
6. केन्द्र सरकार हर दिन में 2 बार आपात बैठक कर रही है
7. 111 से ज़्यादा टेस्ट सेंटर में कोरोना वायरस संक्रमण की जांच
8. 12 निजी टेस्ट सेंटर के 15000 सेंटर पर ब्लड सैंपल लिए जाएंगे
9. रेलवे ने यात्री सेवा पूरी तरह से बंद की
10. घरेलू उड़ान सेवा पूरी तरह से बंद कर दिया गया

इसे भी पढ़ें: कोरोना के खिलाफ युद्ध में नवरात्रि पर देशवासियों से PM मोदी के 9 आग्रह

देश में मंगलवार रात 12 बजे से लॉकडाउन है. इसका पालन ना करने वालों के खिलाफ सख्त कार्रवाई का भी प्रावधान है. ऐसे में हम आपसे ये अपील करते हैं कि लॉकडाउन के नियमों का पूरी तरह से पालन करते हुए कोरोना वायरस के खिलाफ युद्ध में अपनी भूमिका का निर्वहन करें.

इसे भी पढ़ें: 21 दिन का लॉकडाउनः जानिए, क्या रहेगा बंद-क्या रहेगा खुला

इसे भी पढ़ें: हाथ जोड़कर निवेदन, डॉक्टरों, मीडियाकर्मियों और सफाईवालों के बारे में सोचिएः पीएम मोदी