पर्सनल नंबर का यूज कमर्शियल कामों के लिए करते हैं तो हो सकता है नंबर ब्लैकलिस्ट

मोबाइल यूजर्स के लिए बड़ी खबर है. अभी के समय में ऐसे बहुत कम ही लोग होंगे जो बिना फोन के अपना जीवन निर्वाह कर रहे होंगे. लेकिन अगर आप अपना पर्सनल नंबर कमर्शियल कॉल के लिए यूज करते हैं तो आपका नंबर ब्लैकलिस्ट में शामिल हो सकता है.

पर्सनल नंबर का यूज कमर्शियल कामों के लिए करते हैं तो हो सकता है नंबर ब्लैकलिस्ट

नई दिल्ली: बिना मोबाइल के तो लगता है मानों अब जीवन की कल्पना भी नहीं कर सकते हैं. लेकिन मोबाइल फोन इस्तेमाल करते समय भी हमें कई प्रकार की सावधानियां बरतनी होती है. अगर आपके पास भी मोबाइल फोन है तो आपका नंबर भी ब्लैक लिस्ट हो सकता है. 

अगर Google पर करते हैं इन चीजों को सर्च तो हो जाइए अलर्ट.

बता दें कि अगर आप अपने पर्सनल नंबर से कमर्शियल कॉल करेंगे तो टेलिकॉम विभाग आपका नंबर ब्लैकलिस्ट कर देगा. इसके अलावा प्राइमरी नंबर से कमर्शियल मैसेज भेजने वाले यूजर्स के नंबर को भी बंद कर दिया जाएगा. देश की सरकारी टेलिकॉम कंपनी BSNL ने इस बारे में यूजर्स को चेतवानी दी है. कंपनी ने कहा है कि अनलिमिटेड कॉलिंग का प्लान लेने वाले कस्टमर अगर अपने प्राइमरी नंबर से कमर्शियल या फिर मार्केटिंग कॉल करते हैं तो उनका नंबर ब्लैकलिस्ट हो सकता है.
 
TRAI की है गाइडलाइन
टेलिकॉम रेग्यूलेटरी अथॉरिटी ऑफ इंडिया (TRAI) की TCCCPR 2018 की गाइडलाइन के मुताबिक कोई भी BSNL यूजर अपने लैंडलाइन नंबर या मोबाइल नंबर से कमर्शियल कॉल नहीं कर सकता है. BSNL ने एक प्रेस स्टेटमेंट जारी करके भी इस बारे में जानकारी दी है. ट्राई ने बताया है कि अगर कोई भी यूजर इन नियमों के खिलाफ जाता है तो उसके नंबर को कंपनी के द्वारा ब्लैकलिस्ट कर दिया जाता है. इन नए नियमों को लागू करने के लिए BSNL ने DLT (Distributed Ledger Technology) पोर्टल तैयार किया है. इस पोर्टल में इन नियमों के बारे में जानकारी दी गई है. नियमों के मुताबिक जो  भी टेलिमार्केटिंग या बिजनेस कंपनी यूजर्स को कमर्शियल कॉल करना चाहती है तो उसके लिए उन्हें सबसे पहले DLT पोर्टल पर रजिस्टर कराना होगा. इसके बाद यूजर्स केवल खास सीरीज के नंबर और SMS पाइप का इस्तेमाल कर सकेंगे. 

15 साल पूरे कर चुके गूगल मैप्स में शामिल की गई नई तकनीक.

विभिन्न कमर्शियल कंपनी ने लगाई रोक
BSNL के अलावा रिलायंस, वोडाफोन-आइडिया, एयरटेल समेत सभी कंपनियों ने कमर्शियल कॉल करने से मना किया है. इस समय ज्यादातर सभी टेलिकॉम कंपनियां अनलिमिटेड कॉलिंग करने की सुविधा देती हैं तो यूजर को इस बात का ध्यान रखना चाहिए कि वह इस सुविधा का गलत फायदा न उठाएं. इसके अलावा अगर आपको कॉल आता है तो आपको कॉल रिसीव करने के लिए प्रेफरेंस सेट करनी होगी. इसके बाद ही आप इस कॉल को रिसीव कर पाएंगा. यूजर्स इसे प्रॉडक्ट कैटिगरी, दिन, समय और मोड ऑफ कम्यूनिकेशन के हिसाब से तय कर सकते हैं. अगर यूजर इस प्रकार के मार्केटिंग कॉल्स नहीं चाहते तो वे इन्हें ब्लॉक कर सकते हैं.