इलेक्ट्रिक वाहन खरीदने वालों के लिए बड़ी खबर, सरकार ने सब्सिडी बढ़ाने का किया ऐलान

सरकार ने इलेक्ट्रिक वाहनों को लेकर बड़ी घोषणा की है. सरकार ने इलेक्ट्रिक वाहनों की खरीद पर सब्सिडी बढ़ाने का ऐलान किया है.   

Written by - Zee Hindustan Web Team | Last Updated : Jun 16, 2021, 05:08 PM IST
  • इलेक्ट्रिक वाहनों की खरीद पर बढ़ेगी सब्सिडी
  • जानिए क्या है सरकार की फेम-2 स्कीम
इलेक्ट्रिक वाहन खरीदने वालों के लिए बड़ी खबर, सरकार ने सब्सिडी बढ़ाने का किया ऐलान

नई दिल्ली: पेट्रोल-डीजल की बढ़ती कीमतों के बीच सरकार ने इलेक्ट्रिक वाहनों की खरीदने की चाह रखने वाले लोगों को बड़ी राहत दी है. 

सरकार ने इलेक्ट्रिक वाहनों की खरीद पर सब्सिडी बढ़ाने का ऐलान किया है. अब सब्सिडी बढ़ जाने से इलेक्ट्रिक वाहनों की कीमत और कम हो जाएगी.

ग्राहकों को मिली राहत

अगर आप इलेक्ट्रिक वाहन खरीदने के बारे में सोच रहे हैं, तो आपके लिए सरकार ने बड़ी घोषणा की है. बहुत जल्द इलेक्ट्रिक वाहनों की कीमत और कम होने वाली है. 

बीते दिनों में इलेक्ट्रिक वाहनों पर सरकार द्वारा दी जा रही सब्सिडी को ग्राहकों की तरफ से अच्छा रिस्पांस नहीं मिला था. इसलिए सरकार ने इलेक्ट्रिक वाहनों पर सब्सिडी बढ़ाने का फैसला किया है.

सरकार के सब्सिडी बढ़ाने के पीछे यही उद्देश्य है कि ज्यादा से ज्यादा लोग इलेक्ट्रिक वाहन खरीदने के लिए प्रोत्साहित हों. 

इलेक्ट्रिक वाहनों के गिरेंगे दाम

फास्टर एडॉप्शन एंड मैन्युफैक्चरिंग ऑफ इलेक्ट्रिक व्हीकल्स इन इंडिया फेज (FAME India Phase II) में किए गए संशोधन के अनुसार, अब इलेक्ट्रिक वाहनों पर मिलने वाले डिमांड इंसेंटिव को 10,000 रुपये प्रति किलोवाट से बढ़ाकर 15000 रुपये प्रति किलोवाट कर दिया गया है. 

सरकार ने इलेक्ट्रिक टू-व्हीलर्स पर लागू होने वाले इंसेंटिव कैप को बढ़ाने का फैसला किया है. सरकार ने इसकी लागत बढ़ाकर अब 40 प्रतिशत तक करने का फैसला किया है. 

इलेक्ट्रिक वाहन बनाने वाली कंपनी एथर एनर्जी का कहना है कि सरकार के इंसेंटिव कैप के बढ़ाने के फैसले से अब एथर 450X की खरीद पर 14500 रुपये की एक्सट्रा सब्सिडी मिलेगी. 

यह भी पढ़िए: PM Kisan Yojana: किसानों के पास 4,000 रुपये पाने का सुनहरा मौका, ऐसे उठाएं सुविधा का लाभ

क्या है फेम-2 स्कीम

फेम-2 स्कीम के तहत डेवलप किए गए इलेक्ट्रिक वाहनों में ड्राइव रेंज कम से कम 80 किमी, अधिकतम स्पीड 40 किमी/घंटा हीनी चाहिए.

वाहन के लिए चार्जिंग में अधिकतम 8 यूनिट का खर्च आना चाहिए.

सरकार ने इस स्कीम के तहत इलेक्ट्रिक टू-व्हीलर्स डेवलप करने के लिए दस हजार करोड़ रुपये जारी किए थे, अभी तक इसमें से 5 करोड़ रुपये ही खर्च किए जा सके हैं. 

इस स्कीम के शुरू होने से दिसंबर, 2020 तक 31,813 इलेक्ट्रिक टू-व्हीलर की बिक्री हुई  है. 

यह भी पढ़िए: Gold Price: सर्राफा बाजार में धड़ाम हुआ सोना, रिकॉर्ड कीमत से 7,500 रुपये हुआ सस्ता

Zee Hindustan News App: देश-दुनिया, बॉलीवुड, बिज़नेस, ज्योतिष, धर्म-कर्म, खेल और गैजेट्स की दुनिया की सभी खबरें अपने मोबाइल पर पढ़ने के लिए डाउनलोड करें ज़ी हिंदुस्तान न्यूज़ ऐप.

 

ज़्यादा कहानियां

ट्रेंडिंग न्यूज़