• पूरी दुनिया में कोरोना से 1201964 लोग प्रभावित, अब तक 64727 लोगों की मौत हुई,246638 लोग रोगमुक्त हुए
  • भारत में कोरोना मरीजों की कुल संख्या 3530, इसमें से 89 लोगों की मौत हुई, 213 इलाज के बाद ठीक हुए
  • महाराष्ट्र में कोरोना के सबसे ज्यादा 490 मरीज, 24 लोगों की मौत हुई, 42 लोग ठीक हुए
  • तमिलनाडु में कोरोना से 411 लोग प्रभावित, 2 की मौत, 6 लोग ठीक हुए
  • केरल में अब तक 295 लोगों को हुआ कोरोना, 2 की मौत हो चुकी है, 41 इलाज के बाद ठीक हुए
  • दिल्ली में कोरोना के 445 मरीज, 6 की मौत, 15 लोग ठीक हुए, मध्य प्रदेश में कोरोना से 155 लोग संक्रमित, 9 लोगों की मौत
  • यूपी में कोरोना के 174 मरीज, 19 लोग ठीक हुए, 2 लोगों की मौत
  • राजस्थान में कोरोना के 200 मरीज, 21 लोग इलाज के बाद ठीक हुए, अभी तक एक भी मौत नहीं
  • तेलंगाना में कोरोना के 158 मरीज, 7 लोगों की मौत, मात्र 1 ही इलाज के बाद ठीक हुआ
  • कर्नाटक में कोरोना के 128 मरीज और आंध्र प्रदेश में 161 लोगों में कोरोना वायरस का असर

Gold mines: सोनभद्र के खजाने से मालामाल होगा देश, सोने के अलावा यूरेनियम भी मिला

उत्तर प्रदेश का सोनभद्र जिला देश भर में चर्चा में है. यहां सोने की खदानें मिली हैं. इसके अलावा यहां पर यूरेनियम सहित और भी कई तरह के खनिज पदार्थ मिलने की संभावना जताई गई है. इतनी ज्यादा मात्रा में कीमती खनिज मिलने के कारण सोनभद्र पूरे देश की अमीरी का कारण बन सकता है.  

Gold mines: सोनभद्र के खजाने से मालामाल होगा देश, सोने के अलावा यूरेनियम भी मिला

सोनभद्र: उत्तर प्रदेश के पिछड़े इलाकों में शुमार होने वाले सोनभद्र जिला यानी रॉबर्ट्सगंज में कितना ज्यादा खजाना छिपा हुआ है. इसपर हर रोज नए खुलासे हो रहे हैं. ताजा खबर ये मिली है कि यहां सोने के अलावा बेहद कीमती यूरेनियम भी मौजूद है.

100 टन यूरेनियम मिलने की आशा
सोनभद्र में म्योरपुर ब्लॉक के लीलासी-सांगोबांध सड़क के बीच कुदरी पहाड़ी पर यूरेनियम का भंडार मिलने की आशा है. यहां पर लगभग 100 टन यूरेनियम मिलने की उम्मीद है. इसके लिए पहाड़ी पर कुछ जगह खुदाई का भी काम चल रहा है.
यूरेनियम परमाणु उर्जा का बड़ा स्रोत है. इसलिए कुदरी पहाड़ी पर केन्द्रीय परमाणु उर्जा विभाग की टीम सक्रिय रुप से यूरेनियम तलाश करने का काम कर रही है. इस इलाके में एयरो मैग्नेटिक सिस्टम के जरिए यूरेनियम की तलाश की जा रही है. इसके लिए हेलीकॉप्टरों को काम में लगाया जा रहा  है. ये हेलीकॉप्टर आसमान से मैग्नेटिक वेब्स की बौछार करके यूरेनियम के भंडारों की तलाश कर रहे हैं. अभी ये पता लगाया जा रहा है कि ये कीमती अयस्क जमीन के कितने अंदर मौजूद है.

देश की सबसे बड़ी सोने की खदान भी मिली
इसके पहले सोनभद्र जिले में सोन पहाड़ी पर एक किलोमीटर लंबी और 4 किलोमीटर चौड़ी जगह की पहचान हुई है. जहां पर सोने के अयस्क मौजूद हैं. इसके अलावा सोनभद्र के हरदी ब्लॉक में भी सोने के अयस्क होने के संकेत दिखाई दिए हैं. उम्मीद है कि सोनभद्र जिले में जमीन के अंदर 3000 टन सोना मौजूद है. यह भारत सरकार के गोल्ड रिजर्व से भी ज्यादा है. इस पूरे सोने का उत्खनन हो जाए तो देश काफी अमीर हो जाएगा.

और भी कई तरह की कीमती खजाने हैं सोनभद्र में
सोनभद्र जिले में जियोलॉजिकल सर्वे ऑफ इंडिया (GSI) की गतिविधियां बढ़ गई हैं. यहां सोने और यूरेनियम के अलावा अलग-अलग ब्लॉक में 90 टन एंडालुसाइट (Andalusite), नौ टन पोटाश (Potash), 18.87 टन लौह अयस्क (Iron ore) और करीब 10 लाख टन सिलेमिनाइट (Sillimanite) के भंडार की भी तलाश किए गए हैं.

खुदाई की राह में ये है बाधा
सोनभद्र में भले ही भारी मात्रा में कीमती धातुओं का पता चला है लेकिन खुदाई की प्रक्रिया अभी जारी नहीं हो सकती. क्योंकि जिन इलाकों में कीमती धातुओं का पता चला है वह जमीनें वन विभाग की हैं. इन जमीनों पर खुदाई करने से पहले वन विभाग को दूसरी जगह वन उगाने के लिए जमीन दी जानी जरुरी है. सरकार फिलहाल इसी कवायद में लगी हुई है.

ये भी पढ़ें--यूपी के सोनभद्र में मिला अरबों का सोना, नीलामी की तैयारी में सरकार

ये भी पढ़ें--सोनभद्र, उत्तर प्रदेश में जमीन के नीचे 15,000 अरब का सोना