PM Awas Yojana: कहीं इस वजह से तो नहीं अटक रही आपकी सब्सिडी, ऐसे चेक करें स्टेटस

PM Awas Yojana: पीएम आवास योजना के तहत ग्रामीण क्षेत्रों के लोगों को आवास के निर्माण के लिए एक तय राशि दी जाती है.  

Written by - Zee Hindustan Web Team | Last Updated : Sep 19, 2021, 10:00 AM IST
  • जानिए PM Awas का स्टेटस चेक करने का आसान तरीका
  • योजना का लाभ लेने के लिए सभी शर्तें पूरा करना है जरूरी
PM Awas Yojana: कहीं इस वजह से तो नहीं अटक रही आपकी सब्सिडी, ऐसे चेक करें स्टेटस

नई दिल्ली: PM Awas Yojana: प्रधानमंत्री आवास योजना के तहत आर्थिक रूप से कमजोर वर्ग (EWS) के लोगों को घर बनाने के लिए आर्थिक मदद दी जाती है. अगर आप भी इस योजना के अंतर्गत आते हैं, लेकिन आपके खाते में सब्सिडी नहीं आ रही है तो आपको अपना स्टेटस चेक करने की जरूरत है.

ये हैं योजना के नियम
दरअसल, पीएम आवास योजना के तहत ग्रामीण और शहरी इलाकों के लिए नियम अलग-अलग हैं. शहरी क्षेत्रों में जो लोग पहली बार घर खरीदते हैं या निर्माण करवाते हैं, उन्‍हें क्रेडिट लिंक्‍ड सब्सिडी (CLSS) मिलती है. 

वहीं, ग्रामीण क्षेत्रों के लोगों को एक तय राशि इस योजना के तहत आवास के निर्माण के लिए दी जाती है. आर्थिक रूप से कमजोर वर्ग (EWS) के लोगों की सालाना आमदनी 3 लाख रुपये से कम, निम्न आय वर्ग की सालाना आय 3-6 लाख और मध्यम आय वर्ग की सालाना आमदनी 6-12 लाख रुपये होनी चाहिए. वहीं, 12-18 लाख की आय वाले भी इस योजना का लाभ उठा सकते हैं. 

गलत जानकारी न दें
योजना के लिए आवेदन करते समय फॉर्म में गलत जानकारी भरने से भी सब्सिडी अटक जाती है. PM Awas Yojana का लाभ उठाने के लिए सबसे जरूरी शर्त यह है कि आवेदक पहली बार घर खरीद रहा हो. आवेदक की ओर से चुनी गई आय श्रेणी और उसकी वास्तविक आय श्रेणी में अंतर होने पर भी सब्सिडी नहीं जारी की जाती है. 

ऐसे चेक करें सब्सिडी का स्टेटस
सबसे पहले PM Awas Yojana की वेबसाइट https://pmaymis.gov.in/ पर जाएं.  इसके बाद 'Search Benefeciary' पर क्लिक करें. फिर आपको 'Search By Name' पर क्लिक करना होगा. यहां अपना नाम दर्ज करें. इसके बाद आपके नाम से मिलते-जुलते जितने आवेदन हुए हैं, उनकी लिस्ट स्क्रीन पर खुल जाएगी. इसमें आप अपना नाम चेक कर सकते हैं. 

Zee Hindustan News App: देश-दुनिया, बॉलीवुड, बिज़नेस, ज्योतिष, धर्म-कर्म, खेल और गैजेट्स की दुनिया की सभी खबरें अपने मोबाइल पर पढ़ने के लिए डाउनलोड करें ज़ी हिंदुस्तान न्यूज़ ऐप.  

ज़्यादा कहानियां

ट्रेंडिंग न्यूज़