close

खास खबरें सिर्फ आपके लिए...हम खासतौर से आपके लिए कुछ चुनिंदा खबरें लाए हैं. इन्हें सीधे अपने मेलबाक्स में प्राप्त करें.

विश्व खाद्य दिवस विशेष: अच्छा खाएं चैन से जिएं

आज हम ऐसे समाज में रह रहे जहां हर कोई अच्छा दिखना चाहता है. और कहा जाता है न आप फिट हो तभी आप हिट हो. फिट आप तब ही दिखते हो जब आप अपने खाने में हेल्दी आहार शामिल करते हो. बिना स्वास्थ्यप्रद आहार लिए कोई भी इंसान फिट नहीं दिख सकता.   

विश्व खाद्य दिवस विशेष: अच्छा खाएं चैन से जिएं

नई दिल्ली: आज 16 अक्टूबर है और पूरा विश्व इसे ''विश्व खाद्य दिवस'' के रूप में मनाता है. इसकी शुरूआत 16 अक्टूबर 1945 में संयुक्त राष्ट्र के द्वारा खाद्य एंव कृषि संगठन (FAO) के नाम से की गई. इसके स्थापना का एक मात्र उद्देश्य पूरी दुनिया में फैली हुई भूखमरी को खत्म करना था. इसके बाद से हर साल विश्व खाद्य दिवस मनाया जाता है. और इससे दुनिया भर के 150 से अधिक देश जुड़े हुए है. FAO का थीम हर साल अलग होता है. इसका थीम का चयन हर साल के खाद्य व विश्व के लोगों के स्वास्थ्य को देख कर निश्चय किया जाता है. और इस बार का थीम 'हमारे कार्य, हमारा भविष्य, जीरो हंगर के लिए हेल्दी डायट्स' रखा गया है.

भाग दौड़ भरी जिंदगी में नहीं रहता खाने पर ध्यान

थीम 'हमारे कार्य, हमारा भविष्य, जीरो हंगर के लिए हेल्दी डायट्स' से यह स्पष्ट है कि इस बार हमारे डायट पर विशेष ध्यान दिया गया है. आज के इस दौड़ भाग भरी जिंदगी में लोग अपने आहार पर ध्यान नहीं दे रहे हैं. लोग के आहार में हेल्दी फूड की जगह फास्ट फूड ने ले ली है. और लोग बहुत ही चाव से इसका आनंद ले रहे हैं. लेकिन यह फास्ट फूड कब जहर बन कर आपके शरीर को नुकसान पहुचाने लग जाए कुछ कहा नहीं जा सकता. पूरे विश्व के लोग मोटापा, BP, माइग्रेन जैसी बीमारियों से ग्रसित है. खास कर महिलाओं में मासिक का समय पर ना आना, असहनीय दर्द के काफी परेशानियां देखी जा रही है. और यह सारी परेशानियों की वजह हमारा आहार है. 

क्या करें आहार में शामिल

एक पोष्टिक आहार में आपको एक दिन में 400 mcg विटामिन, 150 mcg आयोडीन, आयरन 8mg पुरूषों के लिए और 18mg महिलाओं के लिए, फाइबर 25gm लेना चाहिए. वहीं फास्ट फूड में विटामिन, आयरन, मिनरल नहीं पाए जाते हैं फास्ट फूड केवल फाइबर से युक्त होता है और इसका सेवन करने से आप दिन भर में 150-200gm फाइबर का सेवन करते है जो हमारे स्वास्थ के लिए बहुत हानिकारक है.

भोजन से तय होता है स्वास्थ

अगर हम अपने आहार में पोषण युक्त भोजन को शामिल नहीं करेंगे तो आज नहीं तो भविष्य में हमें कई सारी परेशानियों का सामना करना पड़ सकता है. क्योंकि आज जिस आहार का सेवन हम कर रहे है वहीं कल हमारे स्वास्थ्य का निर्धारण करता है. एक बात बता दू कि सिर्फ कुपोषण से ग्रसित व्यक्ति ही अस्वस्थ नहीं होते बल्कि वो व्यक्ति भी अस्वस्थ की केटेगरी में आते है जो अपने आहार में पोषण से युक्त भोजन नहीं लेते हैं. इसलिए हमें अपने भोजन में फाइबर, विटामिन, आयरन, मिनरल से युक्त आहार को  ज्यादा से ज्यादा शामिल करना चाहिए. इसमें हम मौसमी फल, मोटे अनाज, हरी सब्जियां, दूध या दूध से बने आहार, ड्राई फ्रूट आदि शामिल करनी चाहिए. और इससे हम खुद को बीमारी से मुक्त रख सकते हैं. क्योंकि हम जानते है - स्वास्थ्य ही धन है.