close

खास खबरें सिर्फ आपके लिए...हम खासतौर से आपके लिए कुछ चुनिंदा खबरें लाए हैं. इन्हें सीधे अपने मेलबाक्स में प्राप्त करें.

सोमवार की दोपहर से जम्मू कश्मीर में बहाल होंगी मोबाइल सेवाएं

जम्मू कश्मीर में हालात तेजी से सामान्य होते जा रहे हैं. जिसे देखते हुए मोबाइल सेवा बहाल करने का फैसला किया गया है. सोमवार की दोपहर से मोबाइल पर से प्रतिबंध हटा लिया जाएगा. जिसके बाद राज्य के 40 लाख पोस्टपेड मोबाइल फोन चालू हो जाएंगे.   

सोमवार की दोपहर से जम्मू कश्मीर में बहाल होंगी मोबाइल सेवाएं
कश्मीर से हटेगा मोबाइल बैन

श्रीनगर : कश्मीर में जल्द ही मोबाइल सेवाएं चालू होगीं. जम्मू और कश्मीर के प्रधान सचिव रोहित कंसल ने शनिवार को कहा कि राज्य के 99 प्रतिशत में कोई प्रतिबंध नहीं है और सभी पोस्टपेड मोबाइल सेवाएं सोमवार को दोपहर 12 बजे से बहाल और कार्यात्मक होंगी। यह निर्णय कश्मीर प्रांत के सभी 10 जिलों में लागू होगा. 

कश्मीर में हालात की समीक्षा के बाद लिया गया फैसला
रोहित कंसल ने कहा, जम्मू और कश्मीर में स्थिति की समीक्षा करने के बाद, अब जम्मू-कश्मीर के शेष क्षेत्रों में मोबाइल फोन सुविधाओं को बहाल करने के लिए एक निर्णय लिया गया है। सभी पोस्ट-पेड मोबाइल फोन सोमवार 12 अक्टूबर को दोपहर 12 बजे से कार्य करेंगे। 

उड़ानें भी शुरू की गईं
मुख्य सचिव ने कहा कि जम्मू और कश्मीर के लिए उड़ानें फिर से शुरू की गई हैं. इस सप्ताह पर्यटकों के लिए यात्रा संबंधी एडवाइजरी को वापस ले लिया गया है. राज्य में पर्यटकों का स्वागत है.

5 अगस्त को मोबाइल सेवाएं बंद कर दी गई थीं
केंद्र सरकार के अनुच्छेद 370 को हटाए जाने के बाद जम्मू-कश्मीर में मोबाइल सेवाएं 5 अगस्त से बंद कर दी गईं थी। गौरतलब है कि अनुच्छेद 370 जम्मू-कश्मीर को विशेष राज्य का दर्जा देता था.

शांति बनाए रखने के लिए धन्यवाद
अनुच्छेद 370 को हटाए जाने के बाद घाटी में शांति बनाए रखने और सहयोग के लिए सरकार ने राज्य के लोगों का धन्यवाद दिया. मुख्य सचिव ने कहा, सरकार शांति बनाए रखने में मदद करने के लिए लोगों को धन्यवाद देती है.

आतंकियों ने व्यापारियों को व्यापार करने से रोका
प्रधान सचिव कांसल ने यह भी बताया कि 16 अगस्त से प्रतिबंधों को धीरे-धीरे हटाया गया है और सितंबर के पहले सप्ताह से अधिकांश प्रतिबंध हटा दिए गए थे। हालांकि व्यापार संचालन रोकने के दौरान आतंकवादियों द्वारा कुछ लोगों की हत्याएं और चोट की घटनाएं सामने आई हैं.