अगले पांच सालों में IT में निकलेगी 60 लाख से ज्यादा वेकेंसी

IT सेक्टर वालों के लिए बहुत बड़ी खूशखबरी है, जल्द ही इस सेक्टर में बंपर भर्तियां आने वाली है. दरअसल कर्नाटक कैबिनेट ने गुरुवार को वर्ष 2020-25 के लिए नई आईटी नीति को मंजूरी दी है.

अगले पांच सालों में IT में निकलेगी 60 लाख से ज्यादा वेकेंसी

बेंगलुरु: IT सेक्टर वालों के लिए बहुत बड़ी खूशखबरी है, जल्द ही इस सेक्टर में बंपर भर्तियां आने वाली है. दरअसल कर्नाटक कैबिनेट ने गुरुवार को वर्ष 2020-25 के लिए नई आईटी नीति को मंजूरी दी है.

इस सूचना प्रौद्यौगिकी की नई नीति का मकसद है राज्य में करीब 60 लाख से अधिक जॉब का अवसर पैदा करना, प्रत्यक्ष या अप्रत्यक्ष रूप से. कर्नाटक सरकार के मुताबिक इस नीति से देश के ट्रिलियन-डॉलर की डिजिटल अर्थव्यवस्था बनाने के लक्ष्य में IT उद्योग का योगदान लगभग 30 प्रतिशत तक  हो सकेगा. इतना ही नहीं सरकार के मुताबिक, यह नई नीति यह तय करेगी कि राज्य Innovation और टेक्‍नोलॉजी में अपने नेतृत्व की स्थिति को बरकरार रखे. इस नीति में स्थानीय उद्योग को प्रोत्साहन प्रदान करने के लिए बुनियादी ढांचा बढ़ाने और बेंगलुरु से दूर निवेश और विकास को प्रोत्साहित करने का सुझाव दिया गया है.

उत्तरप्रदेश: छात्रों के लिए जरूरी खबर, अब ये संस्था करायेगी सभी भर्ती परीक्षाएं, लिंक पर क्लिक कर पढ़ें पूरी खबर.

बता दें कि कर्नाटक को देश का IT केन्द्र कहा जाता है और इसकी राजधानी बेंगलुरु, दुनिया का चौथा सबसे बड़ा प्रौद्योगिकी क्लस्टर है. यह वर्ष 1997 में ही आईटी नीति तैयार करने वाला देश का पहला राज्य भी है, जिसने उद्योगों के विकास को गति दिया. कर्नाटक का IT उद्योग सबसे बड़े रोजगार पैदा करने वाले उद्योगों में से एक के रूप में उभरा है और 80 प्रतिशत वैश्विक IT कंपनियां यहां से अपना कारोबार करती हैं.  

सरकार का मानना है कि यह नीति, समग्र आर्थिक विकास की दिशा में गति बनाए रखने में मदद करेगी.