गेहूं-सरसों के लिए लाभदायक है बारिश, Delhi-NCR में 6 जनवरी तक भिगाएंगे बादल

इस समय खेतों में रबी की फसलें खड़ी हैं. गेहूं और सरसों के लिए पाला सबसे अधिक नुकसान दायक है. कृषि विशेषज्ञ इस बारे में कहते हैं कि इस बारिश की काफी जरूरत थी. इसके कारण एक तो सिंचाई की जरूरत पूरी हुई  है, दूसरी बड़ी बात है फसलों की वृद्धि के लिए यह बूंदें काफी लाभदायक होंगीं.

Written by - Zee Hindustan Web Team | Last Updated : Jan 4, 2021, 05:53 PM IST
  • किसानों को प्याज और गोभी की फसलों के ले भी निश्चिंत रहना चाहिए
  • गेहूं-सरसों के लिए भी बारिश लाभकारी है
  • सिंचाई के लिए किसानों को अतिरिक्त मेहनत नहीं करनी होगी
  • बारिश से अब फसलों में रोग लगने की आशंका काफी कम हो गई है
गेहूं-सरसों के लिए लाभदायक है बारिश, Delhi-NCR में 6 जनवरी तक भिगाएंगे बादल

नई दिल्लीः राष्ट्रीय राजधानी Delhi में आज-कल बादल घिरे हुए हैं. दो दिनों तक गिरी तेज बौछारों के बाद सोमवार को भी मौसम नम ही रहा. सुबह 10 बजे के बाद के सूर्य देव बादलों की ओट से निकले, लेकिन 2 बजते-बजते उन्होंने फिर से बादलों की पीछे ही राह ली. इस बीच और इसके बाद भी रह-रह कर बूंदा-बांदी होती रही.

कुल मिलाकर Delhi-NCR में 6 जनवरी तक मौसम का मिजाज ऐसा ही रहने वाला है. मौसम विभाग (IMD) ने इसे लेकर पूर्वानुमान जारी किया था. ठंड एक बार फिर से बढ़ेगी साथ ही इसी फुहारों के बीच दिल्ली की सीमा पर किसान भी आंदोलन में डटे हुए हैं. बात किसानों की निकलती है तो फसलों तक पहुंचती है.

ऐसे में सवाल उठता है इस बारिश का असर फसलों पर कैसा है? इस सवाल के जवाब से पहले बता दें कि हरियाणा-राजस्थान के इलाकों में किसान इस बारिश को बरसी मावठ या मावठ की बरसात कहते हैं. पुराने समय से मावठ की बरसात का किसानों को इंतजार रहा है. इसे फसलों के सुरक्षा चक्र के तौर पर देखा जाता है. 

फसलों के लिए अमृत है बारिश
इस समय खेतों में रबी की फसलें खड़ी हैं. गेहूं और सरसों के लिए पाला सबसे अधिक नुकसान दायक है. कृषि विशेषज्ञ इस बारे में कहते हैं कि इस बारिश की काफी जरूरत थी. इसके कारण एक तो सिंचाई की जरूरत पूरी हुई  है, दूसरी बड़ी बात है फसलों की वृद्धि के लिए यह बूंदें काफी लाभदायक होंगीं.

किसानों को अब पाला पड़ने की चिंता नहीं हैं. सरसों के लिए भी बारिश लाभकारी है. किसानों को प्याज और गोभी  की फसलों के ले भी निश्चिंत रहना चाहिए. इन सभी के लिए यह तीन दिन की बारिश लाभदायक होगी. इसके अलावा अन्य फसलों खासकर सब्जियां बोने वाले किसानों को थोड़ा सतर्क रहना चाहिए. 

इस बात की तस्दीक पूसा स्थित भारतीय कृषि अनुसंधान संस्थान की ओर से भी की गई है. यहां के कृषि वैज्ञानिकों की ओर से बताया गया कि सरसों के लिए बारिश अच्छी रही,  वहीं गेहूं की फसल को भी मजबूती मिली है. सिंचाई के लिए किसानों को अतिरिक्त मेहनत नहीं करनी होगी. बारिश से अब फसलों में रोग लगने की आशंका काफी कम हो गई है. हालांकि टमाटर और आलू के लिए यह बारिश खतरनाक हो सकती है. 

कम हुआ प्रदूषण, चैन की सांस ले रहे दिल्ली वाले 
बात अगर Delhi-NCR की करें तो January की यह बारिश दिल्ली वालों के लिए तो औषधि है. महीनों तक साफ हवा और स्वच्छ आसमान के लिए तरसने वाले दिल्ली वाले तीन दिन से खुली हवा में सांस ले रहे हैं.  NCR के प्रमुख शहरों- NOIDA, ग्रेटर नोएडा, Ghaziabad, Fareedabad में वायु प्रदूषण का स्तर सोमवार को काफी कम हो गया.

हवा की गुणवत्ता बेहतर होने से NCR के ज्यादातर शहर ‘Green Zone’ में रहे.  CPCB (केंद्रीय प्रदूषण नियंत्रण बोर्ड ) के SAMEER APP के अनुसार सोमवार को वायु गुणवत्ता सूचकांक (AQI) ग्रेटर नोएडा में 134, नोएडा में 136 और गाजियाबाद में 122 दर्ज किया गया. रविवार को दिल्ली का Air Index 343 दर्ज किया गया है था, जबकि एक दिन पहले ये 443 दर्ज किया गया था. 

इसलिए हो रही है बारिश
मौसम वैज्ञानिकों का कहना है कि इस बारिश का कारण पश्चिमी पहाड़ों पर सक्रिय पश्चिमी विक्षोभ तो है ही राजस्थान के ऊपर बना साइक्लोन सर्कुलेशन पर बना एक एंटी साइक्लोन भी इसका मुख्य कारण है. इससे दक्षिण पश्चिमी हवाओं के साथ अरब सागर से नमी आ रही है. दक्षिण पूर्वी हवा बंगाल की खाड़ी से नमी ला रही है.

जहां ये स्थिति दो दिन और बनी रहेगी. राजधानी दिल्ली में अब तक 39.8mm बारिश पिछले 48 घंटों में दर्ज की गई है.  Skymet के मुताबिक January में बारिश ने पिछले 20 साल का record तोड़ा है.  साल 2000 की सर्दियों में January में इतनी बारिश हुई थी.

यह भी पढ़िएः weather report: Delhi-NCR में 6 जनवरी तक भीगे मौसम का अनुमान

टीवी होगा आपकी मुट्ठी में. डाउनलोड करिए ज़ी हिंदुस्तान ऐप. जो आपको हर हलचल से खबरदार रखेगा.. नीचे के लिंक्स पर क्लिक करके डाउनलोड करें-

Android Link - https://play.google.com/store/apps/details?id=com.zeenews.hindustan&hl=en_IN

iOS (Apple) Link - https://apps.apple.com/mm/app/zee-hindustan/id1527717234

ज़्यादा कहानियां

ट्रेंडिंग न्यूज़