Surat: 20 साल बाद अदालत से बरी हुए 122 लोग, सिमी सदस्य होने का था आरोप

गुजरात में सूरत की एक अदालत ने साल 2001 से जेल में बंद 122 लोगों को बरी कर दिया है. इन सभी लोगों को UAPA कानून के तहत गिरफ्तार किया गया था.   

Written by - Zee Hindustan Web Team | Last Updated : Mar 7, 2021, 10:06 AM IST
  • 20 सालों में जेल में पांच लोगों की हुई मौत
  • प्रतिबंधित गतिविधियों को बढ़ावा देने का था आरोप
Surat: 20 साल बाद अदालत से बरी हुए 122 लोग, सिमी सदस्य होने का था आरोप

नई दिल्ली: गुजरात में सूरत की एक अदालत ने शनिवार को सुनवाई के दौरान पिछले 20 सालों से जेल में बंद 122 लोगों को बरी कर दिया है. 

इन सभी लोगों पर प्रतिबंधित संगठन स्टूडेंट इस्लामिक मूवमेंट ऑफ इंडिया (SIMI) का सदस्य होने का आरोप था. 

क्या था आरोप
शनिवार को अदालत से बरी हुए 122 लोगों पर दिसंबर, 2001 में हुई एक बैठक में शामिल होने का आरोप था.

सूरत की अठवालाइंस पुलिस ने 28 दिसंबर, 2001 को 127 लोगों को सिमी का सदस्य होने के आरोप में गैरकानूनी गतिविधियां रोकथाम अधिनियम (UAPA) के तहत गिरफ्तार किया था.

इस मामले में आरोपी 127 लोगों में से जेल में पांच लोगों की मौत हो गई. 

यह भी पढ़िए: IT Raid: क्यों परेशान हुए तापसी के ब्वॉयफ्रेंड मैथियास बोए, जानिए असली वजह

20 साल बाद बरी हुए आरोपी
साल 2001 में गिरफ्तार हुए 122 लोगों को शनिवार को सूरत की अदालत से रिहा कर दिया गया.

अदालत ने इन सभी लोगों को रिहा करते हुए कहा कि अभियोजन पक्ष बीते सालों में कोई भी ऐसा ठोस सबूत पेश करने में नाकाम रहा है कि आरोपी प्रतिबंधित संगठन स्टूडेंट इस्लामिक मूवमेंट ऑफ इंडिया (SIMI) से जुड़े हुए थे और प्रतिबंधित गतिविधियों को बढ़ावा देने के लिए एक स्थान पर जमा हुए थे. 

संतोषजनक सबूत नहीं मिलने पर किया बरी
केंद्र सरकार ने साल 2001 में स्टूडेंट इस्लामिक मूवमेंट ऑफ इंडिया पर प्रतिबंध लगा दिया था.

इसी साल इन 122 लोगों को प्रतिबंधित संगठन का हिस्सा होने के आरोप में गिरफ्तार किया गया था.

इन पर शहर के सगरामपुरा के एक हॉल में प्रतिबंधित संगठन की गतिविधियों को बढ़ावा देने वाली एक बैठक में शामिल होने का आरोप था. अदालत ने इन आरोपियों को संदेह का लाभ देते हुए इस मामले में बरी कर दिया है.

यह भी पढ़िए: UP: लालच से हारी मानवता, फटे पेट बच्ची को किया अस्पताल से बाहर

Zee Hindustan News App: देश-दुनिया, बॉलीवुड, बिज़नेस, ज्योतिष, धर्म-कर्म, खेल और गैजेट्स की दुनिया की सभी खबरें अपने मोबाइल पर पढ़ने के लिए डाउनलोड करें ज़ी हिंदुस्तान न्यूज़ ऐप. 

 

ज़्यादा कहानियां

ट्रेंडिंग न्यूज़