आराधना: नवरात्र के चौथे दिन कीजिए मां कुष्मांडा के भव्य स्वरूप के दर्शन

आज आराधना के नवरात्र स्पेशल में हम आपको मां के चौथे स्वरूप यानी मां कुष्मांडा के स्वरूप के दर्शन कराएंगे और कानपुर के पास बसे देवी के ऐसे धाम में लेकर चलेंगे जहां नवदुर्गा का सबसे अद्भुत और अलौकिक स्वरूप मां कुष्मांडा के रूप में विराजमान रहता है. मां कुष्मांडा, आदिशक्ति मां जगदम्बे का चौथा स्वरूप है. मां कुष्मांडा सृष्टि का आदि स्वरूप है. कहते हैं जब सृष्टि का अस्तित्व नहीं था. चारों ओर घना अंधेरा छाया था. तब देवी कुष्मांडा ने अपने हाथों से इस सृष्टि की रचना की थी. अष्टभुजा रूप में मां कुष्मांडा का रूप आठ दिशाओं को दर्शाता है. देखिए, आराधना...

आज आराधना के नवरात्र स्पेशल में हम आपको मां के चौथे स्वरूप यानी मां कुष्मांडा के स्वरूप के दर्शन कराएंगे और कानपुर के पास बसे देवी के ऐसे धाम में लेकर चलेंगे जहां नवदुर्गा का सबसे अद्भुत और अलौकिक स्वरूप मां कुष्मांडा के रूप में विराजमान रहता है. मां कुष्मांडा, आदिशक्ति मां जगदम्बे का चौथा स्वरूप है. मां कुष्मांडा सृष्टि का आदि स्वरूप है. कहते हैं जब सृष्टि का अस्तित्व नहीं था. चारों ओर घना अंधेरा छाया था. तब देवी कुष्मांडा ने अपने हाथों से इस सृष्टि की रचना की थी. अष्टभुजा रूप में मां कुष्मांडा का रूप आठ दिशाओं को दर्शाता है. देखिए, आराधना...