2019 के चुनावी दंगल में शह-मात का 'फिल्मी' दांव

क्या ये 2019 के चुनावी बिसात का फिल्मी एलान है या फिर अपने नाम की तरह एक्सीडेंटल? क्या ये भी संयोग है कि फिल्म उस घड़ी सिनेमाघरों में दस्तक देने जा रही है, जब आम चुनाव के प्रचार की धार तीखी होने को बेकरार होगी ?

क्या ये 2019 के चुनावी बिसात का फिल्मी एलान है या फिर अपने नाम की तरह एक्सीडेंटल? क्या ये भी संयोग है कि फिल्म उस घड़ी सिनेमाघरों में दस्तक देने जा रही है, जब आम चुनाव के प्रचार की धार तीखी होने को बेकरार होगी ?