चौक चौराहा : टिकैत के इलाके से पोल-खोल

पश्चिमी यूपी के किसानों को बीच कुलभाष्कर ओझा पहुंचे और वहां किसानों से आंदोलन पर उनकी राय जानी....ग्रेटर नोएडा के ज्यादातर किसान किसान आंदोलन को साज़िश मानते हैं और उनका कहना है कि किसानों को एसी, कूलर की जरूरत नहीं होती उन्हें गुमराह कर ,...उनको पैसे देकर टिकैत जैसे नेता अपनी राजनीतिक दुकानदारी चला रहे हैं.....किसानों का केवल इतना कहना है कि मोदी औ योगी जी को जिला स्तर पर कमेटी बनाकर किसानों को नए कानून के बारे में बताना और समझाना चाहिए...जिससे किसानों के मन में कानून को लेकर जो भ्रम है वो खत्म हो जाए....किसान फ्री-फ्री-फ्री सामान लेने के लिए नहीं हगै...वो भीख नहीं मांगता....उसको फ्री और सब्स

पश्चिमी यूपी के किसानों को बीच कुलभाष्कर ओझा पहुंचे और वहां किसानों से आंदोलन पर उनकी राय जानी....ग्रेटर नोएडा के ज्यादातर किसान किसान आंदोलन को साज़िश मानते हैं और उनका कहना है कि किसानों को एसी, कूलर की जरूरत नहीं होती उन्हें गुमराह कर ,...उनको पैसे देकर टिकैत जैसे नेता अपनी राजनीतिक दुकानदारी चला रहे हैं.....किसानों का केवल इतना कहना है कि मोदी औ योगी जी को जिला स्तर पर कमेटी बनाकर किसानों को नए कानून के बारे में बताना और समझाना चाहिए...जिससे किसानों के मन में कानून को लेकर जो भ्रम है वो खत्म हो जाए....किसान फ्री-फ्री-फ्री सामान लेने के लिए नहीं हगै...वो भीख नहीं मांगता....उसको फ्री और सब्सिडी के जाल से निकालकर उसे मजबूत बनाने के लिए सरकार को काम करना चाहिए....बस ईमानदारी की उम्मीद है....क्योंकि मेहनत किसान से ज्यादा कोई नहीं करता....

ट्रेंडिंग विडोज़