वंदे मातरम: क्या मतुआ समाज पर 'ममता' से 'दीदी' जीतेंगी West Bengal की सत्ता? | Mamata Banerjee

जैसे जैसे West Bengal Elections 2021 करीब आ रहे हैं Mamata Banerjee को शरणार्थियों की चिन्ता सता रही है, सत्ता में 10 साल से काबिज Mamata Banerjee को कभी हिन्दू शरणार्थियों की याद नहीं आई लेकिन अब ममता बनर्जी मतुआ समाज को लुभाने के लिए हर संभव प्रयास कर रही हैं लेकिन मतुआ को पसंद है मोदी

जैसे जैसे West Bengal Elections 2021 करीब आ रहे हैं Mamata Banerjee को शरणार्थियों की चिन्ता सता रही है, सत्ता में 10 साल से काबिज Mamata Banerjee को कभी हिन्दू शरणार्थियों की याद नहीं आई लेकिन अब ममता बनर्जी मतुआ समाज को लुभाने के लिए हर संभव प्रयास कर रही हैं लेकिन मतुआ को पसंद है मोदी

ट्रेंडिंग विडोज़