इस देश में कड़ाके की ठंड ने मचाया मौत का तांडव! मारे गए 124 लोग, हैरान कर देंगे आकड़े

अफगानिस्तान में कड़ाके की ठंड से 124 लोगों की मौत हो गई. तालिबान के नेतृत्व वाली सरकार ने मारे गए लोगों के आंकड़ों की पुष्टि की है.

Written by - Zee Hindustan Web Team | Last Updated : Jan 25, 2023, 09:41 AM IST
  • ठंड ने अफगानिस्तान में 124 लोगों को मार डाला
  • बचाव के लिए भेजे गए थे सैन्य हेलीकॉप्टर, लेकिन..
इस देश में कड़ाके की ठंड ने मचाया मौत का तांडव! मारे गए 124 लोग, हैरान कर देंगे आकड़े

नई दिल्ली: अफगानिस्तान में तालिबान के नेतृत्व वाली सरकार ने पुष्टि की है कि ठंड के मौसम के कारण देश भर में कम से कम 124 लोग मारे गए हैं. बीबीसी की रिपोर्ट के अनुसार, राज्य के आपदा प्रबंधन मंत्रालय के एक प्रवक्ता ने मौत की पुष्टि करते हुए कहा कि एक दशक की सबसे ज्यादा ठंड में लगभग 70,000 पशुधन भी मारे गए थे.

ठंड ने 124 लोगों को मार डाला
कार्यवाहक आपदा प्रबंधन मंत्री मुल्ला मोहम्मद अब्बास अखुंद ने बीबीसी को बताया कि अफगानिस्तान के कई इलाके अब बर्फ से पूरी तरह कट गए हैं. बचाव के लिए सैन्य हेलीकॉप्टर भेजे गए थे, लेकिन वे सबसे पहाड़ी क्षेत्रों में नहीं उतर सके.

अखुंद ने कहा कि अगले 10 दिनों के पूर्वानुमान से संकेत मिलता है कि तापमान गर्म रहेगा, लेकिन वह अभी भी अफगानों और उनके पशुओं की बढ़ती मौत के बारे में चिंतित था. मंत्री ने बीबीसी को बताया, ठंड से जान गंवाने वाले ज्यादातर लोग चरवाहे या ग्रामीण इलाकों में रहने वाले लोग थे. उनके पास स्वास्थ्य सेवा तक पहुंच नहीं थी. 

सरकार ने मंत्री ने जताई ये चिंता
उन्होंने आगे कहा, 'हम उन लोगों के बारे में चिंतित हैं जो अभी भी पर्वतीय क्षेत्रों में रह रहे हैं. पहाड़ों से गुजरने वाली अधिकांश सड़कें बर्फ के कारण बंद हो गई हैं. कारें वहां फंस गई हैं और ठंड के तापमान में यात्रियों की मौत हो गई है.'

इस साल के राहत कार्यों में पिछले महीने तालिबान सरकार द्वारा अफगान महिलाओं को सहायता एजेंसियों में काम करने पर रोक लगाने के फरमान से बाधा उत्पन्न हुई है.

इसे भी पढ़ें- बागेश्वर धाम के धीरेन्द्र शास्त्री को मिला चैलेंज, 'चमत्कार दिखाया तो दूंगा 5 करोड़ का इनाम'

Zee Hindustan News App: देश-दुनिया, बॉलीवुड, बिज़नेस, ज्योतिष, धर्म-कर्म, खेल और गैजेट्स की दुनिया की सभी खबरें अपने मोबाइल पर पढ़ने के लिए डाउनलोड करें ज़ी हिंदुस्तान न्यूज़ ऐप.

ज़्यादा कहानियां

ट्रेंडिंग न्यूज़