• 191 यात्रियों के साथ दुबई से करिपुर के लिए एयर इंडिया एक्सप्रेस का विमान दुर्घटनाग्रस्त हो गया, फायर टेंडर और एंबुलेंस मौके पर
  • केरल: कोझीकोड के करिपुर हवाई अड्डे पर उतरने के दौरान एयर इंडिया एक्सप्रेस का एक विमान रनवे से फिसल गया
  • कोरोना वायरस पर नवीनतम जानकारी: भारत में संक्रमण के सक्रिय मामले- 6,07,384 और अबतक कुल केस- 20,27,075: स्त्रोत PIB
  • कोरोना वायरस से ठीक / अस्पताल से छुट्टी / देशांतर मामले: 13,78,106 जबकि मरने वाले मरीजों की संख्या 41,585 पहुंची: स्त्रोत PIB
  • कोविड-19 की रिकवरी दर 67.62% से बेहतर होकर 67.98% पहुंची; पिछले 24 घंटे में 49,769 मरीज ठीक हुए

पाकिस्तान की अदालत में अमेरिकी नागरिक की हत्या, ट्रंप प्रशासन ने लगाई कड़ी फटकार

पाकिस्तान और उसकी कानून व्यवस्था का अंदाजा इसी बात से लगाया जा सकता है कि वहां की अदालत में जज के सामने मजहबी कट्टरपंथी किसी की भी हत्या कर देते हैं. अदालत में अमेरिकी नागरिक की हत्या ने पाकिस्तान को बेनकाब कर दिया है.

पाकिस्तान की अदालत में अमेरिकी नागरिक की हत्या, ट्रंप प्रशासन ने लगाई कड़ी फटकार

नई दिल्ली: इमरान खान के बदनाम और कुख्यात पाकिस्तान में कोई भी सुरक्षित नहीं है. हिंदुओं और सिखों पर अमानवीय अत्याचार करने वाले इस आतंकी मुल्क की अदालतों में भी कोई सुरक्षित नहीं है. जेहादियों के हाथ की कठपुतली बन चुकी इमरान सरकार को पूरी दुनिया के आगे फिर से शर्मसार होना पड़ा है.

अदालत में अमेरिकी नागरिक की निर्मम हत्या

पाकिस्तान की एक अदालत के अंदर अमेरिकी नागरिक ताहिर नसीम की हत्या कर दी गयी है. जेहादियों ने उस पर ईश निंदा करने का झूठा आरोप लगाया था लेकिन पाकिस्तान की अदालत भी उसे न्याय नहीं दे सकी. मजहबी कट्टरपंथी जेहादियों ने भरी अदालत में उसकी निर्ममतापूर्वक हत्या कर दी.

क्लिक करें- शराब नहीं मिलने पर पी लिया सेनिटाइजर, 9 लोगों की तड़पकर मौत

डोनाल्ड ट्रंप प्रशासन ने लगाई इमरान खान सरकार को फटकार

आपको बता दें कि अमेरिकी नागरिक की हत्या से अमेरिका का डोनाल्ड ट्रंप का पूरा प्रशासन बहुत आगबबूला है और उसने पाकिस्तान को कड़ी फटकार लगाई है. अमेरिका ने इस्लामाबाद से अपने ईशनिंदा कानूनों में सुधार करने और अपराधी को कड़ी सजा देने का आदेश दिया है.

पाकिस्तान में ईशनिंदा का आरोप बहुत गंभीर माना जाता है. पाकिस्तान के जेहादी और कट्टरपंथी नेता इस्लाम के नाम पर अल्पसंख्यक समुदाय को प्रताड़ित करते हैं और ईश निंदा कानून के फर्जी आरोप लगाकर उन पर आमानवीय अत्याचार करते हैं.

अमेरिकी विदेश मंत्रालय ने जताई नाराजगी

अमेरिकी विदेश विभाग के प्रवक्ता ने कहा कि हम इस बात से हैरान, दुखी और नाराज हैं कि अमेरिकी नागरिक ताहिर नसीम को एक पाकिस्तानी अदालत के अंदर मार दिया गया है. नसीम को लालच देकर इलिनोइस से पाकिस्तान बुलाया गया और उसे फंसाने के लिए ईशनिंदा कानूनों का इस्तेमाल किया गया. उन्होंने कहा कि पाकिस्तान को ऐसे अकल्पनीय त्रासदियों को रोकने के लिए निन्दा के आरोपी व्यक्तियों सहित धार्मिक अल्पसंख्यकों की रक्षा करनी चाहिए.