कहीं तस्करी के लिए तो नहीं लाए गए थे कंटेनर में 39 शव

बुधवार तड़के ब्रिटेन के एसेक्स शहर में एक कंटेनर में 39 शव मिले हैं. ब्रिटेन के प्रधानमंत्री बोरिस जॉनसन ने घटना पर दुख जताया है. उन्होंने कहा कि वह कोशिश कर रहे हैं कि सभी मृतकों की पहचान हो और उनके परिवार को इनकी मौत की सूचना मिल सके. वहीं इस मामले ने एक बार फिर वैश्विक मीडिया में मानव तस्करी की आशंका को फिर से खड़ा कर दिया है.

कहीं तस्करी के लिए तो नहीं लाए गए थे कंटेनर में 39 शव

नई दि्ल्लीः ब्रिटेन के एसेक्स शहर में 39 शवों से भरे मिले कंटेनर ने विश्व भर में तहलका मचा दिया है. बुधवार तड़के सामने आए इस कंटेनर में 38 शव वयस्कों के है, जबकि एक शव की उम्र नाबालिग के आसपास बताई जा रही है. मामले में पुलिस ने गाड़ी के ड्राइवर रॉबिन्सन को गिरफ्तार किया है और उससे पूछताछ जारी है. अंतराराष्ट्रीय मीडिया में खबर के फैलते ही एक बार फिर से विश्व स्तर पर मानव तस्करी के मामलों की चर्चा शुरू हो गई है. कयास लगाए जा रहे हैं कि एसेक्स में मिले शव भी कहीं इसी की कड़ी तो नहीं हैं. 

टेम्स नदी के पास से मिला शव 

39 शवों से भरा कंटेनर ट्रक टेम्स नदी के पास परफ्लीट पहुंचा था. पहले बताया गया था कि यह ट्रक बुल्गारिया से आया हो सकता है लेकिन बाद में यह कहा गया कि ट्रक को बेल्जियम से यूके लाया गया. बुल्गारिया के विदेश मंत्रालय के प्रवक्ता ने जारी बयान में कहा है कि यह गाड़ी बुल्गारिया में आयरलैंड मूल के एक व्यक्ति की कंपनी के नाम से रजिस्टर्ड है. उन्होंने यह भी कहा कि हो सकता है कि मृतकों में बुल्गारिया का कोई व्यक्ति न हो. गिरफ्तार ट्रक का चालक रॉबिन्सन भी उत्तरी आयरलैंड के आर्मगा काउंटी में पौर्टाडाउन से है. पुलिस उससे पूछताछ कर रही है. इधर उत्तरी आयरलैंड पुलिस ने भी गिरफ्त में लिए गए ड्राइवर से जुड़े दो ठिकानों आर्मगा काउंटी के मार्केटहिल और लॉरेलवेल में छापा मारा है. पुलिस के अनुसार कंटेनर खींचने वाली इस गाड़ी का पहला हिस्सा उत्तरी आयरलैंड से आया था और परफ्लीट नाम की जगह से कंटेनर गाड़ी पर लादा गया था. इसके बाद यह गाड़ी कंटेनर के साथ यहां से आगे बढ़ गई थी. इसके क़रीब आधे घंटे बाद ही ऐंबुलेंस स्टाफ़ ने गाड़ी के कंटेनर में 39 शव बरामद किए. पुलिस ने अपील की है कि अगर किसी के पास गाड़ी से जुड़ी कोई जानकारी हो तो वह संपर्क करें, इसके साथ ही नेशनल क्राइम एजेंसी ने मृतकों की पहचान में मदद के लिए अपने अधिकारियों को भेजा है. 

ब्रिटेन के पीएम ने जताया दुख 
इस घटना के सामने आने के बाद ब्रिटेन के प्रधानमंत्री ने दुख जताया है और इसे दिल दहलाने वाली घटना बताया है. उनका कहना है कि पहली प्राथमिकता है कि सभी मृतकों की पहचान सुनिश्चित कर उनके परिचितों को मौत की खबर देना है. बुधवार को संसद में किए गए सवालों के उत्तर में उन्होंने कहा, मैं इस मामले में जानकारी रख रहा हूं. मैं गृह मंत्रालय और एसेक्स पुलिस के साथ लगातार संपर्क में हूं. हम यह पता करने की कोशिश कर रहे हैं कि आख़िर हुआ क्या था. मामले में कंजर्वेटिव काउंसिलर जेम्स हेडन ने लोगों से अपील की है कि क्या हुआ इसके बारे में कहानियां बनाने से बचें.

इसलिए उठ रही है तस्करी की बात
जिस कंटेनर में शव मिले हैं वह एक वातानुकूलित कंटेनर हैं. पिछले काफी समय से तस्कर मानव तस्करी के लिए अधिक से अधिक खतरनाक तरीके अपना रहे हैं. इसके लिए उन्होंने अपना रास्ता भी बदला है. नेशनल क्राइम एजेंसी के मुताबिक तस्करों के लिए पानी का रास्ता तस्करी के लिए मुफीद साबित हो रहा है, वह लगभग सभी बंदरगाहों से इसे अंजाम दे रहे हैं. पिछले कई सालों तक फ्रांस शरणार्थी समस्या गुजर चुका है. ऐसे में इसका काले नाम का एक तटवर्ती कस्बा शरणार्थी केंद्र रहा है. यहां से अक्सर तस्करी के मामले सामने आते रहे हैं. वातानुकूलित कंटेनर में शव मिलने की वजह से कयास लग रहे हैं कि कहीं इन 39 लोगों की मौत के पीछे अंतरराष्ट्रीय तस्करों का हाथ तो नहीं हैं.