क्या धरती पर आ सकता है संकट? 24 जुलाई को पृथ्वी के बेहद करीब आ रहा है क्षुद्रग्रह

Asteroid to fly past Earth on July 24: का कहना है कि यह एक आदर्श लंबाई के स्टेडियम जितना बड़ा है या ऐसे समझ लीजिए कि ताजमहल के आकार से तीन गुना बड़ा है.

Written by - Zee Hindustan Web Team | Last Updated : Jul 21, 2021, 10:15 AM IST
  • वर्तमान में सौर मंडल में 1,097,106 ज्ञात क्षुद्रग्रह हैं
  • ताजमहल के आकार से तीन गुना बड़ा है क्षुद्रग्रह
क्या धरती पर आ सकता है संकट? 24 जुलाई को पृथ्वी के बेहद करीब आ रहा है क्षुद्रग्रह

नई दिल्लीः Asteroid to fly past Earth on July 24:आने वाली 24 जुलाई को अंतरिक्ष से पृथ्वी की ओर एक एस्टेरॉयड धरती के बेहद करीब से गुजरने वाला है. इसे लेकर NASA ने जानकारी शेयर की है. अमेरिकी अंतरिक्ष एजेंसी नासा ने कहा है कि ‘2008 GO20’ नाम का एक क्षुद्रग्रह 18,000 मील प्रति घंटे की रफ्तार से पृथ्वी की ओर बढ़ रहा है. हालांकि उन्होंने कहा कि इसे लेकर चिंता की बात नहीं है. 

धरती के पास से गुजरेगा क्षुद्रग्रह
हर बार की तरह यह हो सकता है कि इसकी दिशा किसी वायुमंडलीय प्रभाव के कारण पृथ्वी की ओर घूम सकती है. ऐसे में उन लोगों के लिए ये वाकई चिंता की बात है, जो किसी क्षुद्रग्रह के पृथ्वी से टकराव होने पर पृथ्वी पर होने वाले इसके नतीजे के बारे में सोचते हैं.

नासा के मुताबिक 24 जुलाई को क्षुद्रग्रह पृथ्वी के पास से गुजरेगा. अंतरिक्ष एजेंसी ने इसे अपोलो श्रेणी के क्षुद्रग्रह के रूप में वर्गीकृत किया है. 

पृथ्वी से है इतनी दूर
NASA का कहना है कि यह एक आदर्श लंबाई के स्टेडियम जितना बड़ा है या ऐसे समझ लीजिए कि ताजमहल के आकार से तीन गुना बड़ा है.
यह क्षुद्रग्रह पृथ्वी के बहुत करीब होगा, फिर भी NASA की गणना के अनुसार पृथ्वी से 0.04 au (खगोलीय इकाई) दूर होगा. यह 3,718,232 मील की दूरी पर है. इसकी दूरी को ऐसे समझिए कि चंद्रमा पृथ्वी से लगभग 238,606 मील की दूरी पर है.

नासा द्वारा दिए गए इंटरेक्टिव मानचित्र के अनुसार, क्षुद्रग्रह 2008 GO20 2,605,509 मील से अधिक के करीब नहीं आएगा. हालाँकि, इसे अभी भी नासा द्वारा पृथ्वी के निकट के दृष्टिकोण के कारण नियर अर्थ ऑब्जेक्ट के रूप में वर्गीकृत किया गया है.

यह भी पढ़िएः अरबपतियों में लगी अंतरिक्ष जीतने की RACE

क्षुद्रग्रह क्या हैं?
नासा के अनुसार, क्षुद्रग्रह "लगभग 4.6 अरब साल पहले हमारे सौर मंडल के प्रारंभिक गठन से बचे हुए चट्टानी अवशेष" हैं. वर्तमान में 1,097,106 ज्ञात क्षुद्रग्रह हैं. ये उल्काओं से भिन्न हैं, जो पदार्थ के छोटे पिंड हैं जो पृथ्वी के वायुमंडल में प्रवेश करते समय प्रकाश की एक लकीर के रूप में दिखाई देते हैं.

Zee Hindustan News App: देश-दुनिया, बॉलीवुड, बिज़नेस, ज्योतिष, धर्म-कर्म, खेल और गैजेट्स की दुनिया की सभी खबरें अपने मोबाइल पर पढ़ने के लिए डाउनलोड करें ज़ी हिंदुस्तान न्यूज़ ऐप.  

ज़्यादा कहानियां

ट्रेंडिंग न्यूज़