• प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने ट्रंप के भाषण के लिए अभिवादन किया
  • दो देशों के बीच संबंध का सबसे बड़ा आधार 'विश्वास' होता है: PM मोदी
  • बड़े लक्ष्य को हासिल करना ही New India की पहचान है: पीएम मोदी
  • PM मोदी ने कहा, 'व्हाइट हाउस में भी दिवाली मनाई जाती है'
  • सभी भारतीयों की ओर से राष्ट्रपति ट्रंप को धन्यवाद: पीएम मोदी
  • आतंकवाद को हराने में ट्रंप के नेतृत्व ने काफी मदद की: पीएम मोदी
  • अमेरिका भारत का सबसे बड़ा ट्रेड पार्टनर है: पीएम मोदी
  • डोनाल्ड ट्रंप ने इस्लामिक टेररिज्म को लताड़ लगाई
  • ट्रंप ने कहा, 'पाकिस्तान को आतंकवाद पर लगाम लगाना होगा'
  • आतंकवाद फैलाने वालों को भारी कीमत चुकानी पड़ेगी: ट्रंप

कोरोना वायरसः 24 घंटे में 106 हुई मृतकों की संख्या, वुहान में तालाबंदी का आलम

कोरोना वायरस इंसानी जीवन पर बहुत तेजी से हमला कर रहा था. चीन में सोमवार को इस संक्रमण से मरे लोगों की संख्या 80 तक पहुंची थी. 24 घंटे में यह आंकड़ा 100 पार कर गया और मृतकों की संख्या 106 हो गई. इसके पहले संक्रमित व्यक्तियों की संख्या 2000 थी, जो 24 घंटे में 3300 हो गई है, क्योंकि 1300 नए संक्रमित मरीज इस दौरान बढ़ गए हैं. 

कोरोना वायरसः 24 घंटे में 106 हुई मृतकों की संख्या, वुहान में तालाबंदी का आलम

नई दिल्लीः कोरोना वायरस बेहद तेजी से पैर पसार रहा है और चीन के सामने बड़ा संकट खड़ा हो गया है. नई जानकारी के मुताबिक चीन में इस संक्रमित वायरस से मरने वालों की संख्या मंगलवार सुबह तक 106 हो गई है. इसके साथ ही नए संक्रमित रोगियों की संख्या भी बढ़ी है. 24 घंटे में तकरीबन 1300 नए संक्रमित रोगियों की पहचान की गई है. यह समय चीन के लिए चिकित्सकीय आपातकाल का है. 

दूसरी ओर चीन की नेशनल हेल्थ कमीशन (NHC) ने सोमवार को यह कहकर विश्व भर की चिंता बढ़ा दी है कि वायरस के फैलने की क्षमता लगातार मजबूत हो रही है. और यह ताकतवर स्थिति में संक्रमण फैला रहा है. 

सोमवार तक हई थी 80 लोगों की मौत
कोरोना वायरस इंसानी जीवन पर बहुत तेजी से हमला कर रहा था. चीन में सोमवार को इस संक्रमण से मरे लोगों की संख्या 80 तक पहुंची थी. 24 घंटे में यह आंकड़ा 100 पार कर गया और मृतकों की संख्या 106 हो गई. इसके पहले संक्रमित व्यक्तियों की संख्या 2000 थी, जो 24 घंटे में 3300 हो गई है, क्योंकि 1300 नए संक्रमित मरीज इस दौरान बढ़ गए हैं. भारत के लिए सबसे बड़ी चिंता चीन में फंसे भारतीय छात्र और कामगार हैं. दरअसल संक्रमित शहर वुहान और हुबेई प्रांत में इस समय बंदी का दौर है. ऐसे में लोग संक्रमण के अलावा किल्लत की मुश्किलों से भी जूझ रहे हैं. 

भारत में हो रही है सक्रीनिंग
चीन में फैले वायरस का भारत में प्रवेश न हो सके इसके लिए, चीन से आने वाले समुद्री जहाजों के संबंध में अंतर्राष्ट्रीय बंदरगाहों पर प्रवेश करते वक्त स्क्रीनिंग शुरू कर दी गई है. इस बीच नेपाल सीमा से लगे 5 राज्यों में स्क्रीनिंग और तैयारी की समीक्षा के लिए केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय ने मुख्य सचिवों के साथ एक समीक्षा बैठक भी की. स्वास्थ्य मंत्रालय ने राज्यों के मुख्य सचिवों से कहा गया कि वे स्वास्थ्य कर्मियों के जरिये यात्रियों की सामुदायिक स्तरीय निगरानी सुनिश्चित को भी करें. उत्तराखंड की नेपाल-भारत सीमा पर सोमवार को इसके लिए तैयारियां की गई है. 

बिहार में भी कोरोना वायरस को लेकर मचा हड़कंप

संक्रमित शहर में तालाबंदी का माहौल
कैबिनेट सचिव की अगुवाई में हुई बैठक में लिए एक अहम फैसले के तहत वायरस प्रभावित वुहान शहर में मौजूद भारतीय नागरिकों की संभावित निकासी के लिए भी तैयारी शुरु करने का फैसला लिया गया. इस कड़ी में नागरिक उड्डयन मंत्रालय और केन्द्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय को क्रमशः यातायात और क्वारन्टीन की सुविधाएं सुनिश्चित करने को कहा गया है. इसके अधार पर विदेश मंत्रालय चीनी अधिकारियों से आग्रह करेगा.

वायरस संक्रमण का केंद्र कहलाने वाले वुहान शहर में ही करीब 200 भारतीय नागरिक मौजूद हैं. जिनमें बड़ी संख्या छात्रों की है. वुहान समेत हुबेई प्रांत के कई शहरों सार्वजनिक यातायात बंद हैं. संक्रमण न फैले इसके लिए छात्रों समेत सभी नागरिकों को घरों में ही रहने को कहा गया है. 

कोरोना वायरसः चीन में मौत का आंकड़ा 80 पहुंचा, 2000 से अधिक संक्रमित