'अमेरिका में अश्वेतों के लिये अब्राहम लिंकन के बाद मैंने किया सबसे अधिक काम'

अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप राजनीतिक रूप से अमेरिका में अपने जीवन में सबसे चुनौतीपूर्ण समय गुजर रहे हैं. एक कोरोना वायरस कहर बरपा रहा है तो दूसरी तरफ भीषण हिंसा ने उनके प्रशासन की पोल खोल दी है.

'अमेरिका में अश्वेतों के लिये अब्राहम लिंकन के बाद मैंने किया सबसे अधिक काम'

नई दिल्ली: अमेरिका इस समय दो दो संकटों का सामना कर रहा है. एक तरफ अमेरिका में कोरोना संक्रमण से हाहाकार मचा हुआ है तो वहीं दूसरी तरफ भीषण दंगों की आग में भी अमेरिका झुलस रहा है. अमेरिका में अश्वेत नागरिक जॉर्ज फ्लॉयड की पुलिस के हाथों मौत के बाद 8 दिन से प्रदर्शन जारी है. आगामी राष्ट्रपति चुनावों को देखते हुए डोनाल्ड ट्रंप अब डैमेज कन्ट्रोल में लगे हैं. उन्होंने अश्वेतों का गुस्सा कम करने के लिए कहा कि देश में अब्राहम लिंकन के बाद उन्होंने ही अश्वेतों के लिए सबसे अधिक काम किया है. ट्रंप का ये बयान बहुत मायने रखता है. कई शहरों में कर्फ्यू होने के बावजूद हिंसा और आगजनी जारी है.

डोनाल्ड ट्रंप ने गिनाए अपने काम

अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप ने अश्वेतों के लिये किये गए अपने कामों को भी गिनाया. उन्होंने कहा कि मेरी सरकार ने अश्वेतों के कॉलेजों के लिए फंड की गारंटी दी और क्रिमिनल जस्टिस रिफॉर्म लाया गया.  देश में अश्वेतों में बेरोजगारी, गरीबी और अपराध दर सबसे कम है. डोनाल्ड ट्रंप ने डेमोक्रेट्स के जो बिडेन पर पिछले 40 साल में अश्वेतों के लिए कुछ भी नहीं करने का आरोप भी लगाया.

40 शहरों में लगाना पड़ा कर्फ्यू

आपको बता दें कि प्रदर्शन को देखते हुए देश के 40 शहरों में कर्फ्यू लगाया गया है. लॉस एंजिल्स में कर्फ्य लागू होने और नेशन गार्ड्स की मौजूदगी के बावजूद शांतिपूर्ण ढंग से प्रदर्शन किया गया.  विरोध कर रहे लोग पुलिस मुख्यालय और सिटी हॉल के सामने भारी संख्या में जुटे.  प्रदर्शन के दौरान लॉस एंजिल्स के मेयर एरिक गार्केटी सम्मान में घुटनों के बल बैठे नजर आए. पोर्टलैंड में 10 हजार से ज्यादा लोगों ने प्रदर्शन किया. इस बीच सिएटल ने कर्फ्यू 6 जून तक बढाने की घोषणा की.

ये भ पढ़ें- लद्दाख सीमा विवाद: 6 जून को भारत- चीन के बीच होगी कमांडर स्तर की वार्ता

अमेरिका में भड़के अश्वेत

आपको बता दें कि अमेरिका में अश्वेत व्यक्ति जॉर्ज फ्लॉयड की मौत और पुलिस के हाथों अन्य अश्वेत लोगों की हत्या के विरोध में चल रहे प्रदर्शनों की आंच शनिवार को न्यूयॉर्क से लेकर टुल्सा और लॉस एंजिलिस तक फैल गई. प्रदर्शनकारियों ने पुलिस की कारों में आग लगा दी थी. अश्वेत फ्लॉयड की मौत के बाद मिनीपोलिस में शुरू हुए प्रदर्शन ने शहर के कई हिस्सों में जनजीवन अस्त-व्यस्त कर दिया, इसमें इमारतों को जला दिया और दुकानों में लूटपाट की थी.