डोनाल्ड ट्रंप बोले, 'भारत और चीन के बीच सरहद पर तनाव बहुत गंभीर'

अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप ने भारत और चीन के बीच बरकरार तनाव पर बहुत अहम टिप्पणी की है. उन्होंने कहा कि वे दोनों देशों के संपर्क में हैं और दोनों देशों में तनाव बहुत गंभीर है.

डोनाल्ड ट्रंप बोले, 'भारत और चीन के बीच सरहद पर तनाव बहुत गंभीर'

नई दिल्ली: भारत और चीन के सैनिकों के बीच हुई हिंसक झड़प का असर पूरी दुनिया पर पड़ रहा है. अमेरिका के विदेश मंत्रालय के बाद अब खुद राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप ने इस विवाद पर बयान दिया है. दुनिया के कई देश चीन के महापाप और कुकृत्य की भर्त्सना कर रहे हैं. डोनाल्ड ट्रंप ने भारत और चीन के बीच तनाव को दुनिया के लिए हानिकारक बताते हुए इस पर टिप्पणी की है. प्रेस कॉन्फ्रेंस में अमेरिकी राष्ट्रपति से भारत और चीन के बीच चल रहे सीमा विवाद और गतिरोध पर सवाल पूछा गया.

दोनों देशों में हालात बहुत तनावपूर्ण- डोनाल्ड ट्रंप

अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप ने एक सवाल के जवाब में कहा कि भारत और चीन के बीच हुई हिंसक झड़प की खबर सुनकर मैं भी बहुत चिंतित हुआ. अमेरिकी राष्ट्रपति ने कहा कि यह बहुत मुश्किल स्थिति है. हम भारत से बात कर रहे हैं और हम चीन से भी बात कर रहे हैं. उनके बीच बड़ी समस्या हो गई है. उनके बीच झड़प हो रही है. हम देखेंगे कि क्या कर सकते हैं. हम उन्हें मदद करने की कोशिश कर रहे हैं. आपको बता दें कि अमेरिका की ओर से पहले मध्यस्थता करने की अफवाहें भी खूब चर्चित हुई थी हालांकि बाद में खुद व्हाइट हाउस ने इन खबरों का खंडन कर दिया था.

अमरीकी विदेश मंत्री भारत के शहीद जवानों को दे चुके श्रद्धांजलि

अमेरिकी विदेश मंत्री माइक पोम्पिओ ने लद्दाख हिंसा में शहीद हुए भारतीय सैनिकों के प्रति गहरी संवेदना व्यक्त की थी. उन्होंने कहा कि हम हाल ही में चीन के साथ हुई हिंसक झड़प में शहीद भारतीयों के प्रति अपनी संवेदनाएं व्यक्त करते हैं. हम शहीद सैनिकों के परिवारों को हमेशा याद रखेंगे. इस दुःख की घड़ी में हम उनके साथ हैं.

चीन को भारत ने दिया था करारा जवाब

आपको बता दें कि भारत और चीन के सैनिकों के बीच 15 जून को हिंसक झड़प हुई थी तब चीन ने धोखेबाजी की थी. चीन के पापपूर्ण कृत्य का करारा जवाब देते हुए भारत के पराक्रमी सैनिकों ने चीन के 43 से अधिक सैनिकों को ढेर कर दिया था. दूसरी तरफ भारत के 20 जवान वीरगति को प्राप्त हो गए थे. चीन के कुकृत्यों के खिलाफ दुनियाभर से आवाज उठ रही है.

ये भी पढ़ें- देश में लगातार पुराने रिकॉर्ड तोड़ रहा कोरोना वायरस,4 लाख के पार हुए मरीज

आपको बता दें कि कुछ दिन पहले ये चर्चा तेज हो गयी थी कि अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप भारत और चीन के बीच विवाद में मध्यस्थता करना चाहते हैं. इन खबरों का खंडन करते हुए व्हाइट हाउस ने कहा कि अमेरिका के राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रम्प पूर्वी लद्दाख में भारतीय एवं चीनी बलों के बीच हुई झड़प से अवगत हैं लेकिन उन्होंने दोनों देशों के बीच मध्यस्थता करने की कोई इच्छा नहि जताई है.