• चीन भारत की बातचीत में भारत का नेतृत्व लेह स्थित 14वीं कोर के जनरल कमांडिंग ऑफिसर लेफ्टिनेंट जनरल हरिंदर सिंह ने की
  • सूत्रों के अनुसार, 'चीन की तरफ से तिब्बत मिलिटरी डिस्ट्रिक्ट के कमांडर ने अगुआई की'
  • लेफ्टिनेंट जनरल स्तर की बातचीत से पहले स्थानीय कमांडरों के स्तर पर दोनों सेनाओं के बीच 12 राउंड बातचीत हो चुकी है
  • देश में कोविड-19 से सक्रिय मरीजों की संख्या 1,15,942 पहुंची, जबकि संक्रमण के कुल मामले 2,36,656: स्त्रोत-PIB
  • कोरोना से ठीक होने वाले लोगों की संख्या- 1,14,072 जबकि अबतक 6,642 मरीजों की मौत: स्त्रोत-PIB
  • पिछले 24 घंटों में कुल 1.37 लाख कोरोना के नमूनों की जांच की गई. कुल परीक्षणों की संख्या 45.34 लाख से ज्यादा(ICMR)
  • कोविड-19 महामारी के बीच प्रधानमंत्री स्वनिधि योजना से स्ट्रीट वेंडर्स को किफायती ऋण दिया जाएगा.
  • 6 मई से अब तक वंदे भारत मिशन के तहत करीब 64,000 लोगों को वापस लाया गया
  • आईएनएस जलाश्व के माध्यम से मालदीव और श्रीलंका से 2,700 भारतीय नागरिकों को स्वदेश वापस लाया गया
  • कोविड-19 के लक्षण दिखाई देने पर घबराएं नहीं, तुरंत 1075 डायल करें.

इंग्लैण्ड की सेना ने तैयार किया फटाफट कोरोना हॉस्पिटल

कोरोना वायरस संक्रमण में यूरोप का पांचवां बड़ा केंद्र है इंग्लैण्ड. समझदारी दिखाते हुए ब्रिटिश सरकार ने सेना को कोरोना अस्पताल बनाने की जिम्मेदारी सौंपी और सेना ने तैयार कर दिया दस दिन में 4000 बेड वाला हॉस्पिटल..

इंग्लैण्ड की सेना ने तैयार किया फटाफट कोरोना हॉस्पिटल

नई दिल्ली: ब्रिटिश सरकार भी कम घबराई हुई नहीं है. कोरोना के ऑउटब्रेक ने देश की बुरी हालत कर रखी है. इसलिए सरकार को कोरोना वायरस मरीजों के इलाज के लिए सेना बुलाकर अस्पताल बनाने की जिम्मेदारी सौंपनी पड़ी और सरकार का पूरी तत्परता से कोरोना के खिलाफ जंग में साथ निभाया देश की सेना ने.

10 दिनों में  तैयार कर दिया अस्पताल

इधर ब्रिटिश सरकार ने आदेश दिया और उधर सेना ने काम शुरू किया. दस दिन में सेना ने जो अस्पताल तैयार कर दिया उसे देख कर देखने वालों ने दांतों तले ऊँगली दबा ली. इस 4000 बेड का इमरजेंसी हॉस्पिटल को नाइटेंगल हॉस्पिटल नाम दिया गया है. अब किसी भी दिन से इस हॉस्पिटल में कोरोना मरीजों का इलाज शुरू भी हो सकता है.

लंदन में बना है अस्पताल

कोरोना के मरीजों के लिए बना ये विशेष अस्पताल राजधानी लंदन में बनाया गया है. पूर्वी लंदन के डॉकलैंड जिले में एक्सेल कन्वेंशन सेंटर को सरकार से अनुमति ले कर सेना ने अस्पताल में बदल दिया है. इस कोरोना हॉस्पिटल में दो-दो हजार बेड वाले दो वार्ड बनाए गए हैं. इससे पहले इसी तरह त्वरित गति से चीन ने भी 10 दिन में एक हजार बेड का हॉस्पिटल बनाया था.

कर्नल एश्लेग बोरेम ने किया नेतृत्व

इस कोरोना अस्पताल का सफलतापूर्वक निर्माण का श्रेय दिया गया है कर्नल एश्लेग बोरेम के नेतृत्व को. कर्नल एशलेग बोरेम ने कहा है कि उन्होंने इस हॉस्पिटल का निर्माण अपनी जिंदगी का सबसे बड़ा मिशन बना लिया था.

इसे भी पढ़ें: पाकिस्तान में हिंदुओं को भूखा मारना चाहती है इमरान की 'नियाजी सरकार'

कर्नल एशलेग ने ब्रिटेन की नेशनल हेल्थ सर्विस को इस प्रोजेक्ट की सफलता का श्रेय दिया. और कहा की एनएचएस के नेतृत्व में ही यह मुश्किल कार्य सम्भव हो सका है.

इसे भी पढ़ें: अमेरिका के इतिहास में 100 साल की सबसे बड़ी त्रासदी

इसे भी पढ़ें: कोरोना 'काल' में तबलीगी जमात का 'विश्वासघात'! पढ़ें, कार्रवाई का पूरा UPDATE