गुटेरस बोलेः तनाव घटाएं, क्योंकि दुनिया एक और युद्ध नहीं देख सकती

जनरल कासिम सुलेमानी की हत्या के बाद अमेरिका और ईरान में लगातार हमले जारी हैं. यूएन के प्रवक्ता स्टीफन दुजारिक ने गुटेरस का यह बयान जारी किया. बयान के अनुसार, गुटेरस ने पूरे खाड़ी क्षेत्र में तनाव बढ़ने के बाद सभी से शांति बनाए रखने की अपील की है. उन्होंने वैश्विक नेताओं को अपना चार सूत्री संदेश दोहराते हुए कहा, तनाव खत्म करें. 

गुटेरस बोलेः तनाव घटाएं, क्योंकि दुनिया एक और युद्ध नहीं देख सकती

नई दिल्लीः अमेरिका-ईरान के तनाव के बीच सबसे जरूरी बयान सामने आया है. यह बयान संयुक्त राष्ट्र के प्रमुख एंटोनियो गुटेरस का है. उन्होंने दोनों पक्षों की ओर से जारी तनातनी के बीच कहा कि दुनिया एक और युद्ध नहीं झेल सकती है. उन्होंने कहा, वह तनाव को कम करने और जंग को रोकने के लिए संबंधित देशों से अपनी बातचीत जारी रखेंगे.

युद्ध से बचने की जरूरत
जनरल कासिम सुलेमानी की हत्या के बाद अमेरिका और ईरान में लगातार हमले जारी हैं. यूएन के प्रवक्ता स्टीफन दुजारिक ने गुटेरस का यह बयान जारी किया. बयान के अनुसार, गुटेरस ने पूरे खाड़ी क्षेत्र में तनाव बढ़ने के बाद सभी से शांति बनाए रखने की अपील की है. उन्होंने वैश्विक नेताओं को अपना चार सूत्री संदेश दोहराते हुए कहा, तनाव खत्म करें. अधिक से अधिक संयम बरतें. बातचीत फिर शुरू करें और अंतरराष्ट्रीय सहयोग को नए सिरे से बढ़ाएं. गुटेरस ने कहा, खाड़ी में युद्ध से बचने के लिए हर संभव प्रयास करना हमारा सामान्य कर्तव्य है जिसे दुनिया झेल नहीं सकती. 

अमेरिकी पाबंदी को खारिज करते हैं: ईरान
हमें युद्ध के कारण होने वाली भयानक मानवीय पीड़ा को नहीं भूलना चाहिए. हमेशा की तरह, आम लोग सबसे ज्यादा कीमत चुकाते हैं. संयुक्त राष्ट्र में ईरान के राजदूत माजिद तख्त रावंची ने अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप के बयान पर पलटवार करते हुए कहा, ईरान अमेरिकी पाबंदी को खारिज करता है. ईरानी राजदूत का यह बयान ट्रंप के उस बयान के बाद आया है, जिसमें उन्होंने ईरान पर और कड़े प्रतिबंधों लगाने की बात कही थी. 

अल असद बेस की सैटेलाइट तस्वीरें सामने आईं
प्लेनेट लैब इंक की ओर से इराक स्थित अमेरिका के अल असद एयरबेस की दो सैटेलाइट तस्वीरें साझा की गई हैं, जिसमें ईरानी मिसाइल के हमले का असर दिखाया गया है. बगदाद में मौजूद अमेरिका के अल असद एयरबेस की कुल सात इमारतों को नुकसान पहुंचा है. इसमें कुछ इमारतें ऐसी हैं जिनको सर्वाधिक नुकसान हुआ है. 

अमेरिका से तनाव के बीच भूकंप के झटकों से सहमा ईरान