कैसे रुकेगा कोरोना का कहर? पढ़िए, वर्ल्ड रिपोर्ट

हर कोई कोरोना नाम की महामारी से परेशान है. तो फिर सवाल ये उठता है की कोरोना का ये कहर रुकेगा कैसे? दुनिया के हालात कैसे हैं. अलग-अलग शहरों से इस वर्ल्ड रिपोर्ट के आपको समझाते हैं...

कैसे रुकेगा कोरोना का कहर? पढ़िए, वर्ल्ड रिपोर्ट

नई दिल्ली: चिंता की बात यही है की कोरोना के मामले पूरी दुनिया में बजाय कम होने के तेजी से बढ़ रहे हैं. लॉकडाउन यकीनन दुनिया के अलग अलग शहरों में लागू है. लेकिन जो बात WHO ने कही है कि सिर्फ लॉकडाउन ही इसका इलाज नहीं है. वायरस पर अटैक करने की जरूरत है.

वुहान, चीन

जिस वुहान से कोरोना वायरस फैला था वो वुहान आज आज ऐसा दिखाई देता है. वुहान में सब वे ट्रेन शुरू हो गई हैं. वुहान से फ्लाइट सेवा भी 8 अप्रैल से शुरू हो जाएगी. हांलाकि अंतर्राष्ट्रीय फ्लाइट और बीजिंग के लिए फ्लाइट अभी शुरू नहीं होंगी.

गोल्ड कोस्ट, ऑस्ट्रेलिया

ऑस्ट्रेलिया के गोल्ड कोस्ट में ड्रोन के जरिए एनाउंसमेंट की जा रही है. हेल्थ वर्कर ड्रोन के जरिए लोगों को टेस्ट को लेकर जागरूक कर रह हैं. ड्रोन से पानी का भी छिड़काव किया है. इस ड्रोन से डिसइनफेक्टेंट का भी छिड़काव किया जा सकता है. ऑस्ट्रेलिया में कोरोना के मामले साढ़े पांच हजार के पास पहुंच गए हैं.

स्पेन

कोरोना वायरस का कहर जिस चीन से शुरू हुआ था वहां स्थिति कुछ सुधरी है. लेकिन अब यूरोप से लेकर अमेरिका तक कोरोना ने लाशों की ढेर लगा दी है. सबसे ज्यादा तबाही इटली में मची है जहां अब तक 13 हजार 915 लोगों की जान कोरोना ने ले ली है. स्पैनिश मिलिट्री यूनिट के सैनिकों, फायरफाइगर और सबडेल के सिटी हॉल के कर्मचारियों नेकैटलान शहर सैबाडेल में कोरोनोवायरस रोगियों के लिए एक आपातकालीन अस्पताल स्थापित किया है. स्पेन में कोरोना वायरस के कहर को देखते हुए सेना ने देश भर में 16 आपातकालीन अस्पताल बनाए हैं.

फ्रांस

कुछ मुल्कों में तो कोरोना से हर रोज 500 से 1000 और यहां तक कि उससे भी ज्यादा मौतें दर्ज हो रही हैं जो चिंता का सबब हैं. फ्रांस में कोरोना वायरस का कहर लगातार बढ़ता जा रहा है. यहां पर अब तक 59105 मामले सामने आ चुके हैं. इसकी वजह से यहां पर अब तक 5387 लोगों की जान इस वायरस से संक्रमित होने के बाद जा चुकी है. इस बीच 12428 मरीज ठीक भी हुए हैं.

कोरोना का इतना बड़ा खतरा होने के बाद भी यहां पर लोग इसको लेकर गंभीर नहीं दिखाई दे रहे हैं. सड़कों पर बेवजह घूमते लोग यहां अब भी प्रशासन के लिए सबसे बड़ा खतरा बन चुके हैं. इतना ही नहीं इनमें से सैकड़ों ऐसे लोग हैं जिनपर दो से अधिक बार जुर्माना लगाया जा चुका है.

ब्राजील

कोरोना वायरस ने जिस तेजी से अपने पांव पसारने शुरू किए हैं वो वाकई दहशत पैदा करने के लिए काफी हैं. ब्राजील में लाशों को दफ्नाने के लिए कब्रें खोदी जा रही हैं, यहां हर रोज 60 शवों को दफ्न किया जा रहा है ब्राजील में कोरोना ये मौतों का आंकड़ा तेज़ी बढ रहा है.

इसे भी पढ़ें: ऑस्ट्रेलिया के पीएम ने कहा चीन का मांस बाज़ार है मुसीबत की जड़

इसे भी पढ़ें: कोरोना-काल में भारत को राहत की 5 बड़ी वजहें