close

खास खबरें सिर्फ आपके लिए...हम खासतौर से आपके लिए कुछ चुनिंदा खबरें लाए हैं. इन्हें सीधे अपने मेलबाक्स में प्राप्त करें.

इमरान बोले-नहीं दूंगा इस्तीफा, विपक्ष निकालेगा आजादी मार्च

दुनियाभर में हर मोर्चे पर घिरी पाकिस्तान की इमरान सरकार की अपने ही देश में मुश्किलें कम नहीं हैं. विपक्ष लगातार उन पर इस्तीफे का दबाव बना रहा है साथ ही मौलानाओं का भी विरोध पाकिस्तान सरकार को झेलना पड़ रहा है. ऐसे में पाक प्रधानमंत्री इमरान खान ने कहा है कि वह इस्तीफा नहीं देंगे. 

इमरान बोले-नहीं दूंगा इस्तीफा, विपक्ष निकालेगा आजादी मार्च

नई दिल्लीः पाक प्रधानमंत्री इमरान चुनाव में गड़बड़ी करके सत्ता पर काबिज होने का आरोप में लगातार घिरते जा रहे हैं. बुधवार को उन्होंने विरोध जता रहे विपक्ष के नेता जमीयत उलेमा इस्लाम फज्ल और मौलानाओं को उनके विरोध पर जवाब दिया.  प्रधानमंत्री इमरान खान ने कहा कि मौलानाओं की समस्या और विपक्ष का एजेंडा समझ से परे है. वह किसी के दबाव में इस्तीफा नहीं देंगे. दुनिया भर में कई मोर्चों पर घिरी पाकिस्तान सरकार के लिए उसके इस घरेलू कलह ने परेशानी और भी बढ़ा दी है.

विपक्ष ने इमरान सरकार के खिलाफ विरोध जताते हुए आजादी मार्च निकालने का ऐलान किया है. इमरान ने प्रेस कॉन्फ्रेंस में कहा, ‘‘मेरे इस्तीफा देने का सवाल नहीं है और मैं इस्तीफा दूंगा भी नहीं. विपक्ष और मौलानाओं का धरना एक साजिश है, जिसे विदेशी नेताओं का समर्थन मिल रहा है. प्रधानमंत्री इमरान खान ने कहा कहा कि जेयूआई-एफ के विरोध से भारत में खुशी का माहौल है. बैठक में इमरान खान ने स्वीकार किया कि महंगाई और बेरोजगारी एक बड़ी समस्या है, जिसे उनकी सरकार सुलझाने की कोशिश कर रही है.आये दिन विपक्षी पार्टी इमरान खान पर निशाना साधती रहती हैं और अब इमरान खान की सत्ता को पलटने के लिए विपक्षी दलों ने आजादी मार्च निकालने की घोषणा की है. बताया जा रहा है कि इससे निपटने के लिए पाकिस्तान सरकार इस्लामाबाद में सेना को बुला सकती है.

फर्जी चुनाव से सरकार बनाने का आरोप
इमरान ने कहा, ‘‘मुझे मौलानाओं की समस्या और विपक्ष का एजेंडा बिल्कुल समझ नहीं आता. विपक्ष के नेता फजलुर रहमान का विरोध एक साजिश है, जिसे दूसरी ताकतों का समर्थन मिल रहा है.’’ रहमान ने आरोप लगाया था कि फर्जी चुनाव के कारण ही इमरान सरकार बनी है. मीडिया रिपोर्ट्स को मुताबिक, इमरान सरकार ने विपक्ष से साफ शब्दों में कहा है कि मार्च के दौरान कानून का उल्लंघन बर्दाश्त नहीं होगा. इस आजादी मार्च का नेतृत्व जमीयत उलेमा-ए-इस्लाम के प्रमुख मौलाना फजलुर रहमान कर रहे हैं. मौलाना इमरान सरकार के खिलाफ जल्द ही 'आजादी मार्च' निकालने जा रहे हैं. कई प्रमुख विपक्षी दलों ने 'आजादी मार्च' को अपना समर्थन देने की घोषणा की है. इन प्रमुख विपक्षी दलों में पीएमएल-एन, पीपीपी, एएनपी और पीकेएमएपी शामिल हैं.