• भारत में कोरोना के कुल सक्रिय मामले अभी तक 3981 हैं, इसमें से 326 लोग इलाज के बाद ठीक हुए, 114 लोगों की मौत
  • कोरोना संकट से जूझने के लिए सांसदों की तनख्वाह में से एक साल के लिए 30 फीसदी की कटौती की जाएगी, सरकार ने अध्यादेश को मंजूरी दी
  • जरुरतमंदों तक खाद्य सामग्री पहुंचाने के लिए फूड कॉरपोरेशन ऑफ इंडिया ने लॉकडाउन के दौरान रिकॉर्ड 16.94 लाख टन अनाज की ढुलाई की
  • कोरोना मरीजों के लिए 2500 रेल कोचों में 40 हजार आइसोलेशन वार्ड बनाए गए
  • देश के इन राज्यों में कोरोना के ज्यादा मरीज- महाराष्ट्र में 748, तमिलनाडु में 571, दिल्ली में 523, केरल में 314
  • उत्तर प्रदेश में 305, राजस्थान में 274, आंध्र प्रदेश में 226, मध्य प्रदेश में 165 कोरोना के मरीज हैं
  • दुनिया में कोरोना के कुल मरीजों की संख्या 1346003 है. इसमें से 74654 लोगों की मौत हो चुकी है और 278445 लोग ठीक हो चुके हैं

बेल्जियम में रोते दिखे नापाक पीएम इमरान खान

दुनिया के हर मंच पर भारत नाम के आंसू बहा रहे हैं पाकिस्तान के प्रधानमंत्री इमरान खान. अमेरिका, तुर्की, सऊदी अरेबिया, आदि देशों में कश्मीर कश्मीर रोते रोते इमरान खान का गला अब तक नहीं बैठा क्योंकि अब वे बेल्जियम में रोते हुए पाए गए हैं..  

बेल्जियम में रोते दिखे नापाक पीएम इमरान खान

 

नई दिल्ली. इमरान खान को किसी अच्छे डॉक्टर को दिखाना चाहिए. उन्हें एक ऐसी बीमारी हो गई है जो उनको लगातार रुला रही है और कश्मीर नाम का उनका बुखार भी उतरने का नाम नहीं ले रहा है. ऐसे में लगता है कहीं ऐसा न हो कि किसी दिन भारत को ही उस डॉक्टर की भूमिका निभानी पड़ जाये और पाकिस्तान और उसकी बीमारी हमेशा के लिए ठीक कर दी जाये. अब बेल्जियम में भी इमरान खान रुदन करके अपनी और अपने देश की नाक कटवा रहे हैं.

 

बेल्जियम में बोले इमरान - वो सुबह कभी तो आएगी 

इमरान खान को क्यों ऐसा लगता है कि इस तरह अरण्यरोदन करके वे कश्मीर को लेकर किसी दिन वे किसी न किसी देश का समर्थन हासिल कर ही लेंगे. उनको पता होना चाहिए कि रेत से तेल नहीं निकलता.  कश्मीरी लोग धारा 370 के हट जाने से खुश हैं पर इमरान के कलेजे में अभी तक सांप लोट रहा है. बेल्जियम में कश्मीर को लेकर अपनी दुःख भरी तकरीर में इमरान ने कहा कि मुझे यकीन है आने वाले दिनों में ज़रूर कश्मीर का मसला सुलझेगा.  

''कश्मीर के लोग पाकिस्तान को चुनेंगे'' 

बोलते हुए बोल जाने की इमरान की आदत पुरानी है. बेल्जियम में ही एक टीवी इंटरव्यू में इमरान खान बोलते चले गए और ये भी बोल दिया कि अगर कश्मीर के लोगों को अपनी आज़ादी का हक दे कर पूछा जाए तो वे भारत को छोड़ कर पाकिस्तान को चुनेंगे. लेकिन जब पत्रकारों ने उनसे पूछा कि आज़ादी की मांग करने वाले तथाकथित कश्मीरी पाकिस्तान को क्यों चुनेंगे. तब इस पर इमरान खान ने कहा कि पाकिस्तान में मुस्लिम बहुतायत में रहते हैं. कश्मीर में शान्ति नहीं है, वहां के लोग शांति चाहते हैं. वे सभी आतंकवाद से पीड़ित हैं. 

''मोदी के रहते कश्मीर हांथ न आयेगा''

बेल्जियम का टीवी इंटरव्यू पाकिस्तान में छवि उज्जवल करने की इमरानी कोशिश का एक नया कदम है. इस इंटरव्यू को इमरान ने पाकिस्तान के सरकारी चैनल पीटीवी पर प्रसारण करके पाकिस्तान के लोगों को जताने की कोशिश की कि इमरान खान ने अभी भी कश्मीर मामले का दामन छोड़ा नहीं है. सबसे मज़ेदार बात जो इमरान ने कही वो ये थी कि भारत में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के रहते कश्मीर का  मसला हल नहीं हो पायेगा.

ये भी पढ़ें.  भारत को रोका और जापान, यूक्रेन और फ़्रांस के विमान आने दिए चीन ने