इमरान खान नियाजी के जुल्मों का शिकार हो रही है मासूम मरियम

पाकिस्तान के पूर्व प्रधानमंत्री नवाज शरीफ बेहद बीमार हैं. उनका ईलाज विदेश में चल रहा है. उनकी पत्नी का पहले ही देहांत हो गया है. ऐसे में नवाज की बेटी मरियम उनकी देखभाल के लिए जाना चाहती हैं. लेकिन इमरान खान नियाजी इसकी अनुमति नहीं दे रहे हैं. 

इमरान खान नियाजी के जुल्मों का शिकार हो रही है मासूम मरियम

नई दिल्ली: पाकिस्तान के पूर्व प्रधानमंत्री नवाज शरीफ की जान खतरे में है. उन्हें पाकिस्तान सरकार ने कई महीनों तक जेल में बंद करके रखा और जब उनकी तबीयत बहुत ज्यादा बिगड़ गई तो ईलाज के लिए विदेश भेजा गया. लेकिन वहां भी उनकी जान पर से खतरा टला नहीं है. ऐसे में उनकी बेटी मरियम नवाज अपने पिता की देखभाल के लिए विदेश जाना चाहती हैं. लेकिन पाकिस्तान की इमरान सरकार बेरहमी दिखाते हुए उनकी विदेश यात्रा पर रोक लगा रही है. 

इमरान सरकार दिखा रही है बेरहमी
इमरान खान नियाजी की सरकार पूर्व प्रधानमंत्री की बेटी को विदेश जाने की इजाजत नहीं दे रही है. सरकार का कहना है कि उनका नाम आर्थिक अपराध और संस्थागत धोखेबाजी में शामिल लोगों की लिस्ट में है. ऐसे में उनको देश छोड़ने की इजाजत नहीं दी जा सकती है. 

पाकिस्तान में कथित भ्रष्टाचार के मामले में 46 वर्षीय मरियम नवाज का नाम देश की नो-फ्लाइंग लिस्ट में अगस्त 2008 में शामिल कर लिया था. पाकिस्तानी मीडिया में छपी रिपोर्ट्स के मुताबिक एग्जिट कंट्रोल लिस्ट में जिन लोगों के नाम होते हैं, उनका नाम ‘नो फ्लाई’ सूची से हटाने की अनुमति सरकार नहीं देती है. इसी वजह से मरियम नवाज को विदेश जाने से रोका जा रहा है. 

बेहद दुखी हैं मरियम नवाज
मरियम नवाज के पिता और पूर्व प्रधानमंत्री नवाज शरीफ बेहद ज्यादा बीमार हैं. उनकी प्लेटलेट काउंट बहुत ज्यादा गिर गया था. वह भी पहले पाकिस्तान की जेल में बंद थे. जहां उनका उचित ईलाज नहीं किया गया. स्वास्थ्य ज्यादा खराब होने के बाद नवाज शरीफ को विदेश ईलाज के लिए भेजा गया. लेकिन वहां भी उनकी हालत बहुत अच्छी नहीं बताई जा रही है. 

नवाज शरीफ को लंदन में इलाज कराने के लिए जाने की अनुमति कोर्ट से दी गई थी, जिसके बाद 19 नवंबर को उन्हें एयर एंबुलेंस से वहां ले जाया गया. 

इन हालातों में मरियम नवाज मृत्यु शैया पर पड़े अपने पिता की देखभाल के लिए विदेश जाना चाहती हैं. क्योंकि नवाज शरीफ के पास उनका कोई भी सगा रिश्तेदार मौजूद नहीं है. लेकिन इमरान खान नियाजी की सरकार ने मानवीय आधार पर भी एक बेटी को उसके पिता की देखभाल करने की इजाजत नहीं दी. 

पाकिस्तान की मुख्य विपक्षी पार्टी पीएमएल-एन(पाकिस्तान मुस्लिम लीग) की सूचना सचिव मरियम औरंगजेब ने कहा कि सरकार के फैसले से कोई हैरानी नहीं हुई है.  इमरान की सरकार हमेशा पीएमएल-एन नेतृत्व को प्रताड़ित करने के अवसरों की तलाश में रहता है. 

नवाज शरीफ को पनामा पेपर्स भ्रष्टाचार के मामले में सात साल की जेल की सजा सुनाई गई है. 

ये है इमरान की बेरहमी की वजह 
दरअसल नवाज शरीफ का परिवार हमेशा से पाकिस्तान की सत्ता पर काबिज रहा है. ऐसे में यदि नवाज शरीफ की जान बच जाती है या फिर मरियम नवाज इमरान सरकार की जेल से बाहर आकर अपने समर्थकों के इकट्ठा करने में सफल हो जाती हैं तो इमरान सरकार के सामने भारी मुश्किल खड़ी हो जाएगी. क्योंकि शरीफ परिवार का पाकिस्तान के पंजाब प्रांत में अच्छा जनाधार है. वह लोकतंत्र समर्थक हैं. 

लेकिन सेना की मदद से प्रधानमंत्री बने इमरान खान नियाजी अपने रहते हुए किसी भी लोकतांत्रिक शक्ति को पनपने का मौका नहीं देना चाहते हैं. 

ये भी पढ़ें- क्या नवाज की मौत की साजिश रच रहे हैं इमरान खान

ये भी पढ़ें- सियासी इंतकाम लेने के लिए बेरहमी दिखा रहे हैं इमरान