नवाज शरीफ से सियासी इंतकाम ले रहे हैं इमरान खान?

पाकिस्तान में इमरान खान और उनकी सरकार सियासी इंतकाम ले रहे हैं, जिसमें पूर्व प्रधानमंत्री नवाज शरीफ की जान पर बन आई है. PMLN अध्यक्ष की तबीयत बिगड़ती जा रही है, लेकिन पाकिस्तानी हुकूमत घिनौना खेल खेलने में जुटा हुआ है.

नवाज शरीफ से सियासी इंतकाम ले रहे हैं इमरान खान?

नई दिल्ली: पाकिस्तान में इस वक्त सियासी अदावत अपने चरम पर है. पूर्व प्रधनमंत्री नवाज शरीफ की सेहत दिन पर दिन बिगड़ती जा रही है. लेकिन उनके इलाज के लिए बाहर जाने का रास्ता साफ नहीं हो रहा है. इमरान की हुकूमत ने नवाज के बाहर जाकर इलाज कराने के लिए एक ऐसी शर्त रख दी है, जिसे PMLN मानने को तैयार नहीं. 

इमरान खान की शर्मनाक करतूत

नवाज शरीफ ने इलाज कराने के लिए ब्रिटेन जाने को लेकर 700 करोड़ रुपये के क्षतिपूर्ति बॉन्ड जमा कराने की इमरान खान सरकार की मांग मानने से इनकार कर दिया और कहा कि यह 'गैरकानूनी' है. साथ ही शरीफ ने अपनी सेहत के मुद्दे पर राजनीति करने की कोशिशों की निंदा भी की. लेकिन जिंदगी के लिए दुआ मांगते नवाज को लेकर पाकिस्तान के मिनिस्टर ढ़ोंग तक रहे हैं.

सियासत का सबसे गंदा चेहरा

भ्रष्टाचार के आरोपों में जेल में बंद पीएमएलएन नेता नवाज को लाहौर हाईकोर्ट ने 25 अक्टूबर को मेडिकल ग्राउंड पर जमानत दी थी. लगातार गिरती सेहत के कारण नवाज और उनकी फैमिली उनका इलाज लंदन में करवाना चाहते थे. लेकिन हुकूमत के रवैए को लेकर कखई सवाल खड़े हुए. पहले तो उन्हें जहर तक दिए जाने के भी आरोप लगे थे. उनकी बेटी ने कई बार इस बात को भी सार्वजनिक तौर पर कहा कि नवाज को जान से मारने की साजिश रची जा रही है. इसके बाद भी इमरान की हुकूमत में नवाज के बाहर जाने की फाइल घूमती रह गई. पाकिस्तानी मीडिया में नवाज का मुद्दा छाया हुआ है. हर कोई हुकूमत के रवैये से हैरान है.

इसे भी पढ़ें: क्या युद्ध की तैयारी कर रहा पाकिस्तान? हां, तो 'दुनिया के नक्शे से मिट जाएगा नामोनिशान'

दरअसल नवाज का नाम सरकार की एग्जिट कंट्रोल लिस्ट में शामिल हैं. इस सूची में उन्हीं लोगों का नाम शामिल किया जाता है जिन्हें सरकार विदेश जाने से रोक देती है. और नवाज़ पर पैसों कीक धोखाधड़ी के कई मामले अदालत में चल रहे हैं. ऐसे में इन्हीं को ढ़ाल बना कर इमरान सरकार नवाज की सेहत से खेल रही है.

हर दिन बिगड़ रही है तबीयत

ताजा हाल ये है कि नवाज के शरीर पर खून के धब्बे उभर आए हैं. स्टीरॉय्ड्स इस्तेमाल करने के बाद भी उनके खून में प्लेटलेट्स की संख्या 22 हजार ही है. ब्लड शूगर भी आउट ऑफ कंट्रोल है. और हर गुजरते पल के के साथ उनकी हालत गिरती जा रही है. इलाज के लिए उनके विदेश जाने की फाइल पर 6 रोज बाद भी मुहर नहीं लग सकी. उनकी प्रेस एडवाइजर का मरियम औरंगजेब का कहना है कि स्टीरॉयड्स के हाई डोज से नवाज की हालत और खराब हो रही है. जबकि हुकूमत की तरफ से उनकी सेहत को लेकर खेल खेला जा रहा है. उनसे सियासी बदला लिया जा रहा है.

लेकिन, इस हालत में भी पाकिस्तान के पीएम इमरान खान और उनकी कैबिनेट के सहयोगियों का रुख साफ इशारा कर रहा है कि अपनी जिम्मेदारियों के हवाले से वो किस तरह सियासी बदला लेने पर तुले हैं. इमरान के मंत्री फवाद चौधरी ने PMLN चीफ को ताना मारते हुए ये तक कह दिया कि अगर मैं नवाज शरीफ की जगह होता तो मरना पसंद करता.

ऐसे बयानों को लेकर ही नवाज़ की पार्टी के लोग और उनके परिजनों का आरोप है कि नवाज शरीफ से इमरान खान सियासी इंतकाम ले रहे हैं.

इसे भी पढ़ें: पाकिस्तान में रोटी के पड़े लाले, बौराए मंत्रियों के हवाले हुकूमत!

69 साल के नवाज की जान अब पाकिस्तान हुकूमत के एक फैसले पर टिकी है. लेकिन ये पूरा मामला ये बताने को काफी है पाकिस्तान में इमरान की हुकूमत इंसानियत का हवाला बस और बस दिकावे के लिए देती है. जबकि पाकिस्तान में सियासी अदावत का खूनी खेल जारी है.