• पूरे देश में कोरोना वायरस के कुल सक्रिय मामले अभी तक 4312 हैं, अभी तक 124 लोगों की मृत्यु हुई, 353 लोग इलाज के बाद ठीक हुए
  • स्वास्थ्य मंत्रालय ने कोरोना मरीजों की देखभाल के लिए अस्पताल और अन्य सुविधाओं को तीन भागों में बांटा.
  • भारतीय रेलवे अपने डॉक्टरों और चिकित्साकर्मियों की सुरक्षा के लिए हर रोज एक हजार पीपीआई किट का निर्माण करेगी
  • कोरोना से निपटने के लिए राहत कार्यों में योगदान देने के लिए पूर्व सैनिकों ने स्वैच्छिक सेवाएं प्रदान की
  • लॉकडाउन के बीच जहाजों का आवागमन होगा, पोत परिवहन मंत्रालय ने सुनिश्चित किया
  • सरकार के दीक्षा ऐप पर कोरोना से जूझने वालों के लिए इंटीग्रेटेड ऑनलाइन गवर्नमेन्ट ट्रेनिंग यानी IGOT कोर्स लाया गया है
  • पूरी दुनिया में कोरोना वायरस की चपेट में 1,428,428, अब तक कुल 82,020 की मौत हो चुकी है. 3,00,198 मरीज ठीक भी हुए.
  • राज्यों में कुल कोरोना संक्रमण- महाराष्ट्र में 1161, तमिलनाडु में 690, दिल्ली में 606, तंलंगाना में 404, केरल में 336
  • उत्तर प्रदेश में 332 राजस्थान में 343, आंध्र में 324, मध्य प्रदेश में 280, कर्नाटक में 204, गुजरात में 168

संक्रमण से सुरक्षा की साउथ कोरियन सीख

दुनिया के बड़े बड़े देशों को दंड बैठक करा देने वाले कोरोना संक्रमण को जिस तरह दक्षिण कोरिया ने नियंत्रण किया है वो दुनिया के लिए मददगार अनुभव सिद्ध हो सकता है..

संक्रमण से सुरक्षा की साउथ कोरियन सीख

नई दिल्ली: हालांकि कोई भी देश दक्षिण कोरिया से कोरोना पर नियंत्रण के अनुभव को साझा करने का निवेदन नहीं कर रहा है जिसके सबके अपने अपने कारण हो सकते हैं लेकिन चाहत तो ये सभी की होगी कि अगर कोई एक देश दुनिया में ऐसा करके दिखा सकता है तो ज़रूर कुछ ख़ास ही किया होगा उस देश ने, वरना दुनिया में तो कोरोना के आगे नाकाम तो सभी हैं.

कोरोना संक्रमण में आई कमी

दक्ष्णि कोरिया से आने वाली जिस एक खबर ने दुनिया को ये सोचने को  मजबूर कर दिया वो बस एक पंक्ति की ही थी. बस इतना ही था कि दक्षिण कोरिया में कोरोना वायरस के संक्रमण के नए मामलों में काफी कमी आई है. ज़ाहिर है सबको समझने में देर नहीं लगी कि साउथ कोरिया को कोरोना वायरस के संक्रमण को रोकने में कामयाबी हासिल हुई है.

कोरिया में कोरोना के आंकड़े

साउथ कोरिया से चल कर कोरोना वायरस से संबंधित जो समाचार दुनिया तक पहुंचे उसमे सबसे खास ये था कि इस देश में कोरोना के 76 नए मामले सामने आए हैं और संक्रमण की चपेट में आकर 9 लोगों की मौत हुई है. लेकिन इसके बाद इससे भी बड़ा समाचार आया कि साउथ कोरिया में आश्चर्यजनक तौर पर संक्रमण के नए मामले कम हुए हैं और इस वायरस से संक्रमित हो कर मरने वालों की संख्या भी कम हुई है. इस देश में कोरोना मौतों का आंकड़ा अब तक 120 पहुँच चुका है और इसके मरीजों का आंकड़ा अब 9,037 हो चुका है.

171 संक्रमण मामले बाहरी लोगों से

साउथ कोरिया के रोग नियंत्रण एवं बचाव विभाग द्वारा जारी किये गए वक्तव्य में बताया गया है कि आज 24 मार्च तक देश में 171 मामले इस तरह के हैं जिनमें विदेश से संक्रमण लेकर लोग देश में आए हैं. लेकिन यह दक्षिण कोरिया की कामयाबी है कि उसने इन लोगों की पहचान कर ली और अब इन लोगों का उपचार चल रहा है.

रहस्य्मयी चर्च सम्प्रदाय के लोग अधिक पीड़ित

दक्षिण कोरिया में लगभग पौने आठ हज़ार कोरोना संक्रमण के मामले देश के दक्षिण-पूर्व स्थित शहर दाएगू और पड़ोस के इलाकों से प्रकाश में आए हैं. ये वही स्थान हैं जहां कोरोना वायरस के हजारों संक्रमित लोग रहस्यमयी चर्च संप्रदाय से जुड़े हुए बताए जा रहे हैं.

संक्रण को काबू करने में पाई कामयाबी

दुनिया के लिए साउथ कोरिया एक उदाहरण बनकर सामने आया है कि कैसे वायरस के संक्रमण से निपटा जाए. इस देश ने वायरस से इस तरह जंग लड़ी है कि इसके साथ ही उसने अपने अपने हेल्थ केयर सिस्टम और अर्थव्यवस्था पर कम से कम असर पड़ने दिया है. यहां फरवरी और मार्च की शुरुआत में एक दिन में संक्रमण के 900 से ज्यादा मामले सामने आ रहे थे. तभी अचानक एक हफ्ते के भीतर संक्रमण के नए मामले आधे होने लगे. इसके अगले हफ्ते संक्रमण के मामले उससे भी आधे रह गए. इस तरह से साउथ कोरिया में संक्रमण के नए मामलों में तेजी से कमी आती चली गई और यह दुनिया के लिये किसी रहस्य से कम नहीं था.

दक्षिण कोरिया की कमाल कार्रवाई

इस देश में चीन के बाद सबसे अधिक संक्रमण के मामले पाये जाने लगे थे. किन्तु इस देश ने लोगों की आवाजाही पर प्रतिबंध लगाकर संक्रमण को बढ़ने से थाम लिया. इतना ही नहीं इस देश ने लगातार अपनी कार्रवाई में बदलाव किए. यहां ज्यादा से ज्यादा लोगों के संक्रमण की जांच की व्यवस्था की गई, लोगों के एक-दूसरे से संपर्क में आने की गहराई से पड़ताल की गई और इसके साथ ही अपने सभी नागरिकों तक स्वास्थ्य सेवाओं के पहुंचने का आसान मार्ग भी तैयार किया और इन कोशिशों के माध्यम से साउथ कोरिया संक्रमण के नए मामलों को लगातार कम करने में सफल होता गया.

इसे भी पढ़ें: कोरोना के खिलाफ युद्ध में नवरात्रि पर देशवासियों से PM मोदी के 9 आग्रह

इसे भी पढ़ें: हाथ जोड़कर निवेदन, डॉक्टरों, मीडियाकर्मियों और सफाईवालों के बारे में सोचिएः पीएम मोदी