close

खास खबरें सिर्फ आपके लिए...हम खासतौर से आपके लिए कुछ चुनिंदा खबरें लाए हैं. इन्हें सीधे अपने मेलबाक्स में प्राप्त करें.

मर चुका है बगदादी, लेकिन IS आतंकियों का खतरा बरकरार

IS के सरगना बगदादी की मौत के बाद भी दुनिया पर मंडराता आतंकवाद का खतरा कम नहीं हुआ है. खास तौर पर हम अब भी आतंकी हमलों की जद में है. अमेरिका के आतंकवाद निरोधक सेन्टर के निदेशक ने जानकारी दी है कि भारत पर आतंकियों का एक आत्मघाती हमला फेल हो चुका है.

मर चुका है बगदादी, लेकिन IS आतंकियों का खतरा बरकरार

नई दिल्ली: IS-K यानी इस्लामिक स्टेट- खुरासान, जिसका खतरा भारतीय उप महाद्वीप पर मंडरा रहा है. अमेरिका के आतंकवाद निरोधक सेन्टर के कार्यकारी निदेशक रशेल ट्रैवर्स ने कई सनसनीखेज खुलासे किए हैं. जिनसे भारत पर मंडरा रहे खतरे का आभास होता है.

भारत पर होने वाला था आत्मघाती हमला

शेल ट्रैवर्स के खुलासों के मुताबिक IS-K यानी इस्लामिक स्टेट- खुरासान दक्षिण एशिया के देशों के लिए बड़ा खतरा बन चुका है. खास तौर पर भारत पर उसकी निगाहें हैं. जो कि दुनिया के इस खूंखार आतंकवादी संगठन के निशाने पर सबसे उपर है. रशेल ने बताया कि पिछले साल यानी साल 2018 में IS-K यानी इस्लामिक स्टेट- खुरासान भारत में आत्मघाती हमले की कोशिश कर चुका है. हालांकि रशेल ने इस हमले के बारे में किसी तरह की और जानकारी नहीं दी है. लेकिन यह जानकारी अपने आप में सनसनीखेज है, कि भारत इतने बड़े खतरे के बिल्कुल पास से गुजरा था. 

जानिए किस तरह कुत्ते की मौत मारा गया बगदादी, पढ़िए पूरी खबर

बगदादी की मौत का पूरा वीडियो यहां देखिए

20 से भी ज्यादा शाखाएं हैं दुनियाभर में

ट्रैवर्स ने बताया कि इस आतंकी संगठन ने दुनिया भर में 20 से भी ज्यादा शाखाएं बना ली हैं जिसमें से कुछ तो अत्याधुनिक तकनीकों से लैस है. अमेरिका की तरह ही ड्रोन विकसित कर चुका है. खुफिया विभाग के आला अधिकारियों ने इनपुट दिया कि इन हमलों का मुख्य टारगेट आफगानिस्तान के बाहर कहीं माना जा रहा था, खासकर भारत में. दरअसल, भारत में जम्मू कश्मीर से अनुच्छेद 370 को हटाए जाने के बाद से ही आतंकी हमले की कोशिशें लगातार जारी हैं. हालांकि, खुफिया विभाग के ससमय मिल जा रहे इनपुट्स और सेना के मुंहतोड़ जवाब से इन आत्मघाती हमले के मंसूबों को ध्वस्त कर दिया जा रहा है. 

अमेरिका के शिकंजे में आया बगदादी का खानदान, जानिए कैसे

खुरासान आखिर है क्या बला

खुरासान का मतलब है सूरज का उगना. यह प्राचीन में मध्य एशिया के खोरासान क्षेत्र से संबंधित है. हालांकि, आज ये हिस्सा आफगानिस्तान के अलावा उसके पड़ोसी राज्यों तक फैला हुआ है. खुरासान ISIS का एक बेहद ही हमलावर विंग है जो मुख्य रूप से भारत सहित ईरान, आफगानिस्तान, तुर्कमेंनिस्तान जैसे इलाकों में हमले के लिहाज से बनाया गया है. 

बगदादी की मौत का सबसे बड़ा सबूत सिर्फ ज़ी हिंदुस्तान पर, यहां देखिए

और कई आतंकी संगठन हैं फिराक में

भारत में पहले ही इस्लामिक स्टेट जैसे उग्रवादी संगठनों की भीड़ जमी हुई है जो किसी तरह से देश में तबाही मचाने को तैयार है. खुरासान जैसे आतंकी संगठनों के अलावा यमन के हूती विद्रोहियों के मालिकाना वाली अंसारूल्लाह, लश्कर-ए-तैयब्बा, जैश-ए-मोहम्मद और अन्य संगठन भी सक्रिय हैं. इन संगठनों ने फिलहाल मूल रूप से देश के अंदर Sleeper cells को train करना शुरू कर दिया है. यह भारत के सुरक्षा व्यव्स्था के लिहाज से एक घातक कदम साबित हो सकता है. 

जानिए कौन बैठेगा बगदादी की कुर्सी पर, यहां पढ़िए