जब मीडिया की रिपोर्टिंग बन गई इजराइल का हथियार और जाल में फंसे हमास के लड़ाके

इजराइली सेना ने मीडिया के लिए बयान जारी किया कि 'इजराइली वायु एवं थल सेना गाजा पट्टी पर हमला कर रहे हैं.' लेकिन कुछ देर बाद सेना ने यह बयान जारी किया कि गाजा के भीतर कोई इजराइली सेना नहीं है

Written by - Zee Hindustan Web Team | Last Updated : May 15, 2021, 03:56 PM IST
  • इजराइली सेना पर मीडिया को गलत जानकारी देने का आरोप
  • इजराइल ने सुरंगों में छुपे हमास के लड़ाकों पर की बमबारी
जब मीडिया की रिपोर्टिंग बन गई इजराइल का हथियार और जाल में फंसे हमास के लड़ाके

नई दिल्ली: इजराइली मीडिया समूह के कई पत्रकारों ने यह आरोप लगाया है कि इजराइली सेना ने मीडिया को गलत जानकारी मुहैया कराई ताकि हमास के लड़ाके उस खबर को सही मानकर उसपर प्रतिक्रिया दें.

इजराइली सेना हमास के लड़ाकों के लिए जाल बिछाने में कामयाब रही और उसने मीडिया द्वारा जारी की गई खबरों को चारे की तरह इस्तेमाल किया. 

सेना पर मीडिया को गलत जानकारी देने का आरोप

इजराइली पत्रकारों ने कहा कि इजराइल की सेना ने मीडिया का इस्तेमाल कर हमास को अपने जाल में बिछाया, जिसके कारण संभवत: दर्जनों लड़ाके मारे गए.

दरअसल इजराइली सेना ने मीडिया के लिए बयान जारी किया कि 'इजराइली वायु एवं थल सेना गाजा पट्टी पर हमला कर रहे हैं.'

इस संक्षिप्त बयान ने इन अटकलों को हवा दी कि इजराइल ने गाजा पर जमीनी हमला कर दिया है. कुछ संवाददाताओं ने यह तक कह दिया कि हमला शुरू हो गया है.

इसके कुछ ही घंटों बाद सेना ने एक 'स्पष्टीकरण' जारी किया कि गाजा के भीतर कोई इजराइली सेना नहीं है, लेकिन तब तक कई बड़े मीडिया संस्थान यह जानकारी दे चुके थे कि जमीनी हमला शुरू हो गया है.

यह भी पढ़िए: अमेरिका के बाद चीन ने भी मंगल ग्रह पर उतार लिया पहला रोवर, बन गया दूसरा देश

इजराइल ने सुरंगों पर की बमबारी

मीडिया में चल रही खबरों के बाद, हमास के लड़ाके मेट्रो के रूप में जानी जाने वाली सुरंगों के भूमिगत नेटवर्क में रक्षात्मक स्थलों पर चले गए.

सेना ने बताया कि इजराइल ने 160 युद्धक विमान बुलाए और 40 मिनट तक सुरंगों पर बमबारी की.

इजराइल के 'चैनल 13 टीवी' के पत्रकार ओर हेलर ने कहा कि उनका मानना है कि इस दौरान सैकड़ों चरमपंथी मारे गए.

हालांकि सेना ने इसे गलतफहमी के चलते की गई रिपोर्टिंग करार दिया, लेकिन इजराइली पत्रकारों ने कहा कि हमास के आतंकवादियों को घातक जाल में फंसाने के लिए मीडिया का इस्तेमाल किया गया, जिसके कारण संभवत: दर्जनों लड़ाके मारे गए.

हेलर ने कहा, 'उन्होंने झूठ नहीं बोला. उन्होंने छल किया. उन्होंने चतुराई की और यह सफल रहा.'

यह भी पढ़िए: दुनिया भर में कोरोना का कहर जारी, विश्व में कोरोना के आंकड़े 16 करोड़ के पार

Zee Hindustan News App: देश-दुनिया, बॉलीवुड, बिज़नेस, ज्योतिष, धर्म-कर्म, खेल और गैजेट्स की दुनिया की सभी खबरें अपने मोबाइल पर पढ़ने के लिए डाउनलोड करें ज़ी हिंदुस्तान न्यूज़ ऐप.

 

 

ज़्यादा कहानियां

ट्रेंडिंग न्यूज़