मुश्किल चुनौतियों का सामना करने के लिए प्रतिबद्ध हैं भारत-अमेरिका: बाइडन

व्हाइट हाउस के ओवल ऑफिस में शुक्रवार को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और अमेरिकी राष्ट्रपति जो बाइडन की मुलाकात निर्धारित 60 मिनट के बजाय 90 मिनट से ज्यादा चली.  

Written by - Zee Hindustan Web Team | Last Updated : Sep 25, 2021, 01:11 PM IST
  • महत्वपूर्ण वैश्विक मुद्दों पर हुई चर्चा
  • भारत-अमेरिका संबंधों पर दिया जोर
मुश्किल चुनौतियों का सामना करने के लिए प्रतिबद्ध हैं भारत-अमेरिका: बाइडन

वाशिंगटनः अमेरिका के राष्ट्रपति जो बाइडन ने व्हाइट हाउस में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के साथ पहली बार आमने-सामने की बैठक की. इसके बाद उन्होंने कहा कि भारत और अमेरिका दुनिया के सबसे बड़े लोकतंत्र हैं और दोनों देश मिलकर मुश्किल से मुश्किल चुनौतियों का सामना करने के लिए प्रतिबद्ध हैं.

तय समय से ज्यादा चली मुलाकात
व्हाइट हाउस के ओवल ऑफिस में शुक्रवार को दोनों नेताओं की मुलाकात निर्धारित 60 मिनट के बजाय 90 मिनट से ज्यादा चली. बाइडन ने ट्विटर पर प्रधानमंत्री मोदी के साथ तस्वीर साझा की, जिसमें वह उनसे हाथ मिलाते दिखे. 

उन्होंने लिखा, ‘आज सुबह मैंने व्हाइट हाउस में प्रधानमंत्री मोदी की मेजबानी की और हम भारत-अमेरिका संबंधों के इतिहास में एक नया अध्याय शुरू कर रहे हैं. दोनों देश दुनिया के सबसे बड़े लोकतंत्र हैं और हम मिलकर सबसे कठिन चुनौतियों का सामना करने के लिए प्रतिबद्ध हैं.’

मोदी ने बैठक को बताया सार्थक
प्रधानमंत्री मोदी ने कहा कि उन्होंने राष्ट्रपति बाइडन के साथ एक ‘सार्थक’ बैठक की. उन्होंने कहा, ‘महत्वपूर्ण वैश्विक मुद्दों पर उनका नेतृत्व प्रशंसनीय है. हमने चर्चा की कि कैसे भारत और अमेरिका विभिन्न क्षेत्रों में सहयोग को आगे बढ़ाएंगे और कोविड-19 एवं जलवायु परिवर्तन जैसी प्रमुख चुनौतियों से निपटने के लिए मिलकर काम करेंगे.’

‘सौहार्द्रपूर्ण माहौल में हुई बैठक’
बाद में मीडिया को संबोधित करते हुए विदेश सचिव हर्षवर्धन शृंगला ने कहा कि दोनों नेताओं ने स्वीकार किया कि दोनों देशों के बीच व्यापक वैश्विक रणनीतिक साझेदारी, लोकतांत्रिक मूल्यों और सामरिक हितों के प्रति साझा प्रतिबद्धता पर टिकी है. उन्होंने कहा, ‘यह बैठक गर्मजोशी से भरी और सौहार्द्रपूर्ण माहौल में हुई. यह सार्थक और सामयिक दोनों थी.’

उन्होंने उल्लेख किया कि चर्चा व्यापक स्तर पर हुई और कहा कि दोनों नेताओं ने कोविड​​-19 संकट से निपटने पर जोर दिया और एक दूसरे को महामारी से निपटने के अपने अनुभवों से अवगत कराया. शृंगला ने कहा कि प्रधानमंत्री ने भारत में महामारी की दूसरी लहर के दौरान अमेरिका की सरकार और वहां के नागरिकों की ओर से दिखाई गई एकजुटता और समर्थन के लिए धन्यवाद व्यक्त किया.

यह भी पढ़िए: वर्ल्ड लीडर्स का मजाकिया अंदाज, जानिए पीएम मोदी की किस बात पर बाइडन ने लगाए ठहाके 

उन्होंने कहा, ‘राष्ट्रपति बाइडन ने एक ऐसे देश के रूप में भारत की भूमिका की सराहना की, जिसने फार्मास्यूटिकल्स और टीके के माध्यम से दुनिया भर के देशों को सहायता प्रदान की.’ राष्ट्रपति बाइडन ने टीकों पर चर्चा के दौरान अक्टूबर में टीकों का निर्यात फिर से शुरू करने के भारत सरकार के निर्णय की सराहना की.

Zee Hindustan News App: देश-दुनिया, बॉलीवुड, बिज़नेस, ज्योतिष, धर्म-कर्म, खेल और गैजेट्स की दुनिया की सभी खबरें अपने मोबाइल पर पढ़ने के लिए डाउनलोड करें ज़ी हिंदुस्तान न्यूज़ ऐप.

ज़्यादा कहानियां

ट्रेंडिंग न्यूज़