Pakistan में हिंदुओं ने कैसे मनाई दीवाली? जानिये

पूरी दुनिया हर्षोल्लास के साथ अंधकार को पराजित करने वाले प्रकाश पर्व दीपावली को मनाती है लेकिन पाकिस्तान के इस्लामिक कट्टरपंथी और जेहादी हिंदुओं को दीवाली मनाने से रोकते हैं.  

Written by - Zee Hindustan Web Team | Last Updated : Nov 15, 2020, 12:43 PM IST
  • दबाव के चलते जैसे तैसे मनाई दीवाली
  • पाकिस्तान में हिंदू धर्म है सबसे बड़ा अल्पसंख्यक समुदायॉ
  • पाकिस्तान के पूर्व हिन्दू क्रिकेटर ने लताड़ा
Pakistan में हिंदुओं ने कैसे मनाई दीवाली? जानिये

नई दिल्ली: पाकिस्तान में इस्लामिक कट्टरपंथियों और जेहादियों के बीच में हिन्दू किस तरह अपना जीवनयापन करते हैं, ये किसी से छिपा नहीं है. हमेशा इस्लामिक आतंकियों के साये में उन्हें पल पल गुजारना मुश्किल लगता है. ह्रदय विदीर्ण कर देने वाले उत्पीड़न को सहते हुए पाकिस्तान में हिंदुओं ने शनिवार को दीपावली मनाई. 

भारत में तो ईद, बकरीद और मुहर्रम जैसे त्यौहार मुसलमान खुलकर पूरे हर्षोल्लास के साथ मनाते हैं और भारत के तथाकथित सुपरस्टार उन्हें जमकर शुभकामनाएं भी देते हैं लेकिन पाकिस्तान के सितारे इस्लामिक कट्टरपंथियों के डर के मारे हिंदुओं को दीवाली की शुभकामनाएं देने का साहस नहीं कर पाते.

दबाव के चलते जैसे तैसे मनाई दीवाली

पाकिस्तान के कराची शहर में हिंदू समुदाय ने कोरोनो वायरस के प्रसार को रोकने के लिए जारी प्रोटोकॉल का पालन करते हुए दिवाली मनाई. उन पर ईद और बकरीद जैसे इस्लामिक त्यौहार मनाने का दबाव डाला जाता है और इस्लाम अपनाने के लिए विवश किया जाता है लेकिन जेहादियों के डर के साये में हिंदुओं ने कल दीवाली मनाई और भगवान श्रीराम की आराधना की.

क्लिक करें- Bihar: NDA विधायक दल की अहम बैठक, अगले मुख्यमंत्री का होगा चुनाव

क्या है पाकिस्तानी हिंदुओं की प्रतिक्रिया

गौरतलब है कि पाकिस्तान में रहने वाले हिंदुओं में से एक ने कहा कि दिवाली का त्योहार दीपों, रोशनी और आतिशबाजी के साथ मनाया जाता है बच्चे, युवा, वृद्ध सभी लोग आज दीवाली मना रहे हैं. उन्होंने आगे कहा कि हम इस त्योहार को मनाने के लिए भी आए हैं और पेंटिंग्स और कला के माध्यम से आनंद लेने के लिए भी. इसलिए मुझे लगता है कि खून से खेलने के बजाय, रंगों के साथ अपने त्योहारों को मनाना बेहतर है. इस अवसर पर कराची के स्वामी नारायण मंदिर को सजाया भी गया था.

पाकिस्तान में हिंदू धर्म है सबसे बड़ा अल्पसंख्यक समुदाय

उल्लेखनीय है कि पाकिस्तान में हिंदू सबसे बड़ा अल्पसंख्यक समुदाय है और आधिकारिक आंकड़ों के मुताबिक पाकिस्तान में करीब 75 लाख हिंदू रहते हैं. पाकिस्तान के कई क्षेत्रों में हिंदू, बौद्ध और सिख धर्म के लोगों के खिलाफ हिंसा के भी मामले सामने आए हैं. इस्लामिक कट्टरपंथी हिंदुओं की बेटियों का अपहरण करके जबरन निकाह करते हैं और उन्हें मुसलमान बना देते हैं. दीवाली के मौके पर डरते डरते पाक के प्रधानमंत्री इमरान खान ने केवल ट्विटर पर इतना लिखा है कि हमारे सभी हिन्दू नागरिकों को दीवाली की शुभकामनाऐं.

पाकिस्तान के पूर्व हिन्दू क्रिकेटर ने लताड़ा

पूर्व पाकिस्तानी क्रिकेटर दानिश कनेरिया ने जेहादियों को लताड़ लगाते हुए कहा कि हम पटाखे फोड़ेंगे लेकिन धुंआ कहीं और से निकलेंगा. उन्होंने लिखा है कि पटाखे जलाओ पटाखे, सच मे कुछ और भी जलेगा. कनेरिया का सीधा निशाना उन जेहादियों पर था जो हिंदुओं को बेवजह परेशान करते हैं. आपको बता दें कि शाहिद अफरीदी, मियांदाद और वकार यूनुस जैसे खिलाड़ियों ने भी बधाई नहीं दी जिन्हें भारत मे कई लोग बहुत पसंद करते हैं. पाकिस्तानी लोगो की इस नीच भावना से पता चलता है कि इनमें किस हद तक कट्टरपंथी जहर भरा हुआ है.

देश और दुनिया की हर एक खबर अलग नजरिए के साथ और लाइव टीवी होगा आपकी मुट्ठी में. डाउनलोड करिए ज़ी हिंदुस्तान ऐप, जो आपको हर हलचल से खबरदार रखेगा... नीचे के लिंक्स पर क्लिक करके डाउनलोड करें- Android Link - https://play.google.com/store/apps/details?id=com.zeenews.hindustan&hl=e... iOS (Apple) Link - https://apps.apple.com/mm/app/zee-hindustan/id1527717234

ज़्यादा कहानियां

ट्रेंडिंग न्यूज़