स्विट्ज़रलैंड की यूएन सिटी में आतंकी पाकिस्तान की बेइज्जती

आतंक की फैक्टरी पाकिस्तान का चेहरा सारी दुनिया में बेनकाब हो गया है. स्विट्ज़रलैंड की राजधानी में पाकिस्तान का जम कर अपमान हुआ और पाकिस्तानी सेना को बताया गया 'अंतर्राष्‍ट्रीय आतंकवाद' का केंद्र    

स्विट्ज़रलैंड की यूएन सिटी में आतंकी पाकिस्तान की बेइज्जती

 

नई दिल्ली.  जेनेवा एक तरफ तो दुनिया के सबसे बड़े पर्यटन केंद्रों में से एक स्विट्ज़रलैंड की राजधानी है वहीं दूसरी तरफ यह संयुक्त राष्ट्र का दूसरा सबसे बड़ा कार्यालय भी है. यहां पाकिस्तान की बेइज्जती दुनिया में पाकिस्तान के बाहर कहीं भी होने वाली बेइज्जती से बड़ी है क्योंकि यही वो जगह है जहां आकर पाकिस्तान भारत विरोधी रोना रोता है.

 

बैनर के जरिए किया बेइज्जत

ये थी एक यादगार फजीहत पाकिस्तान की जो वो कभी याद नहीं रखना चाहेगा. स्विट्ज़रलैंड की राजधानी जेनेवा में बैनर को माध्यम बना कर उसका अपमान किया गया और पाकिस्तान की सेना को बताया गया 'अंतरराष्‍ट्रीय आतंकवाद' का केंद्र. यह शानदार बैनर शहर के 'ब्रोकन चेयर' स्मारक के पास लगाया गया है.

चल रहा है संयुक्त राष्ट्र मानवाधिकार परिषद का 43वां सत्र

पाकिस्तान का यह अपमान इसलिए भी अब भारत के लिहाज से यादगार हो गया है क्योंकि इस समय वहां संयुक्त राष्ट्र मानवाधिकार परिषद 43वां सत्र चल रहा है. दुनिया भर के राष्ट्राध्यक्ष यहां आये हुए हैं और उनके बीच पाकिस्तान और उसकी सेना का नकाब उतारना पाकिस्तान के लिए बहुत दर्दनाक है.

 

'पाकिस्तानी सेना अंतरराष्ट्रीय आतंकवाद का केंद्र है'

पाकिस्तान की फजीहत करने वाला और उसकी आर्मी को दुनिया के सामने नंगा करने वाला ये बैनर शहर के सबसे ख़ास दर्शनीय स्थलों में से एक 'ब्रोकन चेयर' स्मारक के पास लगाया गया. और इस पर लिखी बात एक बहुत बड़ा सच है जिसे दुनिया के बहुत से देश नहीं जानते हैं - 'पाकिस्तानी सेना अंतरराष्ट्रीय आतंकवाद का केंद्र है.' बिलबिलाये पाकिस्तान ने तुरंत बयान जारी करके इसकी निंदा करने में देर नहीं लगाईं. 

ये भी पढ़ें. कोरोना बन सकता है दुनिया की सबसे बड़ी महामारी