हॉन्ग कॉन्ग में पुलिस ने प्रदर्शनकारी के सीने पर मारी गोली, दिल दहला देने वाला VIDEO

हॉन्ग कॉन्ग से एक ऐसा वीडियो सामने आया है, जिसे देखकर हर किसी की रूह कांप उठेगी. यहां पुलिस ने लोकतंत्र को ताख पर रखते हुए प्रदर्शनकारी के सीने में गोली मार दी. वीडियो देखें-

हॉन्ग कॉन्ग में पुलिस ने प्रदर्शनकारी के सीने पर मारी गोली, दिल दहला देने वाला VIDEO

नई दिल्ली: हॉन्ग-कॉन्ग में लोकतंत्र समर्थकों का प्रदर्शन हिंसक झड़पों को पार कर चुका है और अब प्रदर्शनकारियों से निपटने मे हान्ग-कॉन्ग पुलिस दरिंदगी की सारी हदें पार कर चुकी है. सोमवार को पुलिस ने हॉन्ग-कॉन्ग में क्रूरता की की सीमा लांघते हुए. लोकतंत्र समर्थक प्रदर्शनकरियों को बिल्कुल सामने से गोली मारी.

गोलियों से खामोश होगी लोकतंत्र की आवाज?

पुलिस ने एक आंदोलनकारी को पकड़े रखा और उसकी तरफ बढ़ते दूसरे मास्क लगाए हुए आंदोलनकारी के सीने पर पुलिस ने बिल्कुल करीब से गोली चलाई. सीने पर गोली खाते ही चंद सेकेंड में मास्क पहना आंदोलनकारी जमीन पर गिर पड़ा. पुलिस एक चौराहे से आंदोलनकारियों को खदेड़ रही थी. लेकिन, जो डटे हुए थे उनका काम तमाम करने पर आमादा हॉन्क-कॉन्ग पुलिस उन पर दुश्मनों की तरह टूट पड़ी. जानकारी के अनुसार पुलिस ने कुछ प्रदर्शनकारियों को पकड़ भी रखा है. इस घटना के बाद से हन्ग-कॉन्ग में काफी तनाव है.

दरअसल, हॉन्ग-कॉन्ग में पिछले दिनों पुलिस के साथ हुए झड़प में एक छात्र की मौत के बाद स्ट्राइक की घोषणा हुई थी, और तब से वहां हालात तनावपूर्ण बने हुए हैं. इस घटना के बाद हॉन्ग-कॉन्ग पुलिस ने खुद को पाक-साफ बताने की कोशिश की. लेकिन नीचे दिए इस वीडियो को देखिए और समझिए

हॉन्ग-कॉन्ग की पुलिस भले अपना चेहरा छुपाने के लिए बहाने बना रही हो, लेकिन दुनिया भर में उसकी ऐसी क्रूरता की आलोचना हो रही है. क्योंकि ये तस्वीर उसकी सारी पोल पट्टी खोलकर रख देती है. हॉन्ग-कॉन्ग की पुलिस का एक और वीडियो वायरल हो रहा है. पहले आप नीचे दिए इन तस्वीरों को गौर से देखिए.

इस वीडियो में पुलिस को किसी आंदोलनकारी से कोई चुनौती नहीं है. लेकिन फिर भी बाइक सवार पुलिसकर्मी किस तरह आंदोलनकारियों को रौंदता है, ये देख कर कोई भी कांप जाएगा. पहले राउंड में इस पुलिसवाले ने दो-तीन लोगों को निशाना बनाया. फिर दूसरे राउंड में इसने चुन चुन कर कई आंदोलनकारियों को रौंदने की कोशिश की. आंदोलनकारयों का भड़का गुस्सा अब पब्लिक प्रोपर्टी पर उतर रहा है. मास्क पहने प्रोटेस्टर्स ने कई जगहों पर तोड़फोड़ की. आग लगाई, बड़ी बड़ी ईंटें फेंककर मेट्रो की संपत्तियों को नुकसान पहुंचाया, मॉल में पुलिस और प्रदर्शनकारी आमने-सामने थे.

क्या है वजह?

हॉन्ग-कॉन्ग में चले कई हफ्तों के लोकतंत्र समर्थकों के प्रदर्शन के दौरान पिछले दिनों हिंसक झड़प में घायल एक प्रदर्शनकारी की मौत के बाद से एक बार फिर से हॉन्ग-कॉन्ग में इन ताजा विरोध-प्रदर्शन के हालात बने. 22 साल का चाउत्स लॉक सरकार विरोधी प्रदर्शनों के दौरान घायल हो गया था. चाउत्स की मौत से लोकतंत्र समर्थक खेमे में उदासी के साथ ही आक्रोश भी है. जून के बाद से इस प्रदर्शन के दौरान घायल होने वाले प्रदर्शनकारियों में ये पहली मौत है. इस मौत से उन सारे प्रदर्शनकारियों के जख्म फिर से हरे हो गए हैं, जो पिछले प्रदर्शनों के दौरान पुलिस की ज्यादती के शिकार हुए थे.

चीफ एग्जीक्यूटिव ने की शांति की अपील

अब इस ताजा झड़प में भी कई गिरफ्तारियां हुई हैं. एक प्रदर्शनकारी की पहले हुई मौत और अब ऐसी हिंसक झड़पों के बाद हुई कई गिरफ्तारियों से हॉन्ग-कॉन्ग के हालात नाजुक बने हुए हैं. चीफ एग्जीक्यूटिव कैरी लैम ने लोगों से शांति की अपील करते हुए कहा कि ऐसी हिंसा किसी समस्या का समाधान नहीं है.

हालात बेकाबू हो रहे हैं, अब ऐसे में जरुरत है एक बेहतर कदम उठाने की और इस परेशानी से निजात दिलाने की क्योंकि ऐसे में हर रोज नई तस्वीरें लोगों में दहशत पैदा कर रही है.